इज ऑफ डूइंग बिजनेस को बेहतर प्रयास

By: Aug 3rd, 2021 12:01 am

आईआईटी के एक्सप्लोरेशन कार्यक्रम में प्रजापति ने रखे विचार

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — मंडी

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान आईआईटी मंडी कैटेलिस्ट ने 2021 के अपने दूसरे स्टार्टअप एक्सप्लोरेशन कार्यक्रम की शुरुआत राकेश कुमार प्रजापति निदेशक उद्योग विभाग हिमाचल प्रदेश द्वारा हरी झंडी दिखाकर की गई। मुख्य अतिथि के साथ वर्चुअल कार्यक्रम में प्रो. अजीत के चतुर्वेदी निदेशक आईआईटी मंडी समीर शाह, मैनेजिंग पार्टनर, पीक वेंचर्स और आईआईटी मंडी के फैकल्टी सदस्य उपस्थित रहे। उद्घाटन सत्र में अपशिष्ट प्रबंधन एग्रोटेक हैल्थटेक एंटरप्राइज मैनेजमेंट और क्लीनटेक सहित क्षेत्रों में काम कर रहे हिमाचल प्रदेश के 11 सहित 23 स्टार्टअप टीमों ने भाग लिया। आईआईटी मंडी के निदेशक प्रो. अजीत के चतुर्वेदी ने कहा यह सभी स्टार्टअप के लिए अगले कुछ महीनों में अपने स्टार्टअप का निर्माण करने में आईआईटी मंडी कैटेलिस्ट द्वारा प्रदान किए गए संसाधनों और सहायता का सर्वोत्तम उपयोग करने का अवसर है।

विशिष्ट अतिथि प्रजापति ने देश के विभिन्न हिस्सों से आए स्टार्टअप टीमों को प्रोत्साहित किया और उद्यम शुरू करने के उनके साहसिक निर्णय पर उन्हें बधाई दी। उन्होंने उद्यमियों से कहा कि वित्त मंत्रालय द्वारा 2019 में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के लिए हिमाचल प्रदेश को देश में सातवां स्थान मिला है। श्री प्रजापति ने नवोदित उद्यमियों का समर्थन करने के लिए आईआईटी मंडी उत्प्रेरक द्वारा की गई पहल की सराहना की। समीर शाह मैनेजिंग पार्टनर पीक वेंचर्स ने स्टार्टअप्स के साथ विचारों को सफ ल बनाने के बारे में अपने विचार साझा किए। उल्लेखनीय है कि आईआईटी मंडी कैटालिस्ट ने अब तक आठ स्टार्टअप बैचों में लगभग 140 स्टार्टअप्स का समर्थन किया है और यह पिछले पांच वर्षों में स्टार्टअप्स का नौवां बैच होगा।