उरला के नौशा जंगल में भयंकर आग दो रिहायशी गांव खतरे की जद में

By: Apr 29th, 2022 12:55 am

किसानों की गंदम की फसल हुई राख, आग बुझाने के प्रयास तेज, दो गांवों को लपटों से खतरा , आगजनी से झेलना पड़ा नुकसान

स्टाफ रिपोर्टर- पद्धर
क्षेत्र के जंगलों में आगजनी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। द्रंग के सेगलढूहग जंगल में लगी आग की घटना के बाद गुरूवार सुबह वन रेंज उरला का नौशा जंगल धू-धू जल गया। जंगल में लगी आग थमने का नाम नहीं लेे रही है। दो रिहायशी गांवों की ओर आग की लपटों ने अपना रूख तेज कर दिया है। भारी संख्या में ग्रामीण वन विभाग की टीम के साथ आग बुझाने में डटे हुए हैं। गांव के सोहन सिंह, सरवन कुमार, मीरा देवी, देव राज, राजकुमार, रामधन, रजेश कुमार, सुनील कुमार, हंस राज, कमलेश, नितज राम, सावित्री, काली देवी, तारा वहां, बालक राम, गोबिंद राम आदि सभी ने आग को काबू करने को पूरा दिन जूट रहे। गुरूवार सुबह करीब नौ बजे नौशा जंगल में अचानक आग सुलगी। तेज हवा में आग ने एकाएक पूरे जंगल को घेर लिया। गदयाह और घरेहड़ दो राजस्व गांव जंगल में लगी आग से घिर गए हैं। दमकल विभाग पधर की टीम भी मौका पर पहुंच चुकी है। जानकारी मिली है कि यहां दोनों गांव के लोगों की फसल भी आगजनी की चपेट में आ गई है।

रिहायशी मकानों को आग से सेफ करने के प्रयास निरंतर जारी हैं। सनोलीए नौशाए तालगढ़ए घरेहड़ए गदयाह गांव के भारी संख्या में ग्रामीण आग बूझाने के प्रयास निरंतर जारी रखे हुए है। इसी बीच ताजा जानकारी मिली है कि इसी रेंज के अंर्तगत तालगढ़ जंगल के बीचों बीच अचानक आग सुलग गई। विभाग ने कुछेक कर्मचारी आग बूझाने तालगढ़ जंगल को रवाना कर दिए हैं। रेंज ऑफिसर उरला शुकरू राम ने बताया कि नौशा जंगल में आग पर काबू पाने के प्रयास निरंतर जारी हैं। रिहायशी मकानों को सेफ करने के लिए दमकल चौकी पद्धर की टीम मौका पर पहुंच गई है। उन्होंने बताया कि आग पर काबू पाने के बाद की वन संपदा के हुए नुकसान का आंकलन किया जाएगा। मामले को लेकर विभाग पधर थाना में एफआइआर दर्ज करवाएगा। दमकल चौकी प्रभारी पद्धर महिपाल शर्मा, होम गार्ड फायरमैन जितेंद्र कुमार, राकेश कुमार, चालक लेख राज भी मौका पर पहुंच चुके हैं। दमकल कर्मी दोनों गांवों को सेफ करने की रणनीति से मोर्चा संभाले हुए हैं।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App