कांग्रेस का संग्राम… सडक़ से राजभवन तक घमासान, प्रतिभा बोलीं, विपक्ष की आवाज दबाने का हो रहा प्रयास

By: Aug 6th, 2022 12:07 am

प्रतिभा सिंह बोलीं, विपक्ष की आवाज दबाने का हो रहा प्रयास

विशेष संवाददाता – शिमला

बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, जीएसटी में बढ़ोतरी और सेना में ठेका प्रथा यानी अग्निपथ योजना के विरोध में कांग्रेस नेताओं ने प्रदेश भर में प्रदर्शन किया। शिमला में राजभवन के बाहर भी कांग्रेस ने जमकर हल्ला बोला। इस दौरान केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी गई। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सांसद प्रतिभा सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस नेता राजभवन पहुंचे थे। प्रतिभा सिंह ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष की आवाज को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर कांग्रेस नेताओं को बदनाम करने की साजिश रच रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस भाजपा की इन हरकतों से घबराने वाली नहीं और एकजुटता के साथ इसका मुकाबला करेगी। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सचिव प्रदेश मामलों के सह प्रभारी संजय दत्त ने मोदी सरकार पर आरोप लगाया कि वह बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी जैसी समस्याओं से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए कांग्रेस नेताओं पर झूठे और आधारहीन आरोप लगा कर व जांच एजेंसियों पर दबाव बना कर उनके नेताओं को बदनाम करने की साजिश रच रही है, जिसमें वह कभी सफल नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि भाजपा की इस तानाशाही के खिलाफ कांग्रेस हर स्तर पर लड़ेगी। इस दौरान प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हर्ष महाजन, विधायक रोहित ठाकुर, मोहनलाल ब्राक्टा, जिला शिमला कांग्रेस कमेटी शहरी के अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी, ग्रामीण के अध्यक्ष अतुल शर्मा, पूर्व विधायक आदर्श सूद, रामकुमार, केहर सिंह खाची, यशवंत सिंह छाजटा, नरेश चौहान, अमित नंदा, हरीश जनारथा, युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष यदुपति ठाकुर, एनएसयूआई के अध्यक्ष छतर सिंह, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष रामकृष्ण शांडिल, गोपाल शर्मा, नरेंद्र कंवर, रिंकू वर्मा, यशपाल तनाईक, सोलन जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष शिव कुमार, शशि बहल, किरण धानटा, सत्यजीत नेगी, शशि ठाकुर, प्रभा वर्मा, बबली के अतिरिक्त सेवादल के पूर्व जिला अध्यक्ष हेमराज शर्मा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अनेक पदाधिकारी युवा, सेवादल, महिला, एनएसयूआई कार्यकर्ता मौजूद थे।

हमीरपुर में प्रदर्शन के दौरान 50 नेता गिरफ्तार, फिर रिहा

दिव्य हिमाचल ब्यूरो – हमीरपुर

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर शुक्रवार को राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के अंतर्गत जिला कांग्रेस कमेटी हमीरपुर ने केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर विरोध प्रदर्शन किया। यही नहीं, केंद्र की नीतियों से गुस्साए कांग्रेस नेताओं ने मुख्य सडक़ पर चक्का जाम भी किया। इस प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा लगभग 50 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार भी किया गया। दरअसल मोदी सरकार द्वारा जनता पर थोपे गए जनविरोधी मुद्दों के खिलाफ जिनमें मुख्य महंगाई, बेरोजगारी, अग्निपथ योजना, खाद्य पदार्थों पर जीएसटी लगाना व ईडी द्वारा कांग्रेस के शीर्ष नेताओं को आतंकित करवाना इत्यादि के खिलाफ कांग्रेस ने देशभर में प्रदर्शन किया। हमीरपुर में जिला कांग्रेस कमेटी ने अध्यक्ष राजेंद्र जार एवं बड़सर के विधायक व प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष इंद्रदत्त लखनपाल की अगुवाई में इन मुद्दों को लेकर बड़ा आक्रामक विरोध-प्रदर्शन किया गया। कांग्रेस कार्यकर्ता जुलूस की शक्ल में जिला कांग्रेस कार्यालय हमीरपुर से गांधी चौक होते हुए जिलाधीश कार्यालय के बाहर मेन सडक़ पर पहुंचे। उपस्थित कार्यकर्ताओं ने काफी देर तक इस स्थान पर चक्का जाम कर दिया। इस दौरान केंद्र की मोदी सरकार व प्रदेश की जयराम सरकार के विरुद्ध जोरदार नारेबाजी की गई।

इस विरोध-प्रदर्शन के दौरान स्थानीय पुलिस ने कार्यकर्ताओं के साथ उन्हें उठाने में जोर जबरदस्ती की। कई कार्यकर्ताओं को इस खींचतान में चोटें आने की भी सूचना है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेंद्र जार, बड़सर के विधायक इंद्रदत्त लखनपाल के साथ बड़ी संख्या में भाग लेने आए कांग्रेस नेताओं व कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर स्थानीय थाना हमीरपुर में ले जाकर रखा गया। इस घटनाक्रम में पूर्व विधायक कुलदीप पठानिया, बलबिंद्र बबलू, कृष्ण कुमार, राजीव राणा, प्रेम कौशल, नरेश ठाकुर, रोहित शर्मा, तेज नाथ वर्मा, राजेश चौधरी, सुदर्शन शर्मा, अजय, अंकुश सैनी, राकेश गोल्डी, अखिलेश चौधरी , टोनी ठाकुर, चंदन ठाकुर, देवेंद्र राणा, रामचंद्र पठानिया, रतन डोगरा, रोहित शर्मा, अजय शर्मा, विवेक कटोच, जगजीत ठाकुर, राजेश पठानिया ब्लॉक अध्यक्ष सुरेश पटियाल, केवल धीमान व विजय आदि कार्यकर्ता मौजूद रहे।

75 साल की बुुजुर्ग को सता रही केंद्र सरकार

विशेष संवाददाता – शिमला

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता अल्का लांबा ने कहा है कि पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष को 75 साल की उम्र में निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जांच एजेंसियां सोनिया गांधी से पूछताछ कर रही हैं और उन्होंने इस पूछताछ में शामिल होकर यह दर्शा दिया है कि कांग्रेस किसी भी कीमत पर झुकने वाली नहीं है। अल्का लांबा शिमला में राजभवन के बाहर मीडिया से बातचीत कर रही थी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि महंगाई और बेरोजगारी पर अंकुश के लिए केंद्र सरकार अभी तक कोई भी कदम नहीं उठा पाई है। उन्होंने कहा कि देश की एजेंसियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। कांग्रेस नेताओं को जानबूझ कर निशाना बनाया जा रहा है। कांग्रेस के नेता किसी भी परिस्थिति में डरने वाले नहीं हैं। नेशनल हेराल्ड केस को जानबूझ कर हवा दी जा रही है। केंद्र सरकार चाहे कितना भी जोर लगा ले, कांग्रेस पदाधिकारी किसी भी कीमत पर पीछे नहीं हटेंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की इस कारगुजारी का अंजाम सरकार को आगामी चुनाव में भुगतना होगा।