जेबीटी भर्ती का रास्ता साफ, प्रारंभिक शिक्षा निदेशक ने इसी माह बैचवाइच नियुक्तियां करने के दिए निर्देश

By: Sep 21st, 2022 9:45 pm

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-शिमला

लंबे समय के बाद प्रारंभिक शिक्षा विभाग ने जेबीटी की बैचवाइज भर्ती को भी क्लीयरेंस दे दी है। डिप्टी डायरेक्टर मंडी की तरफ से पूछे गए सवालों का जवाब देते हुए प्रारंभिक शिक्षा विभाग के निदेशक ने इन भर्तियों के लिए जिन पदों की काउंसिलिंग हो चुकी है, उनका रिजल्ट 30 सितंबर से पहले पहले घोषित करने की डेडलाइन जिलों को दी है, ताकि चुनाव आचार संहिता से पहले शिक्षकों की ज्वाइंनिग हो जाए। इस पत्र में यह भी साफ किया गया है कि जेबीटी बैचवाइज में भी उन्हीं बीए, बीएससी-बीएड को नौकरी दी जाएगी, जिनके पास जेबीटी का टेट होगा। प्रदेश भर में कुल 474 पदों पर यह भर्ती होनी है।

डिप्टी डायरेक्टर मंडी ने जिन दो बिंदुओं पर क्लेरिफिकेशन मांगी थी उसमें पहला बिंदु बीएड अभ्यर्थियों को लेकर था और दूसरा एक्स सर्विसमैन को लेकर। एक्स सर्विसमैन के मामले में प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने कहा है कि इनकी मैरिट 22 सितंबर 2017 के भर्ती नियमों के अनुसार बनाई जाए। यह पत्र बेशक डिप्टी डायरेक्टर मंडी को जारी हुआ है, लेकिन इसकी कॉपी सभी जिलों के उपनिदेशकों को दी गई है। इसका अर्थ यह भी हुआ कि अब महाधिवक्ता की ओर से राय आने का इंतजार नहीं किया जाएगा। संभव है कि राज्य सरकार से इस बारे में पहले बात हो गई हो। बैच भर्तियों के साथ कमीशन की भर्तियों के लिए भी प्रक्रिया शुरू हो गई है। कांगड़ा जिला ने अपने यहां इसके लिए डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन कमेटी घोषित कर दी है। कांगड़ा में कमीशन के जरिए 62 पद जेबीटी कमीशन से भरे जा रहे हैं। बाकी जिला भी इसी प्रकार यह प्रक्रिया शुरू कर रहे हैं। शिमला जिला में भी जेबीटी भर्ती के लिए डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन कमेटी का गठन किया है जिसमें पांच सदस्यों को शामिल किया है।

एसएमसी शिक्षकों को 12 अतिरिक्त छुट्टियां भी मिली

शिमला। प्रदेश के सरकारी स्कूलों में कार्यरत एसएमसी शिक्षकों को अब साल में 12 अतिरिक्त छुट्टियां मिलना शुरू हो जाएंगी। मंत्रीमंडल की बैठक में इसे मंजूरी देने के बाद अब प्रदेश सरकार ने इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है। अधिसूचना के मुताबिक जहां एसएमसी शिक्षक पद पर नहीं हैं, वही रिक्तियां अन्य नियुक्तियों से भरी जाएंगी। यानी इन्हें जॉब सिक्योरिटी मिल गई है और नौकरी से खतरा टल गया है।