कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए बढ़ी दावेदारी, मनीष तिवारी-कमलनाथ भी दौड़ में

By: Sep 23rd, 2022 12:12 am

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली
कांग्रेस में अध्यक्ष पद की दावेदारी के लिए जहां पहले केवल राहुल गांधी का ही नाम सुझाया जा रहा था, वहीं अब एक-एक करके कई नाम सामने आने लगे हैं। सूत्रों के मुताबिक वरिष्ठ नेता मनीष तिवारी और कमलनाथ भी अध्यक्ष पद का चुनाव लडऩे की तैयारी बना रहे हैं। मनीष तिवारी उन जी -23 के नेताओं में शुमार हैं, जिन्होंने सोनिया गांधी को पत्र लिखा था। वहीं कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होने के बाद मल्लिकार्जुन खडग़े के नाम की चर्चा होने लगी है। अध्यक्ष पद का चुनाव लडऩे के लिए सबसे पहला नाम शशि थरूर का सामने आया था।

उन्होंने इस मामले में सोनिया गांधी से मुलाकात की। सोनिया गांधी ने स्पष्ट किया कि कोई भी पार्टी का आधिकारिक उम्मीदवार नहीं होगा। जो चाहे चुनाव लड़ सकता है। इसके बाद अशोक गहलोत ने भी सोनिया गांधी से मुलाकात की। गांधी ने यह बात उनसे भी दोहराई। माना जा रहा है कि अशोक गहलोत अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस की पहली पसंद हैं, लेकिन वह राजस्थान की कुर्सी भी छोडऩा नहीं चाहते हैं। कमलनाथ की भी कर्मभूमि मध्य प्रदेश है और दिग्विजय सिंह भी मध्य प्रदेश से आते हैं। दिग्विजय सिंह ने भी चुनाव लडऩे के संकेत दिए हैं। उन्होंने एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान कहा था कि आखिर उनका नाम क्यों खारिज किया जा रहा है। अब बात करें संभावित उम्मीदवारों की तो इनकी संख्या छह हो गई है।

राहुल की सलाह; ध्यान रखना, यह महज एक पद नहीं

कोच्चि। राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लडऩे से इनकार कर दिया है। इस बीच, अध्यक्ष पद की रेस में शामिल नेताओं को राहुल गांधी ने बड़ी सलाह दी है। उन्होंने अशोक गहलोत के अध्यक्ष और सीएम पद साथ रखने की इच्छा पर कहा कि उदयपुर अधिवेशन में एक व्यक्ति-एक पद पर हमने जो फैसला किया था, वह कायम रहेगा। हालांकि गहलोत ने गुरुवार सुबह ही कह दिया था कि अध्यक्ष का पद एक व्यक्ति-एक पद के दायरे में नहीं आता, लेकिन इतिहास में कोई कांग्रेस अध्यक्ष मुख्यमंत्री नहीं रहा, इसलिए फैसला करना पड़ेगा। राहुल ने कहा कि कांग्रेस का अध्यक्ष होना सिर्फ एक पद नहीं है, बल्कि यह विश्वास का प्रतीक है। यह भारत के विजन का प्रतिनिधित्व करता है। उन्होंने कहा कि अध्यक्ष के चुनाव में उतरने वाले लोगों को मेरी सलाह है कि आप जिस पद को हासिल करने जा रहे हैं, वह ऐतिहासिक है और भारत के एक विचार का प्रतिनिधित्व करता है। यह महज एक संगठन का पद नहीं है, बल्कि वैचारिक पद है, जो एक विश्वास का प्रतिनिधत्व करता है।

चुनाव के लिए अधिसूचना जारी
कांग्रेस ने नए अध्यक्ष के चुनाव के के कार्यक्रम की अधिसूचना जारी कर दी है। कांग्रेस के चुनाव प्रभारी मधुसूदन मिस्त्री ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी के अध्यक्ष पड़ के चुनाव के लिए अधिसूचना गुरुवार को जारी कर दी गई है और 24 से 30 सितंबर तक सुबह 11 बजे से अपराह्न तीन बजे तक किसी भी दिन नामांकन पत्र दाखिल किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि नामांकन पत्रों की जांच का काम पहली अक्तूबर को होगा और जिन उम्मीदवारों के नाम सही पाए जाएंगे, उसी दिन शाम तक उनकी सूची भी जारी कर दी जाएगी। आठ अक्तूबर तक उम्मीदवार नाम वापस ले सकते हैं। आठ अक्तूबर को शाम पांच बजे के बाद उम्मीदवारों की अंतिम सूची प्रकाशित की जाएगी।

स्पीकर सीपी जोशी के नाम की सिफारिश
कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए होने वाले संगठन के चुनाव को लेकर दिल्ली से लेकर केरल तक चर्चाओं का बाजार गर्म है। इस बीच, राहुल गांधी ने पार्टी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लडऩे से इनकार कर दिया है। उनके मना करने के बाद राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को अध्यक्ष पद के रेस में सबसे आगे माना जा रहा है। साथ ही साथ यह सवाल भी उठने लगा है कि अगर गहलोत पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज होते हैं तो राजस्थान में मुख्यमंत्री की कुर्सी पर कौन बैठेगा? क्या सचिन पायलट होंगे सूबे के सीएम या फिर किसी दूसरे को मिलेगा मौका? हालांकि, राजस्थान में मुख्यमंत्री पद के लिए अशोक गहलोत ने स्पीकर सीपी जोशी के नाम की सिफारिश की है। यह जानकारी सूत्रों के हवाले से सामने आई है।