देवी-देवताओं के लिए बहाल करें रोड

By: Sep 24th, 2022 12:45 am

अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव को लेकर भलाण बंगला वाया वंदल गड़सा मार्ग को शीघ्र बहाल करे विभाग
स्टाफ रिर्पाटर-बंजार
देवी-देवता कारदार संघ जिला कुल्लू के महासचिव टीसी महंत ने सैंज खंड के कारदारों द्वारा रखे गए खनैरगी, भलाहण, गोही, कांडी से गड़सा तक के सडक़ नूमा रास्तों को दशहरा उत्सव के मद्देनजर दुरुस्त करने के मामले को वन मंडल बंजार तथा वन मंडल शमशी कुल्लू से उठाकर जोरदार वकालत करते हुए कहा कि वन विभाग के अधिकार क्षेत्र में आने वाले अवरुद्ध पड़े उपरोक्त रास्तों को दशहरा उत्सव के मद्देनजर एक अक्तूबर से पहले-पहले बहाल करके इन रास्तों की झाडिय़ों को साफ करने की मांग वन विभाग से उठाई है। उन्होंने कहां कि सैंज घाटी के आधा दर्जन भर प्रमुख देवी-देवता आदिकाल से इन्हीं रास्तों से होते हुए कुल्लू दशहरा की शोभा बढ़ाने कुल्लू पहुंचते हैं और वापस भी इन्हीं रास्तों से देवालय को लौटते। इसलिए प्राथमिकता के आधार पर इन रास्तों को दशहरा उत्सव से पूर्व देवी-देवताओं के हित में बहाल कर देना चाहिए। उधर, इस संबंध में देवी-देवता कारदार संघ खंड सैंज के प्रधान भीमी राम, महासचिव केशव राम , जिला कारदार संघ के सलाहकार जगन्नाथ , जिला सचिव केहर सिंह प्रेमी, जिला प्रतिनिधि किशन वजीर आदि ने संयुक्त रूप से दशहरा उत्सव समिति कुल्लू के अध्यक्ष एवं प्रदेश सरकार में शिक्षा भाषा कला एवं संस्कृति मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर, उपायुक्त कुल्लू एवं उपाध्यक्ष दशहरा उत्सव समिति कुल्लू से मांग की है कि वन विभाग के अधिकार क्षेत्र में आने वाले उपरोक्त सडक़ नुमा रास्तों को पदयात्रा के लिए बहाल करने के निर्देश अरणीय पाल वन विभाग कुल्लू को लिखित तौर पर दिए जाएं। ताकि वन मंडलाधिकारी बंजार वन मंडल अधिकारी शमशी अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाले रास्तों को एक अक्तूबर से पहल-ेपहले दुरुस्त कर सकें। क्योंकि इन्हीं रास्तों से सैंज घाटी के आधा दर्जन प्रमुख देवी-देवता आदिकाल से दशहरा उत्सव में भाग लेने के लिए लाव लश्कर के साथ जाते हैं। इस वर्ष हुई भारी बरसात के कारण उपरोक्त और रास्ते जगह-जगह से अवरुद्ध हो चुके हंै।

रास्तों में झाडिय़ों का आलम है इसलिए अवरुद्ध रास्तों को शीघ्र बहाल किया जाए। झाडिय़ों को साफ किया जाए। उपरोक्त देव प्रतिनिधियों ने कहा कि वन विभाग के पुराने सडक़नूमा रास्तों भलाहण, बंगला वाया वंदल गड़सा भलाहण कांडी भलाहण- 2 , भलाण -1, गड़सा-1 से गुजरने वाले वन विभाग के अधिकार क्षेत्र वाले सडक़ नुमा रास्तों को अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव से पूर्व दुरुस्त किया जाए । ताकि इन रास्तों से प्रतिवर्ष अंतरराष्ट्रीय दशहरा उत्सव में हाजिरी भरने जाने वाले सैंज घाटी के आधा दर्जन भर देवी-देवताओं लक्ष्मी नारायण भलाहण,लक्ष्मी नारायण रैला, कशू नारायण बनाऊगी,मनु ऋषि शैशर गर्ग ऋषि, रोट खनैरगी माता आशापुरी, रैला माता कमला, देवगढ़ गोही के कारकूनों हारियानों को देवी-देवताओं के देवरथों को इन रास्तों से कुल्लू ले जाने और कुल्लू से वापस देवालय पहुंचाने में कोई परेशानी का सामना न करना पड़े । वहीं, उपरोक्त विषय पर कारदार संघ जिला कुल्लू के अध्यक्ष दोत राम ठाकुर ने भी उपरोक्त मांग को जायज ठहराते हुए वन विभाग से शीघ्र अवरुद्ध पड़े वन विभाग के अधिकार क्षेत्र वाले इन रास्तों को दशहरा उत्सव के मद्देनजर दुरुस्त करने की मांग की है। ताकि आसानी से उपरोक्त और रास्तों से सैंज घाटी के देवी-देवता दशहरा उत्सव में पहुंच सकंे।