थिरोट पंचायत को मिला नया भवन

By: Sep 10th, 2022 12:17 am

मंत्री डा. रामलाल मार्कंडेय ने दस लाख से बने कार्यालय का किया उद्घाटन, शीला गोंपा के सुधारीकरण के लिए आठ लाख देने की घोषणा

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-केलांग
तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री डॉ रामलाल मार्कंडेय ने कहा कि प्रदेश के विकास में ग्रामीण क्षेत्रों के विकास की अभिन्न भूमिका है। केंद्र सरकार के सहयोग से ग्राम पंचायत स्तर पर विभिन्न कार्यों के माध्यम से प्रदेश में विकास के नए आयाम स्थापित किए जा रहे हैं। डॉ रामलाल मार्कंडेय शुक्रवार को उदयपुर मंडल के थिरोट में दस लाख रुपए की लागत से निर्मित पंचायत भवन थिरोट का उद्घाटन करने के उपरान्त बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने पंचायती राज संस्थाओं में चुने गए जनप्रतिनिधियों के मानदेय में बढ़ोतरी की गई है। जिसमें जिला परिषद अध्यक्ष को आठ से 12 हजार, उपाध्यक्ष को छह से आठ हजार तथा सदस्य के मानदेय को 3500 से बढ़ाकर पंाच हजार किया गया है। साथ ही पंचायत समिति अध्यक्ष का मानदेय पांच से बढ़ाकर सात हजार, उपाध्यक्ष का 3500 से बढ़ाकर पांच हजार, पंचायत समिति सदस्य और ग्राम पंचायत प्रधान का मानदेय तीन हजार से बढ़ाकर 4500 किया गया है। उन्होंने बताया कि उपप्रधान का मानदेय 2200 से बढ़ाकर तीन हजार तथा वार्ड सदस्य का मानदेय प्रतिबैठक 225 से 250 रुपए किया गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के कुशल नेतृत्व में प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे के विकास पर विशेष जोर दिया है। गांवो में स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छ पेयजल, सिंचाई सुविधा, कृषि गतिविधियों एवं सडक़ नेटवर्ग को और मजबूत बनाने के साथ ही रोजगार सृजन और उद्यमिता को कल्याणकारी नीतियों के माध्यम से बढ़ावा दिया गया है। उन्होंने कहा कि लोगों के सहयोग और मांगों का ध्यान में रखकर ही क्षेत्र का योजनात्मक विकास करवाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार जरूरतमंदों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है सउन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने समाज कल्याण क्षेत्र को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए वृद्धावस्था पेंशन की आयु सीमा को 80 वर्ष से घटाकर 70 वर्ष और अब 60 वर्ष कर दिया है। राज्य सरकार ने महिला सशक्तिकरण और उनके कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। मुख्यमंत्री गृहिणी सुविधा योजना, महिला यात्रियों के लिए हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसों में किराये में 50 प्रतिशत की रियायत प्रदान की है। 125 यूनिट बिजली नि:शुल्क तथा गांव में नि:शुल्क पानी उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने शीला गोंपा के सुधारीकरण के लिए आठ लाख रुपए देने की घोषणा कीस इसके अतिरिक्त शीला गोम्पा के लिए सडक़ निर्माण हेतु संबंधित अधिकारियों को सभी ओपचारिकताएं पूरी करने के निर्देश दिए। इसके उपरांत डॉ रामलाल मार्कडेय ने थिरोट, मूरिंग, शीला गोंपा तथा शिशु में लोगों की समस्याएं सुनीं व अधिकतर का मौके पर ही निपटारा कर शेष समस्याओं के समाधान के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। इस अवसर पर एसडीएम उदयपुर निशांत तोमर, जिला पंचायत अधिकारी संजय कुमार, नायब तहसीलदार शांता कुमार, टीएसी शमशेर सिंह, जेई कुशल, प्रधान थिरोट शेर सिंह, बीडीसी दिनेश कुमार, प्रधान मूरिंग भीमदेई , प्रधान गोंधला सूरज ठाकुर, महिला मंडलों, युवक मंडलों सहित बड़ी संख्या में स्थानीय लोग मौजूद रहे।