मां बालासुंदरी के दर 12 हजार श्रद्धालु

By: Oct 5th, 2022 12:20 am

नवमीं पर देश के विभिन्न राज्यों से पहुंचे श्रद्धालुओं ने नवाया शीश, सात लाख का हुआ चढ़ावा, नौ अक्तूबर तक चलेगा त्रिलोकपुर मेला

सूरत पुंडीर – त्रिलोकपुर
उत्तर भारत की प्रमुख शक्तिपीठ माता बालासुंदरी मंदिर में चल रहे शारदीय नवरात्र के महानवमी को उत्तर भारत के विभिन्न राज्यों से हजारों की संख्या में श्रद्धालुओं ने मां बालासुंदरी मंदिर पहुंचकर शीश नवाया। महानवमी को देश के विभिन्न राज्यों से श्रद्धालु लंबी-लंबी कतारों में सुबह से ही मां बालासुंदरी मंदिर पहुंच रहे थे। 15 दिवसीय शारदीय नवरात्र के महानवमी को 12 हजार श्रद्धालुओं ने माता बालासुंदरी के दर्शन कर आशीर्वाद प्राप्त किया। उपायुक्त सिरमौर एवं त्रिलोकपुर मंदिर न्यास के आयुक्त रामकुमार गौतम ने बताया कि महानवमी के दिन देश के विभिन्न राज्यों से शीश नवाने पहुंचे श्रद्धालुओं ने करीब 7,06,381 रुपए की नकदी मां के चरणों में भेंट की। उत्तर भारत की प्रसिद्ध महामाया बालासुंदरी मंदिर त्रिलोकपुर में आश्विन नवरात्र के महानवमी को पूरा मंदिर परिसर मां के जयकारों से गूंजता रहा। उपायुक्त सिरमौर रामकुमार गौतम ने बताया कि त्रिलोकपुर मेला 26 सितंबर से लेकर नौ अक्तूबर तक चलेगा।

मंदिर परिसर को फूलों और लडिय़ों से सजाया गया है। इसके अतिरिक्त लोगों की सुरक्षा के दृष्टिगत मेला परिसर में पर्याप्त मात्रा में सीसीटीवी कैमरे और पुलिस बल तैनात है। उन्होंने बताया कि मेला क्षेत्र में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जा रहा है तथा श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए विशेष बसों की सुविधा भी उपलब्ध की गई है। उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं के लिए चिन्हित स्थानों पर पेयजल की भी समुचित व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि मेला क्षेत्र में चिन्हित स्थलों पर भंडारे भी लगाए जा रहे हैं। मंदिर में नारियल चढ़ाने पर प्रतिबंध लगाया गया है तथा केवल सूखा प्रसाद चढ़ाने की अनुमति है। उधर पुलिस अधीक्षक सिरमौर रमन कुमार मीणा ने बताया कि माता बालासुंदरी मंदिर त्रिलोकपुर को सुरक्षा की दृष्टि से पांच सैक्टर में बांटा गया है। मेला स्थल पर 480 के करीब सिरमौर पुलिस के जवानों के अलावा छठी बटालियन धौलाकुआं व होमगार्ड के जवान तैनात किए गए हैं। मेला स्थल पर भिक्षावृत्ति पर पूरी पाबंदी रहेगी तथा मंदिर के आसपास यदि कोई भी व्यक्ति भीख मांगते हुए नजर आता है तो ऐसे लोगों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी। पुलिस अधीक्षक रमन कुमार मीणा ने बताया कि मेले के दौरान पाकेटमार पर भी पूरी नजर रहेगी तथा पुलिस का एक दस्ता सादे वस्त्रों में मेला स्थल पर राउंड दि क्लाक तैनात किया गया है। (एचडीएम)

काली माता मंदिर में सुबह से लगी कतारें
महानवमी को नाहन स्थित ऐतिहासिक माता काली मंदिर में सुबह से ही श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी कतारें लगी रही। दिन भर मंदिर कैंपस में श्रद्धालु मां का आशीर्वाद प्राप्त करने पहुंच रहे थे। इसके अलावा हरिपुरधार स्थित माता भंगायणी मंदिर, कटासन देवी मंदिर के अलावा जिला के तमाम देवी स्थलों पर महानवमी के दौरान पूजा अर्चना व कंजक पूजन किया गया।