देश में 5जी युग; पीएम मोदी ने की नई शुरुआत, सबसे पहले 13 शहरों में सुविधा

By: Oct 1st, 2022 10:51 pm

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक नए तकनीकी युग की शुरुआत करते हुए शनिवार को देश में 5जी सेवाओं का शुभारंभ किया। यह सर्विस चुङ्क्षनदा 13 शहरों के लिए लांच हुई है, इनमें दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, चंडीगढ़, बंगलूर, गुरुग्राम, हैदराबाद, कोलकाता, लखनऊ, पुणे, अहमदाबाद जामनगर व गांधीनगर शामिल हैं। हालांकि, अभी केवल आठ शहरों में इनका फायदा मिल रहा है। 5जी अगले कुछ वर्षों में पूरे देश को कवर करेगा। 5जी तकनीक से निर्बाध कवरेज, उच्च डोटा दर, कम विलंबता व अत्यधिक विश्वसनीय संचार सुविधाएं प्राप्त की जा सकेंगी। इससे ऊर्जा दक्षता, स्पेक्ट्रम दक्षता और नेटवर्क दक्षता में भी बेहतर रूप से सुधार होगा। इस मौके पर संचार, इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव और संचार राज्य मंत्री देवुङ्क्षसह चौहान के साथ ही देश की प्रमुख दूरसंचार कंपनियों के प्रमुख भी मौजूद थे। इसमें रिलायंस जियो का संचालन करने वाली कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी, भारती एयरटेल के सुनील भारती मित्तल और वोडाफोन आइडिया के कुमार मंगलम बिरला, रिलायंस जियो के अध्यक्ष आकाश अंबानी मौजूद थे।

पहले उड़ाते थे सरकार का मजाक

नई दिल्ली। देश में 5जी की लांचिंग हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लांचिंग प्रोग्राम में डिजिटल इंडिया की उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि आम लोगों को सुविधाएं मिलती हैं तो उनकी सोच बदलने में देर नहीं लगती है। पीएम ने कहा कि आज यूपीआई पेमेंट का इस्तेमाल रेहड़ी-पटरी वाले भी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक वक्त था, जब डिजिटलाइजेशन के प्रयासों को लेकर सरकार का मजाक उड़ाया जाता था।

4जी के मुकाबले 20 गुना तेज

भारत में 5जी सेवाएं इस्तेमाल करने वाले यूजर्स को 4जी के मुकाबले 20 गुना तक तेज इंटरनेट स्पीड का फायदा मिल सकता है और वे 20जीबीपीएस तक स्पीड अनुभव कर सकेंगे। एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में 5जी रेडी स्मार्टफोंस वाले 10 करोड़ से ज्यादा यूजर्स हैं।

5जी सर्विस डिजिटल कामधेनु

नई दिल्ली। रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने 5जी को डिजिटल कामधेनु बताते हुए शनिवार को घोषणा कि की रिलायंस जियो दिसंबर 2023 के अंत तक पूरे देश में 5जी सेवा पहुंचा देगी। श्री अंबानी ने कहा कि भारत के 5जी युग में तेजी से आगे बढऩे के लिए उठाए गए कदम प्रधानमंत्री के दृढ़ संकल्प का परिणाम हैं।