बार काउंसिल पंजाब-हरियाणा ने मनाया राष्ट्रीय कानून दिवस

By: Nov 28th, 2022 12:02 am

चंडीगढ़, २७ नवंबर (ब्यूरो)

बार काउंसिल ऑफ पंजाब एंड हरियाणा ने सिखिया और संविधान (आजादी का अमृत महोत्सव भी मनाते हुए) थीम के तहत लॉ भवन में संविधान दिवस-राष्ट्रीय कानून दिवस मनाया। इस अवसर पर न्यायमूर्ति रितु बाहरी, न्यायाधीश पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, न्यायमूर्ति राज मोहन सिंह, न्यायाधीश पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, न्यायमूर्ति हर्ष बंगर, न्यायाधीश पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय, वीके जंजुआ प्रमुख पंजाब राज्य सचिव, रीता कोहली वरिष्ठ अधिवक्ता, बलविंदर जम्मू पत्रकार, गुरिंदर पाल सिंह पूर्व अध्यक्ष बीसीपीएच, पल्लवी ठाकुर, पंजाब की युवा सरपंच उपस्थित रहे और सत्र के दौरान दर्शकों के साथ अपने विचार साझा किए। न्यायमूर्ति रितु बहरी ने बच्चों को शिक्षित करने और समाज के सामने आने वाले कई महत्त्वपूर्ण कानूनी मुद्दों पर जागरूकता फैलाने के लिए वंचित समुदायों तक पहुंचने के महत्व पर प्रकाश डाला। उन्होंने सरकारी निकायों से इन कार्यों को और अधिक जोश के साथ करने का आग्रह किया। वहीं, न्यायमूर्ति राज मोहन सिंह ने संवैधानिक मूल्यों और इसकी प्रकृति के महत्त्व पर बल दिया।

माननीय न्यायमूर्ति हर्ष बंगर ने भारतीय संविधान के तथ्यों पर पूरे दर्शकों के साथ एक सूचनात्मक संवादात्मक सत्र आयोजित किया। इस अवसर पर सुवीर सिद्धू चेयरमैन, चंदर मोहन मुंजाल, लेख राज शर्मा, बलजिंदर सिंह सैनी, करनजीत सिंह, हरगोबिंदर गिल, अशोक सिंगला वाइस चेयरमैन बार काउंसिल और गुरतेज सिंह ग्रेवाल मानद सचिव बार काउंसिल और अंकित छाबड़ा सह- संस्थापक सांझी सिखिया ने भी मंच साझा किया। इस आयोजन में विषयों पर शिक्षा का अधिकाररू एक कानूनी परिप्रेक्ष्य, शिक्षा के लिए कानून और स्थानीय शासन, सक्रिय नागरिक के रूप में युवा भारतीय संविधान और इसके संशोधनों के महत्व पर इंटरैक्टिव सत्र और प्रश्नोत्तरी आयोजित किए गए।