एचपीयू का रिजल्ट: विश्वविद्यालय की कारगुजारी के कारण हजारों छात्रों का भविष्य दांव पर

By: Nov 24th, 2022 12:58 pm

हमीरपुर। हमीरपुर में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस के दौरान एनएसयूआई प्रदेश महासचिव टोनी ठाकुर ने कहा कि गत दिनों जो प्रथम वर्ष का परिणाम विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा निकाला गया है, उसमें हजारों युवाओं के साथ धोखा किया गया है। इस बार पेपर बाहर की कंपनी को ठेके पर देकर चेक करवाए गए हैं, जिस कारण उन्होंने बिना किसी जिम्मेदारी के जल्दबाजी में पेपर चेक किए हैं। ऊपर से रिजल्ट इतना लेट निकाला है कि छात्रों के दो-दो वर्ष बर्बाद हो रहे हैं। बहुत सारे छात्रों को इंटरनल असेसमेंट में ही फेल कर दिया गया है।

हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय का रिजल्ट मात्र पंद्रह सोलह प्रतिशत रहा है, जो कि चिंतनीय विषय है। उन्होंने कहा कि जो छात्र अवधि परीक्षाओं में बेहतरीन अंक लेकर पास हुए थे, उनका रिजल्ट इतना खराब कैसे आ सकता है। उन्होंने कहा कि यह सब हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय प्रशासन की कारगुजारी के कारण हुआ है। युवा खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है। आपकी शिक्षा को पैसे कमाने का धंधा एचपीयू प्रशासन ने बना लिया है। साथ ही उन्होंने कहा कि यदि हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय प्रशासन दोबारा से उनके पेपरों की जांच नहीं करवाता है, तो एनएसयूआई पूरे प्रदेश भर में उग्र आंदोलन करेगी।