कैसे होगा विकास, हाउस टैक्स पर लोगों की कुंडली

By: Jan 30th, 2023 12:11 am

नाहन शहर में नगर परिषद को वित्तीय संकटों का करना पड़ रहा सामना, डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्शन टैक्स भी नहीं चुका रहे लोग

सुभाष शर्मा – नाहन
नाहन शहर में विभिन्न सुविधाओं को बढ़ावा देने के मकसद से नगर परिषद प्रयास कर रही है, मगर नगर परिषद को सुविधाओं को मुहैया करवाने के लिए वित्तीय प्रबंधन में टैक्स कलेक्शन में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हालत यह है कि नगर परिषद नाहन में लाखों का हाउस टैक्स लंबित पड़ा है। जबकि स्वच्छता की मुहिम में डोर-टू-डोर गारबेज कलेक्शन सुविधा के बदले लिया जाने वाला शुल्क भी नाहन में नागरिक समय पर जमा नहीं करवा रहे हैं। जिसके चलते नगर परिषद की वित्तीय हालत चरमराने लगी है।

वहीं अब नगर परिषद नाहन ने वित्तीय कलेक्शन के लिए ऐसे सभी उपभोक्ताओं से अपील की है कि हाउस टैक्स को 31 मार्च तक पेंडिंग बैलेंस को जमा करवाने पर 10 प्रतिशत की छूट प्रदान की जाएगी। ऐसे में वह नागरिक जिन्होंने अब तक हाउस टैक्स नगर परिषद को जमा नहीं करवाया है उन्हें 10 प्रतिशत छूट का जहां ऑफर प्राप्त हो रहा है। नगर परिषद के वरिष्ठ नागरिक राकेश वर्मा का कहना है कि ऐसे नागरिकों का क्या कसूर है जिन्होंने ईमानदारी से टैक्स जमा करवा दिया है। जबकि जिन लोगों ने टैक्स जमा नहीं करवाया उन्हें 10 प्रतिशत की छूट भी दी जा रही है। हालांकि यह फैसला नगर परिषद नाहन ने शहरवासियों को इस मौके पर लिया है जबकि नगर परिषद के नागरिकों पर लाखों की धनराशि लंबित पड़ी है। नगर परिषद के कार्यकारी अधिकारी संजय तोमर की मानें तो कुछ नागरिकों के पास जहां लाखों के हाउस टैक्स लंबे समय से लंबित हैं। वहीं गारबेज कलेक्शन टैक्स भी सभी नागरिकों द्वारा अदा नहीं किया जा रहा है। गौर हो कि नाहन शहर को सुंदर व स्वच्छ बनाने की मुहिम में नगर परिषद नाहन अपने वित्तीय संसाधनों का एक बड़ा हिस्सा व्यय करती है। वहीं नाहन शहर में सफाई कर्मियों, बिजली, पानी इत्यादि पर लाखों की वित्तीय राशि का बजट खर्च हो रहा है, ताकि यहां के नागरिकों को सुविधाएं मुहैया हो सके। मगर लंबे समय से नगर परिषद के टैक्स पर कुंडली मारकर बैठे नागरिकों से अब नगर परिषद को वित्तीय संकटों का भी सामना करना पड़ रहा है। (एचडीएम)