2500 करोड़ की ठगी में 19 करोड़ की संपत्ति फ्रीज; क्रिप्टो ठगी की 350 शिकायतें, 19 आरोपी गिरफ्तार

By: Nov 21st, 2023 12:08 am

पुलिस अधिकारियों तक नहीं पहुंची एसआईटी की जांच; क्रिप्टो ठगी की 350 शिकायतें, 19 आरोपी गिरफ्तार

स्टाफ रिपोर्टर-शिमला

क्रिप्टो करंसी के नाम पर 2500 करोड़ की ठगी मामले में एसआईटी अभी तक मात्र 19 करोड़ की संपत्ति का पता लगा पाई है। हालांकि एसआईटी आरोपियों की संपत्ति का पता लगा रही है, लेकिन धीमी कार्रवाई के चलते कई आरोपी विदेश भागने की फिराक में है। क्रिप्टो करंसी ठगी मामले से जुड़े कई आरोपी विदेश भाग चुके है। ठगी मामले में पंजाब और हिमाचल प्रदेश पुलिस की टीमें कार्रवाई कर रही है। करोड़ों के इस क्रिप्टो करंसी ठगी मामले में कई अधिकारियों और कर्मचारियों ने पैसा लगाया है। बताया जा रहा है कि इस रैकेट के सरगनाओं ने सबसे पहले नेताओं और बड़े अधिकारियों को ही जाल में फंसाया।

उसके बाद धीरे-धीरे ठगों की चेन बढ़ती गई। करोड़ों के इस ठगी मामले में कई पुलिस कर्मी भी शामिल बताए जा रहे है। शातिरों ने प्रदेश में करीब एक लाख से अधिक लोगों को ठगा है। एसआईटी की कार्रवाई के बाद प्रदेश में क्रिप्टो करंसी ठगी की शिकायतें लगातार बढ़ती जा रही है। ठगी मामले की राशि का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। क्रिप्टो रैकेट में शातिरों ने करीब अढ़ाई लाख आईडी बनाकर क्रिप्टो करेंसी के नाम पर प्रदेश की जनता को करोड़ों का चूना लगाया है। क्रिप्टो करंसी ठगी मामले में एसआईटी ने अभी तक चार पुलिस कर्मियों सहित 19 लोगों को गिरफ्तार किया है। -एचडीएम

स्कैम में एक लाख लोग शामिल

क्रिप्टो करंसी के नाम पर ठगी के इस स्कैम में करीब एक लाख लोग शामिल बताए जा रहे है। बताया जा रहा है कि अब तक की जांच में करीब 2500 करोड़ की ट्रांजेक्शन मिली है। बताया जा रहा है कि लोगों से करोड़ों रुपए ठगने वाले शातिरों ने हिमाचल के अलावा बाहरी राज्यों में भी संपत्ति बनाई है। ठगी मामले में कई अहम साक्षय एसआईटी के हाथ लगे है।

फर्जी वेबसाइट से बनाया शिकार

शातिरों ने वेबसाइट बनाकर लोगों को फर्जी कॉईन के नाम पर करोड़ों की ठगी को अंजाम दिया है। शातिरों ने कोर्वियो कॉइन, डीजीटी कॉइन, फिश टोकन हाइपनेक्सट, बिटपेड एक, बिटवेड दो और एडड फाइनांस कॉइन के झांसे में फंसाकर लोगों को ठगा है। क्रिप्टो करंसी ठगी मामले में पंजाब और हिमाचल प्रदेश पुलिस की टीमें कार्रवाई कर रही है। करोड़ों के इस क्रिप्टो करंसी ठगी मामले में कई अधिकारियों और कर्मचारियों ने पैसा लगाया है। एसआईटी क्रिप्टो करंसी के सभी मास्टरमाइंड की प्रॉपर्टी की मैपिंग कर रही है। क्रिप्टो करंसी ठगी मामले में शातिरों ने लोगों को दोगुना रिटर्न का झांसा कराया इन्वेस्ट कराया और बड़ी संख्या में लोग ठगी शिकार हुए है।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App