केसीसी नहीं बनवा रहे कुल्लू के बागबान

By: Nov 29th, 2023 12:46 am

अभी तक 300 पशुपालकों ने बनाए किसान के्रडिट कार्ड, सात हजार का है लक्ष्य

जिला संवाददाता-कुल्लू
कुल्लू जिला के पशुपालक केसीसी (किसान के्रडिट कार्ड) करवाने में दिलचस्पी नहीं दिख रहे हैं। पशुपालन विभाग को 7000 पशुपालकों का केसीसी करवाने का लक्ष्य इस वित्तीय वर्ष में दिया गया है, लेकिन नवंबर महीना बीतने वाला है और अब तक मात्र 300 पशुपालकों के ही केसीसी करवाई गई है। पशुपालन विभाग कुल्लू के सहायक निदेशक डाक्टर रंजीत सिंह का कहना है कि पशुपालक केसीसी करवाने में दिलचस्पी नहीं दिख रहे हैं। केसीसी करवाने से पशुपालकों को जहां एक ओर पशुओं की खरीद करने से लेकर फीड, दवाइयां सहित अन्य पशुओं से संबंधित तमाम तरह की चीजों की खरीद फरोख्त के लिए केसीसी करवाना सहायक सिद्ध होगा। वहीं, दूसरी ओर पशुपालकों की आर्थिकी भी सुदृढ़ होगी। इसके साथ ही कुछ पशुपालकों के आवेदन बैंक के द्वारा डिफाल्टर होने की सूरत में रद्द भी किए गए हैं।

विभाग ने जिला कुल्लू के पशुपालकों से आह्वान किया है कि वह केसीसी करवाकर सरकार की योजनाओं का सीधे तौर पर लाभ उठा सकते हैं। बशर्त उनके यहां पर पशुपालन का काम होना चाहिए और पशु पंजीकृत होना चाहिए। जिसके लिए पशु को टैग लगा होना अनिवार्य है। गौर रहे कि वर्तमान में जिला कुल्लू में पशुपालन विभा के अधीन चार उपमंडलीय स्तर के वैटनरी अस्पताल, 16 वैटनरी अस्पताल, एक वैटनरी पॉलीक्लीनिक, एक ही सेंट्रल वैटनरी डिस्पेंसरी, एक शीप एंड वूल एक्सटेंशन सेंटर, एक पॉली स्टोर और 94 वैटनरी डिस्पेंशरी के माध्यम से संचालन किया जा रहा है। इसके अलावा 99 मुख्यमंत्री अरोग्य पशुधन योजना के तहत पंचायत वैटनरी डिस्पेंशरी भी स्थापित की गई हैं।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App