UNLF ने छोड़ी हिंसा, मणिपुर के उग्रवादी संगठन ने सरकार से शांति समझौता कर डाले हथियार

By: Nov 30th, 2023 12:07 am

मणिपुर के सबसे बड़े उग्रवादी संगठन ने सरकार से शांति समझौता कर डाले हथियार

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने यहां घोषणा की कि मणिपुर में सक्रिय और सबसे पुराने उग्रवादी गुट यूनाइटेड नेशनल लिबरेशन फ्रंट (यूएनएलएफ) ने हथियार डालने का फैसला किया है। संगठन ने बुधवार को सरकार के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए और हिंसा छोडऩे पर सहमति व्यक्त की। यह समझौता पूरे पूर्वोत्तर, विशेषकर मणिपुर में शांति के एक नए युग की शुरुआत को बढ़ावा देने वाला है। यूएनएलएफ इंफाल घाटी स्थित सबसे पुराना सशस्त्र समूह है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि एक ऐतिहासिक मील का पत्थर। पूर्वोत्तर में स्थायी शांति स्थापित करने के लिए मोदी सरकार के अथक प्रयासों ने पूर्ति का एक नया अध्याय जोड़ा है, क्योंकि यूएनएलएफ ने नई दिल्ली में एक शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। मणिपुर का सबसे पुराना घाटी स्थित सशस्त्र समूह यूएनएलएफ, हिंसा छोडऩे और मुख्यधारा में शामिल होने के लिए सहमत हो गया है। मैं लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं में उनका स्वागत करता हूं और शांति और प्रगति के पथ पर उनकी यात्रा के लिए शुभकामनाएं देता हूं।

असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा ने केंद्र को दी बधाई

इसे लेकर असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने केंद्र सरकार को बधाई दी। उन्होंने एक्स पर पोस्ट में लिखा कि यूएनएलएफ शांति समझौता एक ऐतिहासिक मील का पत्थर है, जो उत्तर पूर्व में शांति और प्रगति को बढ़ावा देने के लिए तैयार है। यह माननीय गृह मंत्री को दर्शाता है। माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व द्वारा निर्देशित, क्षेत्र में पूर्ण स्थिरता को बढ़ावा देने के लिए ये अटूट प्रतिबद्धता है।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App