विशेष

लैब टेक्नीशियन बन चमकाएं करियर : तीन तरह के कोर्सेज उपलब्ध हैं आपके पास, पढ़ें पूरी खबर

By: Feb 20th, 2024 10:05 pm

सही इलाज और दवा के लिए आजकल क्लीनिकल प्रयोगशालाओं की भूमिका काफी महत्त्वपूर्ण है। मेडिकल सेक्टर के आधुनिक रूप में विस्तार पाने से मेडिकल लैब टेक्नीशियन की जरूरत काफी बढ़ गई है। किसी भी व्यक्ति के स्वस्थ होने में लैब टेक्नीशियन की भूमिका उतनी ही अहम होती है, जितनी डाक्टर की होती है। लैब टेक्नीशियन का अनुभवी होना इसलिए बहुत जरूरी है…

जब तक इनसान है, तब तक उसके किसी बीमारी से पीडि़त होने की आशंका बनी रहेगी। अत: इस प्रकार यह कहा जा सकता है कि अगर कोई व्यक्ति मेडिकल की फील्ड में चला जाता है, तो उसके पास अच्छे पैसे कमाने की अपार संभावनाएं होती हैं, क्योंकि इनसान चाहे अपने आप को स्वस्थ रखने का कितना भी प्रयास क्यों न कर ले, उसकी किसी न किसी गलती की वजह से उसे कोई न कोई समस्या हो ही जाती है और इस स्थिति में उसे डाक्टर के पास जाना पड़ता है और डाक्टर उसका इलाज करने के पहले कुछ कंडीशन में उसे कुछ टेस्ट करवाने के लिए कहता है, जोकि लैबोरेटरी में होता है, जहां पर लैब टेक्नीशियन तथा अन्य कर्मचारी मौजूद होते हैं। लैब टेक्नीशियन पीडि़त की जांच कर सैंपल लेते हैं और उसका विश्लेषण कर पेशेंट को उसकी रिपोर्ट दिखाते हैं, इसके बाद डाक्टर अपना इलाज चालू करता है। लैब टेक्नीशियन वह व्यक्ति होता है, जो जटिल चिकित्सा मशीनरी के साथ काम करने और विभिन्न मेडिकल टेस्ट्स करने में एक्सपर्ट होता है। दुनिया भर के पब्लिक और प्राइवेट क्षेत्र में एक लैब टेक्नीशियन की भारी मांग है।

लैब टेक्नीशियन कोर्स में छात्रों को शरीर रचना विज्ञान, विकृति विज्ञान, जैव रसायन, शरीर विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान आदि विषय के बारे में पढ़ाया जाता है। 10वीं, 12वीं और ग्रेजुएशन की डिग्री के बाद किया जाना वाला लैब टेक्नीशियन कोर्स पैरामेडिकल कोर्स की श्रेणी में शामिल एक उच्च कोटि का कोर्स है। कोई व्यक्ति अगर लैब टेक्नीशियन कोर्स करता है, तो इस कोर्स में उसे ब्लड बैंकिंग, माक्रोबायोलॉजी, पैथोलॉजी और बायो केमिस्ट्री जैसे सब्जेक्ट पढ़ाए जाते हैं। यह सब्जेक्ट सिर्फ किताबी ज्ञान ही नहीं होता, बल्कि इसमें उन्हें प्रैक्टिकल भी करके दिखाया जाता है, ताकि वह अच्छे से लैब टेक्नीशियन के कोर्स को पढ़ सके और सीख सकें। इसका दूसरा नाम क्लीनिकल साइंस कोर्स भी है। ऐसे लोग जो इसे सफलतापूर्वक पूरा कर लेते हैं उन्हें कोर्स पूरा करने के बाद एक सर्टिफिकेट भी प्राप्त होता है और इसी सर्टिफिकेट के जरिए वह किसी भी लैबोरेटरी में नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। आपकी इन्फॉर्मेशन के लिए यह भी बता दें कि लैब टेक्नीशियन की गिनती ऐसे मेडिकल कोर्स में होती है, जिसमें एडमिशन पाने के लिए आपको किसी भी प्रकार की कोई भी एंट्रेंस एग्जाम नहीं देनी होती है।

कोर्स

लैब टेक्नीशियन बनने के लिए आपको एक्स-रे, रेडियोग्राफी, रसायन आदि के बारे में पूरी जानकारी होनी चाहिए। लैब टेक्नीशियन बनने के लिए आपके पास तीन तरह के कोर्सेज उपलब्ध हैं, जैसे…

यह है भूमिका

मेडिकल लैब टेक्नीशियन किसी बीमारी की पहचान करने के लिए जांच करते है, जिसके आधार पर डाक्टर ट्रीटमेंट करते हैं। लैब टेक्नीशियन बॉडी फ्लूड्स, टीसू, बल्ड टाइपिंग, ह्यूमन बॉडी का सेल काउंट करना, माइक्रोऑर्गेनिज्म स्क्रिनिंग व केमिकल एनालिसिस आदि जांचे व उनका विश्लेषण करते हैं। लैब टेक्नीशियन, सैंपल, टेस्ट, रिपोर्ट और डॉक्यूमेंट आदि काम करते हैं।

ऐसे बनें मेडिकल लैब टेक्नीशियन

जो भी व्यक्ति मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनना चाहते हैं, वह एमएलटी कोर्स को दसवीं के बाद, 12वीं के बाद या फिर ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद कर सकते हैं। जब मेडिकल लैब टेक्नीशियन का कोर्स अभ्यर्थी पूरा कर लेते हैं, तब उन्हें इसमें ज्यादा ज्ञान एवंम अनुभव हेतु इंटर्नशिप भी करनी होती है। इंटर्नशिप करने के बाद जब आप किसी हॉस्पिटल में या फिर लैबोरेटरी में नौकरी करने के लिए जाते हैं, तब आपको नौकरी देने में प्राथमिकता दी जाती है। मेडिकल लैब टेक्नीशियन की नौकरी पा लेने के बाद आपको पेसेंट के विभिन्न प्रकार के सैंपल लेने होते हैं, जैसे कि ब्लड सैंपल, यूरीन सैंपल इत्यादि और उसकी रिपोर्ट तैयार करके पेशेंट को देनी होती है, जिसके बाद मरीज आगे डाक्टर से अपना इलाज करवाता है।

10वीं के बाद…

डिप्लोमा कोर्स और सर्टिफिकेट कोर्स यह दोनों ऑप्शन जब आप दसवीं कक्षा पास कर लेते हैं, तब आपको मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनने के लिए मिलते हैं। ऐसे कई विद्यार्थी हैं जो दसवीं पास करने के बाद मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनने के लिए सर्टिफिकेट कोर्स करते हैं। दसवीं के बाद मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनने के लिए सर्टिफिकेट कोर्स जैसे…

– सर्टिफिकेट इन रेडियोलॉजी असिस्टेंट
– सर्टिफिकेट इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी
– ईसीजी असिस्टेंट
– मेडिकल लैबोरेटरी असिस्टेंट
– सर्टिफिकेट इन लैबोरेटरी टेक्नीक्स
– सर्टिफिकेट इन मेडिकल रिकॉर्ड टेक्नोलॉजी
– सर्टिफिकेट इन एनेस्थीसिया टेक्नीशियन
– सर्टिफिकेट इन सीटी स्कैन टेक्नीशियन
– सर्टिफिकेट इन एमआरआई टेक्नीशियन
– सर्टिफिकेट इन एक्स-रे टेक्नीशियन
– सर्टिफिकेट इन डेंटल मशीन टेक्नीशियन

बता दें कि सर्टिफिकेट कोर्स को शार्ट में सीएमएलटी कहां जाता है और इसका पूरा नाम सर्टिफिकेट इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी होता है। इसे करने के लिए आपको छह महीने से लेकर के एक साल तक का समय देना होता है। अधिकतर कालेज इसमें मेरिट के बेस पर ही एडमिशन देने की प्रक्रिया का पालन करते हैं, वहीं कुछ कालेज ऐसे है, जिसमें किसी भी प्रकार की मेरिट की प्रक्रिया का पालन नहीं होता है। ऐसे कालेज में आप डायरेक्ट एडमिशन प्राप्त करने की कोशिश कर सकते हैं। बता दें कि सर्टिफिकेट कोर्स की तुलना में डिप्लोमा कोर्स ज्यादा वैल्युएबल माना जाता है, परंतु अगर आप दसवीं के बाद कोई छोटा कोर्स करना चाहते हैं, तो आप इसे कर सकते हैं।

पोस्ट ग्रेजुएट कोर्स…

ऐसे विद्यार्थी जो ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी कर चुके हैं और मेडिकल लैब टेक्नीशियन का कोर्स करना चाहते हैं वह इसके दो साल के पोस्टग्रेजुएट कोर्स में शामिल हो सकते हैं। बता दें कि इसके अलावा इसमें पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स भी है, जो एक साल का होता है। पोस्ट ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट डिप्लोमा कोर्स की लिस्ट …

– एमएससी इन मेडिकल लैबोरेटरी
– एमएससी इन एक्स-रे टेक्नोलॉजी
– एमएससी इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी
– एमएससी इन ईसीजी एंड सीवीटी
– मास्टर ऑफ मेडिकल लैबोरेटरी टेक्नोलॉजी
– पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन एमएलटी
– पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन लैबोरेटरी सर्विसेज इन साइंस
– पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन बायोमेडिकल लैबोरेटरी टेक्नोलॉजी
– पोस्टग्रेजुएट डिप्लोमा इन क्लीनिकल, जेनेटिक्स एंड मेडिकल लेबोरेटरीज

12वीं के बाद डिप्लोमा …

जिस प्रकार 10वीं कक्षा पास करने के बाद आपको मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनने के लिए डिप्लोमा और सर्टिफिकेट कोर्स मिलता है, उसी प्रकार 12वीं कक्षा को पास करने के बाद आपको मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनने के लिए डिग्री और डिप्लोमा के कोर्स मिल जाते हैं, जिसे आप अपनी पसंद के हिसाब से कर सकते हैं। 12वीं के बाद मेडिकल लैब टेक्नीशियन बनने के लिए कोर्स…

– डिप्लोमा इन एक्स-रे एंड ईसीजी टेक्नोलॉजी
– डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी
– डिप्लोमा इन क्लीनिकल एनालिसिस
– डिप्लोमा इन मेडिकल लैबोरेटरी असिस्टेंट
– डिप्लोमा इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी
– डिप्लोमा इन रेडियोग्राफी टेक्नोलॉजी
– डिप्लोमा इन सीवीटी टेक्नीशियन
– डिप्लोमा इन ऑपरेशन थियेटर टेक्नोलॉजी
– डिप्लोमा इन कार्डियोवैस्कुलर टेक्नीशियन
– डिप्लोमा इन मेडिकल रिकॉर्ड टेक्नोलॉजी
– डिप्लोमा इन ईईजी लैबोरेटरी टेक्नीशियन
– डिप्लोमा इन क्लीनिकल लैबोरेटरी टेक्नीशियन

बता दें कि लैब टेक्नीशियन के कोर्स को शार्ट में डीएमएलटी कहा जाता है और इसका पूरा नाम डिप्लोमा इन मेडिकल लैब टेक्नीशियन होता है, जो कि दो साल का कोर्स होता है और इस दो साल के कोर्स में आपको छह महीने इंटर्नशिप करनी होती है, जिसमें आपको इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त होती है।

12वीं के बाद डिग्री कोर्स…

इसका छोटा नाम बीएमएलटी होता है, जिसका पूरा नाम बैचलर ऑफ मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी है। 12वीं के बाद इस कोर्स में एडमिशन पाने के बाद आपको 3 साल तक इस कोर्स की पढ़ाई करनी होती है जिसमें आखिरी 6 महीने में आपको इंटर्नशिप भी करवाई जाती है। नीचे आपको हम उन सभी मेडिकल लैब टेक्नीशियन के डिग्री कोर्स के नाम दे रहे हैं, जो आप 12वीं के बाद कर सकते हैं…

– बीएससी इन मेडिकल लैबोरेटरी टेक्नोलॉजी
– बीएससी इन मेडिकल इमेजिंग टेक्नोलॉजी
– बीएससी इन क्लीनिकल लैबोरेटरी टेक्नोलॉजी
– बैचलर ऑफ मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी
– बीएससी इन एक्स-रे टेक्नोलॉजी
– बीएससी इन ईसीजी एंड कार्डियोवैस्कुलर टेक्नोलॉजी

इस कोर्स में आप दो प्रकार से एडमिशन ले सकते हैं, जिसमें पहला तरीका यह है कि आप एंट्रेंस एग्जाम में शामिल हो और उसे पास करने के बाद एडमिशन प्राप्त करें और दूसरा तरीका यह है कि आप मेरिट के आधार पर एडमिशन ले। हर कालेज में इस कोर्स में एडमिशन देने के लिए अलग-अलग प्रक्रिया का पालन किया जाता है। इसलिए आप जिस कालेज से इस कोर्स को करना चाहते हैं, उस कालेज में एडमिशन प्रक्रिया के बारे में जानकारी हासिल कर लें।

सिलेबस

लैब टेक्नीशियन कोर्स में आपको लैब एनाटॉमी, पैथोलॉजी से लेकर लैब मैनेजमेंट के बारे में भी पढ़ाया जाता है। लैब टेक्नीशियन कोर्स में पढ़ाए जाने वाले विषय…

– एनाटॉमी
– पैथोलॉजी
– बायोकेमिस्ट्री
– फिजियोलॉजी
– माइक्रोबायोलॉजी
– लैब प्रबंधन
– पीएसएम
– एडवांस लैब मैनेजमेंट
– कम्युनिकेशन स्किल्स

इम्यूनोलॉजी

इम्यूनोलॉजी, बायोलॉजी और मेडिसिन की एक ब्रांच है, जिसमें सभी जीवों के इम्यून सिस्टम की पढ़ाई कराई जाती है। इम्यूनोलॉजी, माइक्रोबायोलॉजी का एक जरूरी हिस्सा है, क्योंकि कुछ प्रमुख खतरनाक बीमारियां जो मानव शरीर में बैक्टीरिया, वायरसऔर अन्य सूक्ष्मजीवों के कारण होती हैं। इम्यूनोलॉजी इन रोगों के लिए इलाज विकसित करने और इन बीमारियों की रोकथाम के लिए टीकाकरण पर काम करने के साथ-साथ इन जीवों से होने वाले नुकसान को रोकने में मदद करती है।

क्लीनिकल पैथोलॉजी

क्लीनिकल पैथोलॉजी एक मेडिकल स्पेशिलिटी है, जो शारीरिक तरल पदार्थ जैसे ब्लड, यूरिन, कफ की रसायन विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान, रुधिर विज्ञान और आणविक विकृति विज्ञान के आधार पर प्रयोगशाला विश्लेषण कर डिजीज का डायग्नोसिस करने में मदद करते हैं। लैब टेक्नीशियन कोर्स करने वाले छात्रों के लिए यह अध्ययन का एक महत्त्वपूर्ण क्षेत्र है।

माइक्रोबायोलॉजी

सूक्ष्म जीव विज्ञान की यह शाखा एककोशिकीय, सूक्ष्म जानवरों के समूह, वायरस, बैक्टीरिया और कवक सहित सूक्ष्मजीवों के अध्ययन को देखती है। यह अनुशासन जैव रसायन और विकृति विज्ञान के विभिन्न अनुसंधान क्षेत्रों का एक प्रमुख हिस्सा है।

बायोकेमिस्ट्री

रसायन विज्ञान का यह क्षेत्र जैविक प्रक्रिया के विभिन्न रासायनिक पहलुओं को देखता है। यह शरीर में मौजूद विभिन्न एंजाइम, प्रोटीन और अन्य रसायनों और इसकी कार्यात्मक प्रक्रियाओं का भी अध्ययन करता है।

करियर विकल्प

ऐसे विद्यार्थी जिन्होंने लैब टेक्नीशियन के कोर्स को पूरा कर लिया है और वह इस उम्मीद में है कि उनकी जल्दी से कहीं पर नौकरी लग जाए तो जल्दी नौकरी पाने के लिए उन्हें अपने आप को ऑल इंडिया मेडिकल लैबोरेट्री टेक्नोलॉजी एसोसिएशन या फिर नेशनल अकैडमीटिंग एजेंसी फॉर क्लिनिकल लैबोरेट्री साइंस में रजिस्टर करवा लेना चाहिए। इसमें रजिस्टर होने के बाद उन्हें एक सर्टिफिकेट मिलता है जो नौकरी पाने में उनके काफी काम आता है…

यहां मिलेगी जॉब

गवर्नमेंट हॉस्पिटल
प्राइवेट हॉस्पिटल
पैथोलॉजी
क्लीनिक
लैबोरेटरीज
रिसर्च सेंटर
यूनिवर्सिटीज
ब्लड डोनेशन सेंटर
फार्मास्यूटिकल कंपनियां
क्राइम इंवेस्टीगेटिंग लैबोरेटरीज
हैल्थ इंस्टीट्यूशन

ये नौकरियां

लैब टेक्नीशियन
ट्रेनर
लैब असिस्टेंट
लैब कंसल्टेंट
लैब सुपरवाइजर
लैबोरेटरी इन-चार्ज
लैबोरेटरी इनफॉर्मेशन सिस्टम एनालिस्ट
डिप्टी क्वालिटी मैनेजर
असिस्टेंट प्रोफेसर
मेडिकल लैबोरेटरी साइंटिस्ट

सीपीसीएल में 73 पद खाली

चेन्नई पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (सीपीसीएल) ने नॉन-एग्जीक्यूटिव पदों पर भर्ती के लिए योग्य और इच्छुक अभ्यर्थियों से आवेदन आमंत्रित किए हैं। सीपीसीएल के इस भर्ती अभियान में कुल ष्श्चष्द्य.ष्श.द्बठ्ठ पदों पर अभ्यर्थियों का चयन किया जाना है। सीपीसीएल के इस भर्ती अभियान संस्थान कुल 73 पदों पर योग्य अभ्यर्थियों का चयन किया जाना है। इच्छुक अभ्यर्थी आवेदन की अंतिम तिथि 26 फरवरी, 2024 है। सीपीसीएल की इस भर्ती के लिए लिखित परीक्षा दस मार्च को आयोजित की जाएगी। इस परीक्षा के एडमिट कार्ड चार मार्च 2024 को जारी किए जाएंगे।

चयन प्रक्रिया : सीपीसीएल भर्ती की लिखित परीक्षा में ऑनलाइन टेस्ट या स्किल टेस्ट या दक्षता परीक्षा या फिजिकल टेस्ट (एसपीपीटी) होगी। इसके बाद सफल अभ्यर्थियों का डॉक्यूमेंट वेरीफिकेशन होगा। एसपीपीटी में सिर्फ अभ्यर्थियों को पासिंग माक्र्स लाना होगा। ऑनलइन परीक्षा सिर्फ 120 अंकों की होगी। इस परीक्षा में सामान्य अभिरुचि में रीजनिंग जीके आदि और सबंधित विषय से 70 फीसदी प्रश्न पूछ जाएंगे। सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे। परीक्षा की अवधि दो घंटे की होगी।

आवेदन शुल्क : सीपीसीएल की इस भत्री में सामान्य, ईडब्ल्यूएस व ओबीसी वर्ग के अभ्यर्थियों को 500 रुपए जमा कराने होंगे। आवेदन शुल्क ऑनलाइन मोड से या क्रेडिट कार्ड या या नेट बैंकिंग के जरिए जमा कराया जाएग। वहीं एससी, एसटी, दिव्यांग, महिला अभ्यर्थी और एक्स सर्विसमेन को कोई शुल्क नहीं देना होगा।

इंडियन कोस्ट गार्ड में भर्तियों की भरमार

सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं, तो ये मौका आपके काम का है। इंडियन कोस्ट गार्ड ने नाविक पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। जो उम्मीदवार इन पदों पर आवेदन करना चाहते हैं वे इंडियन कोस्ट गार्ड की आधिकारिक वेबसाइट joinindian coastguard.cdac.in के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। ध्यान रहे कि आवेदन पत्र जमा करने की अंतिम तारीख 27 फरवरी है। इस भर्ती अभियान के जरिए विभाग में 260 पदों को भरा जाएगा।

आयु सीमा : इन पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 18 से 22 वर्ष के बीच होनी चाहिए। उम्मीदवारों का जन्म 1 सितंबर, 2002 से 31 अगस्त, 2006 के बीच होना चाहिए।

एकेडमिक क्वालिफिकेशन : उम्मीदवारों को काउंसिल ऑफ बोर्ड ऑफ स्कूल एजुकेशन (सीओबीएसई) द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान से मैथ और फिजिक्स के साथ 10+2 पास होना चाहिए।

आवेदन शुल्क : इस भर्ती में आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को 300/- रुपए का शुल्क देना होगा, वहीं एससी/ एसटी उम्मीदवारों को छोडक़र, जिन्हें शुल्क के भुगतान से छूट दी गई है। इस फीस को ऑनलाइन मोड के माध्यम से नेट बैंकिंग का उपयोग करके या वीजा/ मास्टर/ मेस्ट्रो/ रुपे क्रेडिट/ डेबिट कार्ड/ यूपीआई का उपयोग करके देना होगा। इस भर्ती से संबंधित अधिक जानकारी के लिए, उम्मीदवार भारतीय तट रक्षक की आधिकारिक वेबसाइट देख सकते हैं।

आईडीबीआई बैंक में नौकरी

द इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया (आईडीबीआई) ने आईडीबीआई बैंक जेएएम भर्ती 2024 के लिए नोटिफिकेशन जारी किया है। भर्ती अभियान का टारगेट आईडीबीआई में 500 जूनियर असिस्टेंट मैनेजर पदों को भरना है। योग्य उम्मीदवार इन पदों के लिए बैंक की आधिकारिक वेबसाइट  पर आवेदन कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन राउंड 26 फरवरी तक चलेगा। परीक्षा 17 मार्च, 2024 को निर्धारित की गई है।

योग्यता : आईडीबीआई जूनियर असिस्टेंट मैनेजर पद के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को अधिकारियों द्वारा तय पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा। इसमें किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या संस्थान से कम से कम 55 फीसदी नंबरों के साथ ग्रेजुएशन की डिग्री शामिल है। केवल डिप्लोमा कोर्स पास करना पात्रता मानदंड के लिए अर्हता प्राप्त नहीं माना जाएगा।

आयु सीमा : इन पदों पर आवेदन करने वाले उम्मीदवारों की न्यूनतम आयु 20 से 25 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

आवेदन शुल्क : इन पदों पर आवेदन करने वाले एससी, एसटी और पीडब्ल्यूडी कैटेगरी के लोगों को 200 रुपए का आवेदन शुल्क देना होगा। वहीं अन्य श्रेणियों के लोगों को 1000 रुपए का भुगतान करना होगा।

ऐसे करें आवेदन

– इन पदों पर आवेदन करने के लिए कैंडीडेट्स को सबसे पहले आईडीबीआई बैंक की आधिकारिक वेबसाइट द्बस्रड्ढद्बड्ढड्डठ्ठद्म.द्बठ्ठ पर जाना होगा।
– वेबसाइट के होमपेज पर आपको ‘अप्लाई ऑनलाइन का लिंक मिलेगा, उस पर क्लिक करके अपना रजिस्ट्रेशन करें। अब आपको आपकी ई-मेल पर लॉगिन आईडी और पासवर्ड मिलेंगे।
– अब इन लॉगिन आईडी और पासवर्ड से वेबसाइट पर लगिन करें।
– अब इस भर्ती के लिए अपना आवेदन फॉर्म भरें और पूरी डिटेल ध्यान से चेक कर लें।
– अब जरूरी डिटेल्स भरें और मांगे गए डॉक्यूमेंट अपलोड करें। इसके बाद आवेदन फीस पे कर दें।
– अब अपना एप्लिकेशन फॉर्म सबमिट कर दें। इसके बाद फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल लें।

कोलफील्ड्स लिमिटेड में इंजीनियर बनने का मौका

सरकारी कंपनी में नौकरी करना चाहते हैं तो ये खबर आपके काम की है। साउथ ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एसईसीएल) ने कई पदों पर भर्ती निकाली है। जिसे एसईसीएल की अप्रेंटिस पदों के लिए आवेदन करना है वे एसईसीएल की आधिकारिक वेबसाइट  के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। याद रहे कि यह भर्ती अभियान संगठन में 1425 पदों को भरेगा। आवेदन करने की अंतिम तारीख 27 फरवरी, 2024 तक है।

योग्यता : उम्मीदवार के पास ग्रेजुएट ट्रेनी के लिए 4 साल की डिग्री और टेक्नीशियन ट्रेनी के लिए इंजीनियरिंग स्ट्रीम/शाखा में 3 साल का डिप्लोमा या सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त संस्थान द्वारा दी गई समकक्ष योग्यता होनी चाहिए। उम्मीदवारों को ट्रेनी के रूप में शामिल होने की तारीख से 5 साल पहले अपनी इंजीनियरिंग डिग्री/डिप्लोमा पास नहीं करना चाहिए।

सेलेक्शन प्रोसेस : इंजीनियरिंग/डिप्लोमा में पास होने की तारीख उम्मीदवार की शॉर्टलिस्टिंग का आधार है। प्रावधिक रूप से चयनित उम्मीदवार को डाक्यूमेंट के वेरीफिकेशन और मेडिकल टेस्ट में फिट पाए जाने के बाद ही ट्रेनिंग के लिए अनुमति दी जाएगी। डाक्यूमेंट वेरीफिकेशन 15 मार्च से होगा। इसके लिए शेड्यूल वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। इस भर्ती से जुड़ी भर्ती के लिए उम्मीदवार एसईसीएल की आधिकारिक वेबसाइट देख सकते हैं।

वैकेंसी डिटेल

ग्रेजुएट अपरेंटिस : 350 पद

टेक्नीशियन अपरेंटिस : 1075 पद

सेल में 10वीं पास के लिए वैकेंसी

स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया (सेल) ट्रेड अप्रेंटिस पदों पर भर्ती के लिए योग्य व इच्छुक अभ्यर्थियों से आवेदन आमंत्रित किए हैं। सेल की ओर से जारी भर्ती विज्ञापन के अनुसर, से भिलाई की इस वैकेंसी में 10वीं और आईटीआई पास अभ्यर्थी आवेदन के पात्र हैं। वहीं कुल रिक्तियों की संख्या 649 है, जो कि अलग-अलग ट्रेड के अनुसार है। ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 22-02-2024 है।

आयु सीमा : सेल की इस भर्ती में न्यूनतम 15 वर्ष और अधिकतम 24 वर्ष के अभ्यर्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन योग्यता : सेल भर्ती में अभ्यर्थियों को 10वीं कक्षा या 12वीं कक्षा पास होने के साथ संबंधित ट्रेड में किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से आईटीआई सर्टिफिकेट या ट्रेड डिप्लोमा भी होना चाहिए। सेल ट्रेड अप्रेंटिस भर्ती की विस्तृत जानकारी दिए गए पोर्टल https://nats.education.gov.in/ ÂÚU announcement section में उपलब्ध है।

रिक्तियों का ब्यौरा

सेल की इस भर्ती में कुल 649 पदों पर अभ्यर्थियों का चयन किया जाएगा।
वेल्डर -123
इलेक्ट्रीशियन -125
फिटर -120
मशीनिस्ट -68
टर्नर -58
कोपा -65
बढ़ई -14
डिसेल मैकेनिक -15
आरएसी -13
मोटर वाहन मैकेनिक -15
मोल्डर -14
मेडिकल लैब तकनीशियन -10


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App