विधानसभा में सियासी ड्रामे के बीच ध्वनिमत से पारित हुआ बजट, 15 भाजपा विधायक निलंबित

By: Feb 28th, 2024 6:26 pm

शिमला। हिमाचल प्रदेश में हाईवोल्टेज सियासी ड्रामे और विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 15 विधायकों के बजट सत्र से निलंबन के बीच बुधवार को विधानसभा में बजट पारित हो गया। सत्तारूढ़ दल के विधायकों की क्रॉस वोटिंग के कारण पार्टी उम्मीदवार के भाजपा उम्मीदवार से राज्यसभा चुनाव हारने के बाद संकट में फंसी कांग्रेस सरकार को बजट पारित होने से काफी राहत मिली है। गौरतलब है कि राज्य की सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार से नाखुश बताये जा रहे छह कांग्रेस विधायकों ने मंगलवार को भाजपा उम्मीदवार हर्ष महाजन के पक्ष में क्रॉस वोटिंग की थी, जिसके कारण उन्हें और कांग्रेस उम्मीदवार एवं प्रसिद्ध वकील अभिषेक मनु सिंघवी को बराबर मत मिले। इसके बाद पर्ची से फैसला हुआ जिसमें श्री महाजन के सिर पर जीत का सेहरा सजा।

बजट सत्र के दौरान आज विधानसभा में भाजपा के विरोध के बाद विधानसभा अध्यक्ष कुलदीप पठानिया ने 15 भाजपा सदस्यों को शेष सत्र से निलंबित कर दिया, जिसके बाद सत्ता पक्ष ने ध्वनि मत से बजट पारित करा लिया। भाजपा सदस्यों ने पहले मत विभाजन की मांग की थी, जिसे अध्यक्ष ने खारिज कर दिया। इससे पहले, सीएम सुक्खू ने इस बात से इनकार किया कि उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है जैसा कि कुछ समाचार चैनलों द्वारा दावा किया जा रहा था। उन्होंने इसे भाजपा का ‘कुटिल साजिश’ बताया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वह एक ‘योद्धा’ हैं और अंत तक लड़ेंगे।

कांग्रेस के छह बागी और तीन निर्दलीय विधायक, जिन्होंने मंगलवार को क्रॉस वोटिंग की थी, बजट सत्र में भाग लेने के लिए कड़ी सुरक्षा के बीच राज्य की राजधानी पहुंचे और बाद में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की सुरक्षा में भाजपा शासित हरियाणा के पंचकुला वापस चले गए। सर्वश्री राजीव शुक्ला, दीपेंद्र सिंह हुडा और डीके शिव कुमार सहित वरिष्ठ कांग्रेस पर्यवेक्षक भी पार्टी आलाकमान को अपनी रिपोर्ट सौंपने से पहले पार्टी के विधायकों के साथ आमने-सामने की बैठक के लिए शिमला में हैं।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App