विशेष

Kangra Airport : एयरपोर्ट प्रभावितों की मांगों का ड्राफ्ट तैयार, अब सरकार से ओके का है इंतजार

By: Feb 20th, 2024 9:35 pm

प्रशासन ने फाइनल की रिपोर्ट, सरकार से मंजूरी मिलते ही आगे की प्रक्रिया पकड़ेगी रफ्तार

दिव्य हिमाचल ब्यूरो-धर्मशाला

कांगड़ा हवाई अड्डे के विस्तार के लिए चल रही प्रारंभिक प्रशासनिक प्रक्रिया पूरी हो गई है। हवाई अड्डा प्रभावितों की मांगों का ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया है। इसी का नतीजा है कि प्रशासन ने जनसुनवाई के दौरान लोगों के जो सुझाव और आपत्तियां आई हैं और उन पर आगामी क्या संभावनाएं हैं, इसको लेकर रिपोर्ट तैयार कर ली है। डीसी व डिविजनल कमीश्रर की ओके के बाद अब ड्राफ्ट सरकार की ओके को भेजा जा रहा है। ऐसे में अब सरकार से ओके होते ही आगामी कार्रवाई शुरू हो जाएगी।

प्रदेश सरकार राहत एवं पुर्नवास के लिए भी गंभीरता से काम कर रही है। यही वजह है कि आर एंड आर की रिपोर्ट को बेहतर व प्रभावितों के हित में तैयार करने के लिए विशेष हिदायतें दी गई हैं। ऐसे में अब सरकार से फाइनल अनुमति मिलने के बाद संबंधित क्षेत्र की अंतिम अधिसूचना को पब्लिश करके आगामी प्रक्रिया शुरू की जाएगी। सरकार ने कांगड़ा को पर्यटन राजधानी बनाने का ऐलान किया है। ऐसे में सरकार अब पर्यटन की संभावनाओं को देख रही है।

फ्लाइट्स बढऩे से किराया कम

सुरक्षा एवं पर्यटन की दृष्टि से महत्त्वपूर्ण एयरपोर्ट विस्तार को कनेक्विटी बढ़ाने का भी बढ़ा माध्यम माना जा रहा है। यहां पर अधिक संख्या में फ्लाइट आएंगी, तो हवाई किराए में भी कमी आएगी और लोगों को आने-जाने मे काफी सुविधा मिलेगी। इस लिहाज से यहां पर सैलानियों की आमद बढऩे से स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे।

यह गांव अड्डे की जद में

कांगड़ा एयरपोर्ट विस्तारीकरण के दौरान कांगड़ा और शाहपुर उपमंडल के कुछ गांवों की भूमि का अधिग्रहण किया जाना है। इसमें बाग, बरस्वालकड़, बल्ला, भेड़ी, ढुगियारी खास, गगल खास, झिकली इच्छी, मुगरेहड़, सहौड़ा, सनौरा, रछियालु, जुगेहड़, भड़ोत और कियोड़ी गांव की कुछ भूमि विस्तारीकरण की जद में आएगी।

1200 परिवारों की जमीन अधिग्रहण

एयरपोर्ट के विस्तार के लिए 14 गांवों से लगभग 1200 परिवारों की जमीन अधिग्रहण की जानी है। प्रदेश सरकार की ओर से की गई अधिसूचना में 1200 परिवारों की जमीन का ब्यौरा भी दिया जा चुका है। अधिग्रहण के लिए सरकार ने 14 गांवों की सरकारी और निजी करीब 147 हेक्टेयर (करीब 3847 कनाल) जमीन चयनित की है। इसमें 123 हेक्टेयर निजी और 24 हेक्टेयर सरकारी भूमि चयनित है।

सरकार को भेजी आपत्तियों-सुझावों की रिपोर्ट

उपायुक्त कांगड़ा हेमराज बैरवा ने बताया कि एयरपोर्ट से प्रभावित होने वाले लोगों के लिए राहत एवं पुर्नवास संबंधी रिपोर्ट तैयार की गई है। सरकार को भेजे जाने वाली रिपोर्ट में जनसुनवाई के दौरान लोगों द्वारा पेश की गई आपत्तियों और सुझावों को भी कंपाइल किया गया है। सारी रिपोर्ट तैयार कर प्रदेश सरकार को भेजी जा रही है। प्रदेश सरकार से जो गाइडलाइन आएंगी, उसे फोलो कर आगे की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App