देश सेवा के बाद खेती को बनाया आजीविका

By: Apr 20th, 2024 12:54 am

कौलापुर के सूबेदार मेजर नरेश चंद ने पांच से सात कनाल भूमि में उगाई सब्जियां
स्टाफ रिपोर्टर-गरली
ब्लॉक खंड परागपुर के अंतर्गत ग्राम पचायत कौलापुर के आर्मी से रिटायर सूबेदार मेजर नरेश चंद शर्मा ने 22 वर्षों तक लगातार सरहद पर देश की सेवा करने के बाद खेती को अपनी आजीविका बना लिया। 31 जनवरी 2012 में सेना से रिटायर होने के पश्चात किसान बने सूबेदार मेजर नरेश चंद शर्मा ने सब्जी उत्पादन व हवा में सेब आदि के पेड़ उगाकर खेतीबाड़ी में बड़ी-बड़ी उपलब्धियां हासिल की हैं। नरेश चंद शर्मा ने अपनी पांच से सात कनाल भूमि मे कई तरह की मौसमी व बेमौसमी सब्जियां उगाकर क्षेत्रभर में एक मिसाल कायम की है।

इसके अलावा रिटायर सैनिक नरेश शर्मा समय-समय पर संतरा, सेब, देशी व विदेशी निंबू, सीताफल, कटहल, केला सहित आम की भिन्न-भिन्न बैराइटी तैयार कर रहे हैं। बचपन से ही खेतबाड़ी का शौक रखने वाले रिटायर सैनिक नरेश चंद शर्मा ने कहा कि बागीचे में जब भी सब्जी या अन्य फल आदि की फसल तैयार होती है तो सबसे पहले अपने आस पड़ोस के लोगों को नि:शुल्क बाटनें के पश्चात यहां बाहर से आने वाले व्यापारियों को बेची जाती है। नरेश चंद शर्मा ने बताया कि यहां अपने बागीचे में पैदा की गई सब्जी और फलों से हर वर्ष एक से दो लाख रुपए की आमदनी होती है।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App