खत्म नहीं होगा आरक्षण, राजस्थान में गरजे मोदी

By: Apr 23rd, 2024 1:36 pm

टोंक। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर तुष्टिकरण एवं वोट बैंक की राजनीति करने और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति आरक्षण में कमी कर मुसलमानों को आरक्षण देने का प्रयास करने का आरोप लगाया। पीएम मोदी ने खुले मंच से गारंटी दी कि दलितों, पिछड़ों, आदिवासियों का आरक्षण न कभी खत्म होगा और नही ही धर्म के नाम पर इसे बांटने दिया जाएगा। पीएम मोदी टोंक जिले के उनियारा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रत्याशी सुखबीर सिंह जौनपुरिया के समर्थन में आयोजित जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की सोच हमेशा तुष्टिकरण एवं वोट बैंक की राजनीति करने की रही है और वर्ष 2004 में केन्द्र में जब उसकी सरकार बनी तब उसका सबसे पहले काम आंध्र पद्रेश में अनुसूचित एवं अनूसूचित जनजाति के आरक्षण में कमी करने का प्रयास था। यह उनका एक पायलट प्रोजेक्ट था जिसे पूरे देश में आजमाना चाह रहे थे।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2004 से 2010 के बीच आंधप्रदेश में चार बार मुस्लिम आरक्षण लागू करने की कोशिश की गई, लेकिन सुप्रीम कोर्ट की जागरुकता के कारण इनके मंसूबे पूरे नहीं हो पाए। वर्ष 2011 में इसे पूरे देश में लागू करने की कोशिश की गई। उन्होंने कहा कि दलितों, पिछड़ों एवं आदिवासियों से आरक्षण छीनकर वोट बैंक की राजनीत के लिए इसे ओरों को देने का प्रयास किए गये जो संविधान की मूल भावना के खिलाफ था। उन्होंने कहा कि जब कनार्टक में भाजपा की सरकार आई और हमें काम करने का मौका मिला तो पहला काम किया गया कि एसी-एसटी से छीनकर जो आरक्षण कोटा निकाला गया था उसे खत्म कर दिया गया और जिसका हक था उसे सुरक्षित रखा गया। इससे देश में कांग्रेस के लोग आग बबूला हो गए और कहा गया कि मोदी समझता क्या अपने आप को। पीएम मोदी ने कहा कि मोदी संविधान को समझता है, वह उसकी पूजा करने वाला व्यक्ति है।

पीएम मोदी ने कहा कि सच्चाई यह है कि कांग्रेस और उसका गठबंधन जब सत्ता में थे तो ये लोग दलितों एवं पिछड़ों के आरक्षण में सेंधमारी करके वोट बैंक की राजनीति के लिए उनकी खास जमात को अलग से आरक्षण देना चाहते थे जबकि संविधान इसके बिल्कुल खिलाफ है। आरक्षण जो बाबा साहेब ने दलितों, पिछड़ों और आदिवासियों को दिया था उसे कांग्रेस और उसके गठबंधन ने उसे मजहब के आधार पर मुसलमानों को देना चाहते थे। उन्होंने कांग्रेस से सवाल करते हुए कहा कि क्या वह ऐलान करेगी कि संविधान में जो दलितों, पिछड़ों एवं आदिवासियों को आरक्षण दिया गया है उसे कम करके मुसलमानों को नहीं देंगे। क्या देश के साथ यह वादा करेगी।

उन्होंने दो दिन पहले अपने राजस्थान दौरे के दौरान दिए गए भाषण का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने उस दौरान सत्य देश के सामने रखा, जिससे कांग्रेस और उसके गठबंधन में भगदड़ मच गई। पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने भाषण में कहा था कि कांग्रेस आपकी संपत्ति छीन कर उसके खास लोगों को बांटने की गहरी साजिश रची बैठी है। जब तुष्टिकरण की राजनीति का पर्दाफाश किया गया तो कांग्रेस को मिर्ची लगी और इसके बाद हर तरफ मोदी को गालिया देने में लग गए। उन्होंने कहा “ कांग्रेस से जानना चाहते हैं कि आखिर कांग्रेस सच्चाई से डरती क्यों है, नीतियों को छिपाने में क्यों लगी है, आपका एजेंडा बाहर आ गया है तो कांप रहे हो, हिम्मत है तो स्वीकार करो, हम मुकाबला करने के लिए तैयार हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश को साफ बताना चाहता हूं कि कांग्रेस वोट बैंक के दलदल में इतना फंसी हुई है कि उसे बाबा साहब के संविधान की परवाह ही नहीं हैं और उनके नेता कह रहे हैं कि देश में पूरा एक्सरा किया जाएगा और जिसकी संपत्ति जरूरत से ज्यादा होगी उसे जब्त कर लोगों को बांटा जाएगा। पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने संविधान के साथ किस प्रकार खिलवाड़ की कोशिश की है। जब कांग्रेस की सरकार थी तब प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने अपने बयान में कहा था कि मुसलमानों का देश की संपत्ति पर पहला हक है। कांग्रेस की सोच हमेशा तुष्टिकरण एवं वोट बैंक की राजनीति की रही है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि वर्ष 2014 में जनता ने उन्हें दिल्ली में सेवा करने का अवसर दिया और इसके बाद देश ने वो फैसले लिए जिसकी किसी ने कल्पना ही नहीं की थी। उन्होंने कहा कि अगर 2014 के बाद और आज तक दिल्ली में कांग्रेस की सरकार होती तो क्या क्या हुआ होता। कांग्रेस होती तो जम्मू कश्मीर में सेना पर पत्थर चलते होते, सीमा पार से दुश्मन आकर हमारे जवानों के सिर काटकर ले जाते और कांग्रेस सरकार कुछ नहीं करती। वह होती है तो फौजियों को वन रैंक वन पेंशन लागू नहीं होती और पूर्व सैनिकों को एक लाख करोड़ रुपए नहीं मिलते, वह होती तो देश में आए दिन कोने कोने में सीरियल बम धमाके हाते ही रहते और निर्दोष लोग मरते ही रहते।

उन्होंने कहा कि कांगेस ने तो राजस्थान में बम धमाके के दोषियों को बचाने का घोर पाप भी किया हैं। वह होती तो कोरोना के समय न मुफ्त राशन और न ही मुफ्त वैक्सीन मिलती, देश में महंगाई से हाहाकार मचा होता और कांग्रेस पार्टी देश के मुसीबत में भी भ्रष्टाचर के नए मौके तलाशती रहती। उन्होंने राजस्थान के लोग कुछ महीने पहले ही कांग्रेस के पंजे से मुक्त हुए हैं। कांग्रेस ने सत्ता मे रहते हुए जो जख्म दिए है राजस्थान के लोग उन्हें कभी भूल नहीं सकते। कांग्रेस ने महिलाओं के अत्याचार के मामले में राजस्थान को नम्बर एक बना दिया था। उन्होंने कहा कि दुर्भाग्य है कि कांग्रेस के लोग बेशर्मी विधानसभा में कहते थे कि यह तो राजस्थान की पहचान हैं। डूब मरना चाहिए, यह शेभा नहीं देता।

पीएम मोदी ने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार आने पर अब श्री भजनलाल शर्मा को सेवा का मौका मिला हैं और जब उसकी टीम काम पर लगी है तो माफिया एवं अपराधी राजस्थान छोड़कर भागने पर मजबूर हैं। पेपर लीक पर डंडा चलने पर यह ठंडा पड़ गया हैं जबकि अभी भाजपा सरकार को तीन-चार महीने ही हुए हैं। भजनलाल सरकार की गाड़ी अभी तो चलना शुरु ही हुई है अभी टोप गियर में आना तो बाकी हैं। उन्होंने कहा कि हनुमान जयंती के अवसर उन्हें कर्नाटक में कांग्रेस के शासन की एक तस्वीर याद आ रही है कि कर्नाटक में एक छोटे दुकानदार को इसलिए पीटा गया कि वह दुकान में बैठे बैठे हनुमान चालीसा सुन रहा था, यह कर्नाटक सरकार का काम था। कांग्रेस के शासन में हनुमान चालीसा सुनना भी गुनाह हो जाता है, अपनी आस्था का पालन करना भी मुश्किल हो जाता है। कांग्रेस पार्टी के नेताओं ने जब राममंदिर में प्राण प्रतिष्ठा के निमंत्रण को ही ठुकरा दिया तो ऐसे में उनके लोग तो हनुमान चालीसा करने वालों के साथ ऐसा ही व्यवहार करेंगे।

उन्होंने कहा कि राजस्थान में भाजपा की सरकार आने के बाद रामनवमी पर पहली बार शांति से शोभा यात्रा निकली हैं। सुबह की पहली किरण के साथ सुबह उठते ही लोग राम राम सा कहते हैं, ऐसे प्रदेश में पहले तो रामनवमी पर प्रतिबंध लगा दिया था। हमारे डा किरोड़ी लाल मीणा इस मुद्दे पर लड़ाई लड़ते थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने तुष्टिकरण के लिए मालपुरा, करौली, छबड़ा, टोंक एवं जोधपुर को दंगों की आग में झौंक दिया था। ऐसे लोगों को माफ नहीं किया जाना चाहिए। अब भाजपा सरकार आने के बाद किसी की हिम्मत नहीं हैं कि किसी की आस्था पर सवाल उठा दे। उन्होंने कहा कि अब हनुमान चालीसा भी गाएंगे और रामनवमी भी मनाएंगे, यह भाजपा की गारंटी हैं।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार ने प्रदेश को पानी से भी वंचित रखा पीने के पानी के लिए किए प्रयासों में रोड़ा अटकाया। उसने पूर्वी राजस्थान नहर परियोजना ( ईआरसपी) को अटकाया। लेकिन भजन लाल सरकार ने तीन महीने में ही इसे पास कर दिया जिसका टोंक- सवाईमाधोपुर को लाभ मिलने वाला है, यहां के किसानों को लाभ होगा। उन्होंने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाया और कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान बीते दिनों में अलग अलग क्षेत्रों में उन्हें जाने का मौका मिला और उन्हें सभी क्षेत्रों से जनता का आर्शीवाद मिला है। उन्होंने इस मौके अधिक से अधिक मतदान करने की अपील भी की। उन्होंने कहा “जनता का यह आर्शीवाद मेरी पूंजी है और उनके सपने मेरे सपने हैं। मेरा हर पल हर क्षण देश के लिए हैं, इसलिए चौबीस घंटे काम कर रहा हूं अब तक किया है वह तो केवल ट्रेलर है अभी बहुत कुछ करना है। ”

पीएम मोदी ने कहा कि राजस्थान ने सदियों से सीमा पर खड़े मजबूत प्रहरी की तरह देश की रक्षा की हैं और यहां के लोग बखूबी जानते है कि सुरक्षित राष्ट्र और स्थाई सरकार कितनी जरुरी होती है। चाहे 2014 या 2019 हो राजस्थान ने एकजुट होकर भाजपा की सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद दिया है और सभी 25 सीटें देकर भाजपा की झोली भरी है। एकजुटता ही, एकता ही राजस्थान की सबसे बड़ी पूंजी है, याद रखियेगा कि जब जब हम बंटे हैं तब तब देश के दुश्मनों ने फायदा उठाया हैं। अभी भी राजस्थान एवं यहां के लोगों को बांटने की पूरी काशिश हो रही है, इससे राजस्थान को सावधान रहने की जरुरत है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री भजन लाल शर्मा ने भी जनसभा को संबोधित किया।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App