डीजीपी की ताजपोशी को कदमताल शुरू

By: Apr 19th, 2024 12:01 am

12 दिन बाद कौन संभालेगा पद, संजीव रंजन ओझा-श्याम भगत नेगी-अतुल वर्मा पर चर्चा

स्टाफ रिपोर्टर — शिमला

हिमाचल पुलिस के नए डीजीपी को लेकर सचिवालय में कदमताल शुरू हो गई है। प्रदेश सरकार के उच्चाधिकारी डीजीपी के पद के लिए पुलिस अधिकारियों का पैनल तैयार करने में जुट गए हैं। 12 दिन बाद पुलिस विभाग में नए डीजीपी को तैनात किया जाना है। इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा डीजीपी के पद के लिए पुलिस अधिकारियों के नाम का पैनल बनाकर यूपीएससी को भेजा जाएगा। यूपीएससी से मंजूरी मिलने के बाद पैनल में शामिल अधिकारियों में किसी एक अधिकारी को डीजीपी के पद पर नियुक्ती दी जाएगी। 12 दिन बाद पुलिस महानिदेशक संजय कुंडू 30 अप्रैल को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इसके बाद हिमाचल पुलिस का नया डीजीपी कौन होगा, इसको लेकर चर्चाएं शुरू हो गई हैं। डीजीपी के पद पर ताजपोशी के लिए आईपीएस अधिकारी संजीव रंजन ओझा, श्याम भगत नेगी और अतुल वर्मा के नाम पर डीजीपी के पद पर तैनात किए जाने की चर्चाएं चल रही हैं। हिमाचल कैडर के पुलिस अधिकारियों की बात करें, तो इनमें वरिष्ठतम पुलिस अधिकारी 1988 बैच के तपन कुमार डेका हैं। डीजीपी संजय कुंडू 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं।

डीजीपी संजय कुंडू 30 अप्रैल, 2024 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं। तपन डेका केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर हैं और उच्च पद पर आसीन हैं। डीजीपी की रेस में आईपीएस अधिकारी संजीव रंजन ओझा और श्याम भगत नेगी का नाम सबसे आगे है। संजीव रंजन ओझा 1989 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं। वह केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से लौट चुके हैं और संजय कुंडू के बाद वरिष्ठता में सबसे आगे हैं। ओझा के बाद 1990 बैच के आईपीएस अधिकारी श्याम भगत नेगी हैं, जो केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर ही हैं। उनके बाद 1991 बैच के आईपीएस अधिकारी अतुल वर्मा हैं। वह भी केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से लौट चुके हैं। डीजीपी की तैनाती के लिए 30 वर्ष का सेवाकाल जरूरी है। डीजीपी के पद के लिए आईपीएस अधिकारी संजीव रंजन ओझा और हिमाचली मूल आईपीएस अधिकारी श्याम भगत नेगी का नाम सबके जहन में चल रहा है।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App