विशेष

Himachal Election: अब तक तीन महिलाओं ने लांघी लोकसभा की दहलीज

By: May 21st, 2024 12:01 am

मंडी से पहली महिला अमृत कौर; तीन बार प्रतिभा सिंह जीतीं, कांगड़ा से चंद्रेश रहीं सांसद, कांगड़ा की जनता ने सिर्फ एक बार महिला सांसद के हाथों सौंपी कमान

नरेन कुमार — धर्मशाला

हिमाचल प्रदेश में अब तक मात्र तीन ही महिलाएं लोकसभा की सांसद रही हैं। इनमें राजकुमारी अमृतकौर 1952 में मंडी, चंद्रेश कुमारी 1984 में कांगड़ा व प्रतिभा सिंह मंडी से 2004, 2013 व 2021 के उपचुनावों में सांसद बनी थीं। वहीं, इस बार भी हिमाचल की चार लोकसभा सीटों से मात्र तीन ही महिला उम्मीदवार मैदान में उतरी हैं। इनमें मंडी से भाजपा की कंगना रानौत, कांगड़ा से बसपा की रेखा चौधरी और मंडी से ही आजाद के रूप में राखी गुप्ता चुनावी मैदान में उतरी हैं, जबकि शिमला व हमीरपुर से एक भी महिला प्रत्याशी चुनाव मैदान में नहीं है। कांगड़ा लोकसभा क्षेत्र में जनता ने मात्र एक बार ही 1984 में महिला सांसद के हाथों में कमान सौंपी है। कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस ने तीन बार महिला उम्मीदवार को टिकट सौंपा है, जबकि बीजेपी ने अब तक एक बार भी महिला उम्मीदवार पर दांव नहीं खेला है। कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस की चंद्रेश कुमारी ने तीन बार चुनाव लड़े हैं, जिसमें 1984 में एक बार विजय रही हैं। चंद्रेश कुमारी के अलावा वर्ष 1971 से वर्ष 2019 तक के आम चुनावों में अन्य राजनीतिक दलों ने महिलाओं पर विश्वास कम ही जताया है, जबकि दो महिला उम्मीदवारों ने आजाद प्रत्याशी के रूप में मैदान में उतरने का दम दिखाया था।

हालांकि अब केंद्र सरकार की ओर से 33 फीसदी आरक्षण का प्रस्ताव पारित कर दिया गया है, लेकिन इससे प्रावधानों को जनगणना के बाद ही लागू किए जाने की बात कही गई है। कांगड़ा-चंबा संसदीय सीट के आंकड़ों पर नज़र दौड़ाई जाए, तो वर्ष 1984 में पहली बार कांग्रेस की ओर से महिला उम्मीदवार के रूप में चंद्रेश कुमारी कटोच मैदान में उतरी थी, और पहले ही चुनाव में विजेता बनी थी। इसके बाद लगातार उन्होंने दो बार चुनाव लड़ा, जिसमें उन्हें हार झेलनी पड़ी थी। चंद्रेश कुमारी को वर्ष 1989 में भाजपा के शांता कुमार से और 1991 में बीजेपी के ही डीडी खनौरिया से हार झेलनी पड़ी थी। इसके बाद 1996 के आम चुनावों में निर्मला देवी आजाद उम्मीदवार के रूप में मैदान में उतरीं। 2009 के चुनावों में निर्मला शर्मा बतौर आजाद उम्मीदवार, 2014 में आरती सोनी शिवसेना व प्रवेश यादव समाजवादी पार्टी के रूप में चुनाव में उतरी थीं। वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों में मात्र एक महिला उम्मीदवार निशा कटोच मैदान में उतरीं, लेकिन इन सभी उम्मीदवारों को जनता का आशिर्वाद नहीं मिल पाया। इनमें से मात्र एक ही बार 1984 में चंद्रेश कुमारी कटोच को कांगड़ा-चंबा की जनता ने चुनकर दिल्ली भेजा था। इसके अलावा राज्य भर से मात्र मंडी से ही राजकुमारी अमृत कौर व प्रतिभा सिंह विजेता बनी हैं। हालांकि राज्यसभा में हिमाचल से अन्य महिलाएं सांसद रही हैं।

कांगड़ा संसदीय सीट से अब तक ये रहे सांसद

वर्ष नाम पार्टी
1952 हेमराज कांग्रेस
1957 दलजीत सिंह कांग्रेस
1962 हेमराज कांग्रेस
1967 हेमराज कांग्रेस
1971 विगिम चंद महाजन कांग्रेस
1977 कंवर दुर्गा चंद जनता पार्टी
1980 विगिम चंद महाजन कांग्रेस
1984 चंद्रेश कुमारी कांग्रेस
1989 शांता कुमार भाजपा
1991 डीडी खनौरिया भाजपा
1996 सत महाजन कांग्रेस
1998 शांता कुमार भाजपा
1999 शांता कुमार भाजपा
2004 चंद्र कुमार कांग्रेस
2009 राजन सुशांत भाजपा
2014 शांता कुमार भाजपा
2019 किशन कपूर भाजपा


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App