फॉरेस्ट गार्ड की नौकरी के नाम पर दो युवकों से लाखों की ठगी, आरोपी गिरफ्तार

By: May 15th, 2024 5:33 pm

स्टाफ रिपोर्टर-शिमला

शिमला में वन विभाग में फॉरेस्ट गार्ड की नौकरी लगवाने के नाम पर एक शातिर ने दो युवकों को ठगी का शिकार बना लिया। शातिर ने युवकों से आठ लाख 63 हजार रुपए की राशि ठगी है। ठगी का शिकार हुए पीड़ित युवकों ने आरोपी के खिलाफ पुलिस थाना न्यू शिमला में शिकायत दर्ज करवाई है। वहीं, पुलिस ने पीड़ित युवकों की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान किन्नौर निवासी दिलीप सिंह नेगी के रूप में हुई है। आरोपी न्यू शिमला क्षेत्र में एक किराए के मकान में रह रहा था। वहीं, ठगी का शिकार हुए दोनों पीड़ित युवक निशांत और रितिक रोहड़ू उपमंडल के चिडग़ांव के रहने वाले हैं।

जानकारी के अनुसार निशांत और रितिक सरकारी नौकरी के लिए प्रयास कर रहे थे। दोनों युवकों की मुलाकात आरोपी दिलीप सिंह नेगी से हुई थी। दिलीप सिंह नेगी पर आरोप है कि उसने युवकों से वन विभाग में जान पहचान होने की बात कहकर निशांत और रितिक को फारेस्ट गार्ड के पद पर नौकरी लगवाने का झांसा दिया। इसके लिए आरोपी ने पैसों का इंतज़ाम करने को कहा। दोनों पीड़ित युवक भी शातिर की बातों में आ गए। आरोपी ने दोनों को फारेस्ट गार्ड का फर्जी अपॉइंटमेंट लैटर देकर आठ लाख 63 हज़ार रुपए हड़प लिए। नौकरी के अपॉइंटमेंट लैटर फ़र्ज़ी निकलने पर पीड़ित दोनों युवकों को ठगी का अहसास हुआ और उन्होंने न्यू शिमला पुलिस थाना में आरोपी की शिकायत की। जिसके बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

उधर, एसपी शिमला संजीव गांधी का कहना है कि पुलिस ने पीड़ित युवकों की शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ धारा 420 व 467 आईपीसी के तहत केस दर्ज कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। एसपी ने बताया कि पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर आगामी कार्रवाई शुरू कर दी है। एसपी संजीव गांधी ने कहा कि आरोपी से पूछताछ में ठगी मामले से जुड़े कई अहम खुलासे हो सकते हैं, जिसके बाद ओर भी गिरफ्तारियां हो सकती हैं।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App