जब अमरीका के दो बंदर पहुंच गए अंतरिक्ष

By: May 28th, 2024 11:58 am

28 मई का इतिहास

कंपीटिशन के दौर में आज का युवा बेहतर भविष्य की कल्पना कर रहा है। कोई अफसर बनना चाहता है, तो कोई इंजीनियर। कोई शिक्षक बनना चाहता है, तो कोई सरकारी नौकर। कामयाबी किसी भी क्षेत्र में हो, मौजूदा दौर में युवाओं को प्रतियोगी परीक्षाओं से गुजरना ही होगा। पीरक्षाओं का लेवल उच्च स्तर पर पहुंच गया है। इसी कड़ी में हम आपके लिए लाए हैं भारतीय एवं विश्व इतिहास से जुड़ी अहम जानकारियां, जिनसे जुड़े सवाल प्रतियोगी परीक्षाओं में अकसर पूछे जाते हैं, तो आइए जानते हैं 28 मई का इतिहास…

1414-खिज्र खान ने दिल्ली की सल्तनत पर कब्जा किया और सैयद वंश के शासन की नींव रखी।

1883-हिंदुत्ववादी नेता और कवि विनायक दामोदर सावरकर का जन्म।

1908-जासूसी उपन्यास जेम्स बॉन्ड के लेखक इयान फ्लेमिंग का जन्म।

1923-दक्षिण भारत के सबसे लोकप्रिय नामों में शुमार नंदमुरि तारक रामाराव का जन्म। फिल्मों में अपार सफलता हासिल करने के बाद एनटीआर ने राजनीति का रूख किया और तीन बार आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री की कुर्सी संभाली।

1934-कनाडा के ओंटारियो में ओलिवा और एल्जायर डिओन के यहां पांच बच्चों ने जन्म लिया। इतिहास में यह पहला मौका था, जब एक साथ पैदा हुए यह पांचों बच्चे जीवित रहे।

1959-दो अमरीकी बंदरों ने अंतरिक्ष की सफल यात्रा की। 28 मई, 1959 को नासा ने मिस बेकर और मिस एबल नामक दो बंदरों को स्पेस में भेजा। यह नासा की बड़ी सफलता थी। इस घटना के बाद मिस एबल की सर्जरी के दौरान मौत हो गई थी। यात्रा के दौरान इन बंदरों की सेहत बिगड़ गई थी

1961-मानव अधिकारों के संरक्षण और दुनिया को इनके बारे में जागरूक करने के इरादे से लंदन में एमनेस्टी इंटरनेशनल की स्थापना की गई। इसे 1977 में नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

1970-ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस का औपचारिक तौर पर विभाजन हुआ।

1989-मारथाकवली डेविड भारत की पहली और विश्व की दूसरी महिला ईसाई पादरी बनीं।

1996-प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस्तीफा दिया।

1996-रूस चेचेन्या को अधिकतम स्वायत्तता देने पर सहमत हुआ।

1998-पकिस्तान ने पांच भूमिगत परमाणु परीक्षण किए। इससे महज़ एक सप्ताह पहले भारत ने इसी तरह के परमाणु परिक्षण किए थे।

2008-नेपाल में 240 सालों से चली आ रही राजशाही का अंत।

2012-प्रसिद्ध अभिनेता सुरेश चटवाल का निधन।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App