भाजपा का सिपहसालार, धवाला या होशियार, कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बनी देहरा की सीट

By: Jun 11th, 2024 12:08 am

लोकसभा चुनाव हार चुकी कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बनी देहरा की सीट

पवन कुमार शर्मा — धर्मशाला

प्रदेश की सता में अहम रोल अदा करने वाले कांगड़ा जिला के देहरा में विधानसभा के उपचुनाव का ऐलान होते ही सियासी पारा चढ़ गया है। कांग्रेस व भाजपा ने चुनावों की घोषणा के साथ ही तैयारियां शुरू कर दी हैं। कांग्रेस के पास सर्वसम्मत नेता डा. राजेश शर्मा हैं, तो भाजपा ने पूर्व विधायक होश्यिार सिंह को पार्टी में शामिल कर लिया है। हालांकि यहां पूर्व मंत्री रमेश धवाला पहले ही अपने तेवर दिखा चुके हैं। कभी भाजपा को सत्ता में लाने वाले रमेश धवाला को पहले ज्वालामुखी से देहरा भेजा और अब देहरा से टिकट कटता है, तो वह सियासी रूप से बेघर हो जाएंगे। ऐसे में भाजपा के समक्ष इन दोनों के बीच समन्वय बनाना बड़ी चुनौती होगी। हालांकि भाजपा हमीरपुर के समीरपुर और ऊना के कुटलैहड़ और गगरेट में मिली हार के बाद इन सीटों को गंवाना नहीं चाहेगी, पर बीजेपी के लिए राह आसान नहीं होगी। उधर, कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ चुके डा. राजेश शर्मा ने अब देहरा में अपना सियासी अड्डा जमा लिया है।

अपना कारोबार देहरा में शुरू करने के साथ-साथ डा. राजेश वहां के लोगों के सुख-दुख में शामिल होते रहते हैं। ऐसे में कांग्रेस के पास वहां पर सर्वसम्मत नेता के रूप में डा. राजेश शर्मा मौजूद हैं। कांग्रेस पार्टी देहरा की सीट पर कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है, क्योंकि कांगड़ा में लोकसभा की सीट बड़े मार्जिन से हारने के साथ ही कांग्रेस कांगड़ा जिला के मुख्यालय धर्मशाला में हुए उपचुनाव को भी हार चुकी है। ऐसे में अब कांगड़ा में एक और हार कांग्रेस कभी नहीं चाहेगी। यही वजह है कि भाजपा व कांग्रेस के लिए प्रतिष्ठा का सवाल बन चुकी इस सीट को दोनों ही दल हर हाल में जीतना चाहते हैं। इसके चलते यहां पर सियासी जंग रोचक हो गई है।

यहां सीएम के ससुराल

देहरा में 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को 26,665 की लीड मिली थी, जबकि इस बार यह लीड 15,317 की है। देहरा में मुख्यमंत्री सुक्खू का देहरा में ससुराल भी है। यहां से कांग्रेस पार्टी व सरकार बड़ा दांव खेलते हुए चुनाव में उतरेगी।

डा. राजेश को ही टिकट

देहरा सीट पर भी बीजेपी 2022 में अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाई थी। होशियार सिंह निर्दलीय चुनाव जीते थे और कांग्रेस से डा. राजेश शर्मा ने दूसरे स्थान पर अपनी जगह बनाई थी। डा. राजेश इस वक्त कांग्रेस के कोषाध्यक्ष भी हैं और देहरा जहां कांग्रेस का वोट बैंक लगभग खत्म हो गया था, वहां डा. राजेश ने बेहतर प्रदर्शन किया था। ऐसे में माना जा रहा है कि कांग्रेस यहां पर डा. राजेश को ही मैदान में दोबारा उतारेगी।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App