अब एक बटन दबाकर आसानी से करें फसलों की सिंचाई

By: Jun 16th, 2024 12:54 am

ड्रिप इरीगेशन स्कीम से किसानों को मिलेगी बड़ी राहत, 80 फीसदी मिलेगी सबसिडी

दिव्य हिमचाल व्यूरो—ऊना
सिंचाई अच्छे से होगी तो फसल की पैदावार भी बढिय़ा होगी। किसान फसल की सिंचाई के लिए तरह-तरह की तकनीकों को अपनाता है, लेकिन अब प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (ड्रिप इरीगेशन स्कीम) के तहत किसान बटन दबाकर आसानी से अपनी फसलें सिंचित कर पाएगा। ड्रिप इरीगेशन सिंचाई स्कीम एक ऐसी विधि है, जिसमें फसल को पानी बूंद-बूंद के रूप में सीधा जड़ों तक पहुंचता है। पौधे की जड़े धीरे-धीरे पानी को सोखती है। इस तकनीक से पानी की बचत तो होती है, वहीं पौधे को पाईप के जरिए घुलनशील उर्वरक (खाद) भी दी जा सकती है। यहीं नहीं, ड्रिप इरीगेशन स्कीम से किसान का समय बचेगा और लेबर आदि के झंझट से भी किसान को छुटकारा मिलेगा। जल की कमी वाले क्षेत्रों के लिए यह स्कीम काफी उपयुक्त है।

कम पानी से फसलों को आसानी से सिंचित किया जा सकता है। इससे न ही फसल को अधिक पानी मिलेगा और न ही कम, क्योंकि फसल के लिए अधिक पानी भी और कम पानी भी हानिकारक होता है। ड्रिप इरीगेशन स्कीम के लिए विभाग द्वारा 80 प्रतिशत तक सबसिडी प्रदान की जा रही है, जबकि 20 प्रतिशत तक किसान को वहन करना होगा। इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसान काफी रुचि दिखा रहे हैं। इसके लिए किसान बागबानी विभाग के पास आवेदन कर सकता है। इसके लिए विभाग द्वारा ऑनलाईन व ऑफलाइन आवेदन लिए जा रहे है।

क्या है ड्रिप इरीगेशन सिंचाई योजना
ड्रिप इरीगेशन एक सिंचाई विधि है। इस विधि से फसल को पानी बूंद-बूंद के रुप में सीधा जड़ो तक पहुंचता है। पौधे की जड़े धीरे-धीरे पानी को सोखती है। इस पद्धति का प्रयोग विश्व के कई देशों में किया जा रहा है। भारत देश में भी इस विधि को तेजी से प्रयोग में लाया जा रहा है। इस विधि में छोटी व्यास वाली प्लास्टिक की पाइप का इस्तेमाल किया जाता है।


Keep watching our YouTube Channel ‘Divya Himachal TV’. Also,  Download our Android App