अपनी माटी

हिमाचल के पहाड़ी इलाके इन दिनों सुनहरे लाल व गुलाबी रंग के बुरांस के फूलों से गुलजार हो उठे हैं। बुरांस के फूल चार से सात हजार फुट  की ऊंचाई के वनों में फरवरी से अप्रैल मई तक खिलते हैं। बुरांस एक ऐसा वन पुष्प है, जो अपनी लाल, गुलाबी सुंदरता से हर दार्शनिक को

हिमाचल में प्रधानमंत्री कृषि सम्मान योजना की पहली किस्त के लिए भरे जा रहे आवदेन ऐसे करें अप्लाई किसान सम्मान निधि योजना के लिए हर पटवारखाने को 100-100 फार्म मुहैया करवाए गए हैं। इसके अलावा फार्म दुकानों में भी उपलब्ध हैं। किसानों को फार्म भरकर अपने पटवारखाने में वेरिफाई करवाना है। उसके बाद पटवारी उसे

पिछले साल केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने लगाई थी बीज पर रोक,हरकत में आए सीपीआरआई ने शुरू की मिट्टी की ट्रीटमेंट किसानों को  करना होगा इंतजार हिमाचली आलू के बीज में आए वायरस को खत्म करने में 6 साल का वक्त लगेगा। तब तक किसानों को हिमाचली आलू के बीज का इंतजार करना पड़ेगा। पिछले साल

नौणी यूनिवर्सिटी ने तैयार किया गिरिगंगा नाम से सबसे जानदार बीज, पहले हिमतगिरि ने मचाई थी धमाल अदरक में अधिक पैदावार, तेल की ज्यादा मात्रा व कम सड़न रोग विशेषता वाली किस्म जल्द ही देश के किसानों को मिलने वाली है। डा. यशवंत सिंह परमार औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय नौणी, सोलन ने पांच साल की

आड़ू प्लम के पौधों की ट्रांसप्लांट का सही वक्त प्रूनिंग नहीं की तो उसे भी कर लें   हिमाचल में हुई धांसू बर्फबारी ने भले ही लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हों,लेकिन बागीचों के लिए यह अमृत जैसी है। कम से कम इस बार चिलिंग आवर्ज कोई मसला नहीं रहने वाले हैं। यह कहना है नौणी यूनिवर्सिटी

कैंसर के लिए रामबाग हैं जापानी मशरूम शटाके कृषि विभाग के मुताबिक अभी तक प्रदेश में शटाके मशरूम नहीं उगाया जाता है और इसकी सबसे अधिक संभावनाएं पालपपुर क्षेत्र में हैं… जापान, चीन व दक्षिण कोरिया के लोगों का पसंदीदा शटाके मशरूम प्रदेश में भी उगाया जाएगा। हिमाचल के इस शटाके मशरूम को विदेशी मार्केट

भले ही यह साल की पहली बर्फबारी है, लेकिन हिमाचल के ऊंचाई वाले इलाकों में सेब के लिए यह रामबाण साबित हुई है। बागबानी विशेषज्ञों की मानें, तो यह हिमपात आधे से ज्यादा चिलिंग आवर्ज पूरे कर चुका है। इससे इस बार सेब की बंपर फसल की उम्मीद है। ऐसे में करोड़ों के सेब कारोबार

हिमाचल की नर्सरियों में 2023 तक तैयार होंगे 52 लाख रूट स्टाक, बागबारनों को सबसिडी पर देगी तैयार न्यूजीलैंड और  नीदरलैंड की दर्ज पर नर्सरियों को संवारने की तैयारी हिमाचल के बागबानों को अब अपनी नर्सरियों से सेब की पौध मुहैया करवाई जाएगी। प्रदेश की नर्सरियों में 2023 तक 52 लाख सेब के रूट स्टॉक

हिमाचल में एक शुगर मिल तक नहीं बनवा पाई सरकारें, पंजाब में लुट रहे पांवटा साहिब,गगरेट और मीलवां के हजारों किसान भले ही हमारी सरकारें अपना एक साल पूरा होने पर भी जोरदार जश्न मनाती हों,लेकिन सच यह है कि प्रदेश में किसान की हालत बहुत खराब है। खासकर गन्ना उत्पादकों को पूछने वाला कोई