मजबूत राष्ट्रवाद से वंचित भारत

प्रो. एनके सिंह (लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) सेना ने उड़ी की कायराना हरकत के जवाब में सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देकर पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर में आतंकियों के ठिकानों को तबाह करके बदला ले लिया। उसके बाद जो…

पश्चिम से सीखने योग्य कुछ सबक

प्रो. एनके सिंह लेखक ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) आज हमारे लिए यह सही समय है कि हम पश्चिम से कम से कम दो सबक सीख लें। पहला अनुशासन में रहते हुए कार्य और सामाजिक संस्कृति में सुधार और दूसरा नियमों के पालन का। दफ्तरों…

कनाडा की संपन्नता और विपन्नता

प्रो. एनके सिंह लेखक ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) टोरंटो कनाडा का सबसे बड़ा शहर होने के साथ-साथ वहां होने वाली व्यावसायिक गतिविधियों का भी केंद्र है। इसके अलावा रहने के लिए यह शहर बहुत महंगा है। वहां का शहरी जीवन…

दिल्ली : जहां भारत का दिल धड़कता है

प्रो. एनके सिंह लेखक ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) दिल्ली को सबसे पहले तोमर राजपूत वंश ने बसाया और इनकी निशानियों के तौर पर आज कुतुब मीनार के पास स्थित खंडहर अवस्था में किला राय पिथौरा ही शेष बचा है। आज अधिकतर…

पहाड़ी सड़कों पर सफर की चिंताएं

प्रो. एनके सिंह लेखक ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) हिमाचल को सड़कों की हालत सुधारने के लिए गंभीर होना होगा, क्योंकि इसके बिना सड़क परिवहन को सुरक्षित बनाने का एजेंडा सफल हो ही नहीं सकता। कोरे सियासी वादों से कभी…

शिक्षक निर्मित खोखला शिक्षक दिवस

प्रो. एनके सिंह (लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) मैं अकसर अपने शिष्यों से यही बात करता था कि एक न एक दिन आप भी गुरु बनोगे और आपकी वह सफलता मुझे महागुरु बना देगी। जब कुछ विद्यार्थियों द्वारा आत्महत्या सरीखे कदम…

तेजी से लुढ़कती आम आदमी पार्टी

प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ‘आप’ की परेशानियों को बढ़ाने वाली ताजातरीन घटना में दिल्ली सरकार के एक मंत्री द्वारा एक महिला के यौन शोषण वाली एक सीडी सामने आई है। इसके पश्चात की करामात उससे भी…

जवाबदेह शहरी प्रबंधन के लिए थरूर की पहल

प्रो. एनके सिंह (लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) हम कार्य की ऐसी परंपरा विकसित करने में नाकाम ही रहे हैं, जिसमें भिन्न पृष्ठभमि व विचार के अवयवों के साथ काम किया जा सके। आम तौर पर परिषद और महापौर के बीच मतभेद होता…

प्रधानमंत्री मोदी का बलूचिस्तान बम

प्रो. एनके सिंह लेखक ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) आज जब कश्मीर पाक प्रायोजित आतंक का सामना कर रहा है तो एकमात्र समाधान यही बचता है कि मतभेद रखने वाले लोगों के साथ दृढ़ता के साथ रिझाने वाली बातचीत जारी रखनी होगी।…

आतंक पर नकेल कस सकते हैं लोक सेवक

प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्य सचिव डा. सुधीर बलोरिया ने लिपिबद्ध किया है कि 1990-93 में बिगड़ी स्थिति को किस तरह से काबू करके शांति बहाल की गई थी। इसी के परिणामस्वरूप…

गंभीर अपराधों के प्रति असहिष्णुता की दरकार

प्रो. एनके सिंह लेखक ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) मेरा मानना है कि हम लोगों ने बहुत सहिष्णु बन लिया। अब उन चीजों के प्रति सार्वजनिक तौर पर असहिष्णु बनने का समय है, जो साफ तौर पर निंदनीय हैं और सार्वजनिक…

हिमाचल में चौपट होती स्कूली शिक्षा

प्रो. एनके सिंह (लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) सरकारी विद्यालयों में 50 फीसदी से भी कम ऐसे विद्यार्थी हैं, जो गुना-भाग ठीक से कर पाते हैं। क्या हमारे प्रदेश के विद्यार्थी सचमुच इतने निकम्मे हैं या फिर शिक्षण…

विलासिता की गिरफ्त में राजनेता

प्रो. एनके सिंह (लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) यह आश्चर्यजनक है कि ब्रिटिश राज के दिखावे की विरासत आज भी जिंदा रखी गई है, जबकि आधुनिक दुनिया में राज्य संचालन के लिए इसकी आवश्यकता नहीं है। मेरा ऐसा मानना है कि इस…

सख्ती से खदेड़ने होंगे कश्मीर से आतंकी

प्रो. एनके सिंह (लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) बेरोजगारी से त्रस्त कश्मीरी उद्योग स्थापित करने की मांग करते रहते हैं, लेकिन हर दिन तो वे बंद घोषित कर देते हैं। उन हालात में कौन वहां उद्योग स्थापित करने का जोखिम…

मंत्रिमंडलीय फेरबदल में स्मृति को झटका

प्रो. एनके सिंह ( एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) मंत्रिमंडलीय फेरबदल में सबसे ज्यादा चर्चा स्मृति ईरानी को लेकर हुई, जो कि मोदी की नीतियों को लेकर उठने वाले सवालों पर साहस व सख्ती के साथ बचाव करती आई हैं। स्मृति से…