गर्त में हिमाचल का प्रबंधन

प्रो. एनके सिंह लेखक (  एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) कुप्रबंधन की स्थिति का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि शिक्षा जैसे महत्त्वपूर्ण क्षेत्र में भी 129 करोड़ रुपयों का उपयोग नही किया जा सका। यह एक हृदयविदारक…

अब भी उम्मीद की किरण हैं मोदी

प्रो. एनके सिंह ( लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) घरेलू विकास के क्षेत्र में सड़कों के नेटवर्क का जिस तरह से विस्तार हुआ है, उसे एक बड़ी उपलब्धि माना जाएगा। अधोसंरचना विकास के क्षेत्र में भारी निवेश ने मोदी…

जे एंड के की शक्तिशाली महिला शासक

(प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) मौजूदा परिप्रेक्ष्य में कश्मीर का रुढि़वादी तबका ही महबूबा सरकार का सबसे बड़ा दुश्मन है, क्योंकि इससे ताल्लुक रखने वाले लोग आज भी कश्मीर से निकाले गए कश्मीरियों के…

जंगल जल रहे हैं और नेता बासुंरी बजा रहे हैं

(प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) अमरीका के पास आग की घटनाओं पर नियंत्रण के लिए 100 विमानों और दस हजार अग्निशमन कर्मियों की व्यवस्था है। बेशक वह एक संपन्न राष्ट्र है, लेकिन उसने वनों के महत्त्व को भी…

नरेंद्र मोदी से मेरी निराशाएं

(प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) मोदी ने भ्रष्ट लोगों पर कड़ाई के साथ हथौड़ा चलाना चाहिए, लेकिन वह एजेंसियों को ढीला-ढाला रवैया अपनाने की अनुमति दे रहे हैं। रोबर्ट बढेरा का ही उदाहरण ले लीजिए। वह…

उत्तर प्रदेश की विभ्रम भरी राजनीति

(प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं) त्रिकोणीय स्पर्धा होने के कारण राज्य की राजनीतिक जटिलता काफी बढ़ गई है, जिसमें भाजपा अपनी ताकत का प्रदर्शन करेगी, वहीं बसपा के कांग्रेस को समर्थन देने की संभावनाओं…

नरेंद्र मोदी से मेरी निराशाएं

( प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) मोदी ने भ्रष्ट लोगों पर कड़ाई के साथ हथौड़ा चलाना चाहिए, लेकिन वह एजेंसियों को ढीला-ढाला रवैया अपनाने की अनुमति दे रहे हैं। रोबर्ट बढेरा का ही उदाहरण ले लीजिए। वह…

जे एंड के की शक्तिशाली महिला शासक

प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं मौजूदा परिप्रेक्ष्य में कश्मीर का रुढि़वादी तबका ही महबूबा सरकार का सबसे बड़ा दुश्मन है, क्योंकि इससे ताल्लुक रखने वाले लोग आज भी कश्मीर से निकाले गए कश्मीरियों के…

उत्तर प्रदेश की विभ्रम भरी राजनीति

( प्रो. एनके सिंह लेखक, एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के पूर्व चेयरमैन हैं ) त्रिकोणीय स्पर्धा होने के कारण राज्य की राजनीतिक जटिलता काफी बढ़ गई है, जिसमें भाजपा अपनी ताकत का प्रदर्शन करेगी, वहीं बसपा के कांग्रेस को समर्थन देने की संभावनाओं…

प्रो. एनके सिंह

एनके सिंह वरिष्ठ टिप्पणीकार हैं। यूएनडीपी के न्यूयार्क स्थित मुख्यालय में सलाहकार के रूप में सेवाएं दे चुके एनके सिंह की प्रबंधन विशेषज्ञ के तौर पर विशेष पहचान रही है। 1983 से 1985 तक अखिल भारतीय प्रबंधन संघ के मुख्य कार्यकारी का पद संभाला।…