मैगजीन

हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय में निम्न पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। पद – जूनियर स्केल स्टैनोग्राफर। शैक्षणिक योग्यता – स्नातक होने के साथ-साथ स्टैनो- टाइपिस्ट या जूनियर स्केल स्टैनोग्राफर के तौर पर तीन वर्ष का अनुभव होना जरूरी है। इसके अतिरिक्त उनके पास स्टैनोग्राफी में 90 शब्द प्रति मिनट

पूरे देश में फैले सांप्रदायिक दंगे 22 जुलाई को वायसराय ने अंतरिम सरकार के बारे में 16 जून के वक्तव्य के अनुरूप ही ताजा प्रस्ताव कांग्रेस और लीग के अध्यक्षों के सामने रखे। इनके अनुसार अंतरिम सरकार में 14 सदस्य होने थे, जिनमें 6 कांग्रेस मनोनीत करती (इनमें से एक अनुसूचित जाति का प्रतिनिधि होना

‘ हिमालयन आर्ट’ नामक पुस्तक किस ने लिखी है? (क) शांता कुमार          (ख) एमएस रंधावा (ग) जेसी फ्रेंच             (घ) कार्ल खंडेलवाल ‘ जलोड़ी दर्रा ’ हिमाचल प्रदेश के किस जिले से संबद्ध है? (क) कुल्लू से              (ख) सोलन से (ग) शिमला से           (घ) किन्नौर से ‘ सुकेती फॉसिल पार्क ’ हिमाचल में कहां पर स्थित

उन स्थितियों को भी हमेशा याद रखने की कोशिश करें, जब भावनाओं पर आपका नियंत्रण नहीं रहता। जिन स्थितियों में आपको ज्यादा गुस्सा आता है या जब आप अति उत्साहित होकर बहुत ऊंचे स्वर में बोलने लगते हैं, तब सचेत तरीके से भावनाओं पर काबू रखने की कोशिश करें… आपके निजी जीवन से आपका पेशेवर

क्रिमिनोलॉजी और फोरेंसिक साइंस पाठ्यक्रम करने के बाद रोजगार की क्या संभावनाएं हैं? — प्रेम कुमार शर्र्मा, मंडी फोरेंसिक साइंस की सभी शाखाओं में इसके विशेषज्ञों की हमेशा मांग रहती है। केंद्रीय व राज्य सरकारों द्वारा चलाई जा रही 24 फोरेंसिक लैब में विशेषज्ञों की भर्ती संघ लोक सेवा आयोग द्वारा की जाती है। फोरेंसिक

कसोल कुल्लू से 42 किलोमीटर की दूरी पर पार्वती नदी के किनारे स्थित है। यह मनोहारी रूप में एक खुले स्थान में स्थित है, जो कि पार्वती नदी के किनारे तक शुद्ध सफेद रेत के विस्तार तक ढलानदार रूप में नीचे तक जाता है। कसोल ट्राउट मछली पकड़ने के लिए भी प्रसिद्ध है… गोंदला यह

समिति के सदस्यों, सलाहकार एवं अध्यक्ष की कार्यशैली पौंग बांध विस्थापितों के हित में न होकर सिर्फ अपनी शान-ओ-शौकत के लिए पौंग बांध विस्थापित निधि की राशि का दुरुपयोग करने तक ही सीमित रही… बनावटी झीलेंपौंग झील समझौते के मसौदों को अमल में लाने के लिए भारत सरकार के दबाव से राजस्थान सरकार ने विस्थापित

ब्रह्मा ने चारों वेदों से प्रमुख विशेषताएं चुनकर पांचवें वेद नृत्यकला का विकास किया। ऋग्वेद से गीति काव्य, यजुर्वेद से भाव मुद्रा, सामवेद से संगीत तथा अथर्ववेद से भावनात्मक एवं सौंदर्यात्मक अंग लेकर नाट्य वेद की रचना की गई… हिमाचल में वीर रस से भरे लोकनृत्य लोकांचलों में एकता, समानता, जनमनोरंजन प्रदान करने में लोक

बूढ़ी दिवाली मैदानी भाग में मनाई जाने वाली दिवाली से भिन्न है। बूढ़ी दिवाली दीपावली के ठीक एक मास बाद मार्गशीर्ष की अमावस्या को मनाते हैं। इसमें खेले जाने वाले लोकनाट्य में खश-नाग युद्ध दिखाया जाता है… प्रागैतिहासिक हिमाचल वह भी वर्ष भर मूंज घास का कोई एक हजार गज लंबा व मोटा रस्सा बनाता