शिव संहिता

मृत्युकाले प्लुतं देहं त्रिवेण्याः सलिले यदा। विचिन्त्य यस्त्यजेत्प्राणान स तदामोक्षमाप्नुयात्॥ नातः परतरं गुह्य त्रिषु लोकेषु विद्यते। गोप्तव्यं तत्प्रयत्नेन न व्याख्येयं कदाचन॥ जो साधक मरणकाल में ऐसा ध्यान करता है कि मेरा शरीर…

योग द्वारा अज्ञान का नाश

प्रत्येक जीव जाने-अनजाने में मुक्ति की कामना करता है और इसी ओर उसकी गति भी होती है। भारतीय दर्शन में मोक्ष को परम पुरुषार्थ कहा गया है जबकि धर्म, अर्थ और काम पुरुषार्थ हैं।  व्यवहार में देखा गया है कि एक लक्ष्य प्राप्त करने के बाद फिर दूसरे…

निःस्वार्थी और उदार बनो

माता अपने बच्चे को किसी भी वेश में पहचान लेती है और लाख छद्मवेश में छिपने पर भी उसे जान ही जाती है। अतः प्रत्येक युग और प्रत्येक देश के महान आध्यात्मिक स्त्री-पुरुषों को पहचानो और देखो कि उनमें एक-दूसरे से बहुत भिन्नता नहीं है...…

आत्मा और परमात्मा का मिलन संयोग

यह संपूर्ण संसार परमात्मा की ही सावरण अभिव्यंजना है। जीव की पूर्णता या मुक्ति और कुछ नहीं भगवान के साथ चेतना, ज्ञान, इच्छा, प्रेम और आध्यात्मिक सुख में एकता प्राप्त करना तथा भगवती शक्ति के कार्य सम्पादन में अज्ञान, पाप आदि से मुक्त होकर…

कंठमाला की सूजन और जलन

लेरिन्जाइटिस को कंठमाला की सूजन भी कहा जाता है। यह समस्या होने पर गले में सूजन और जलन होने लगती है। इसके परिणामस्वरूप स्वर का बैठना और आवाज के नुकसान जैसे सामान्य लक्षण देखने को मिल जाते है। इस समस्या से बचने के लिए आपको  समाधान ढूंढना…

सावधान रहें ठंड से

सर्दी और फ्लू में आमतौर पर भेद करना मुश्किल है। लेकिन फ्लू जरा तेजी से आता है और सर्दी की तुलना में जिस्म को ज्यादा तोड़ देता है। इसी से इसके फर्क  को समझ जाता है... सर्दी आ गई है लेकिन इसका अहसास अब तक नहीं हुआ है। तापमान में कोई विशेष…

कम्प्यूटर पर बैठने का सही पॉस्चर

आप कम्प्यूटर पर सही स्थिति में बैठकर काम नहीं करते है तो आपकी पीठ, कमर, घुटनों और टांगों में दर्द हो सकता है। शरीर की सही स्थिति वह होती है जिसमें आप   आसानी से उठ, बैठ और झुक सकें... अगर आप सारा दिन कम्प्यूटर पर बैठकर काम करते हैं तो…

पान के पत्ते के स्वास्थ्य लाभ

पान को भारतीय संस्कृति में हर तरह से शुभ माना जाता है। धर्म, संस्कार, आध्यात्मिक एवं तांत्रिक क्रियाओं में भी पान का इस्तेमाल सदियों से किया जाता रहा है। इसके अलावा पान का रोगों को दूर भगाने में भी बेहतर तरीके से इस्तेमाल किया जाता है। खाना…

दादी मां के नुस्खे

* कड़वे तेल अर्थात सरसों के तेल में अजवायन और लहसुन जलाकर उस तेल की मालिश करने से हर प्रकार का बदन दर्द दूर हो जाता है। * तुलसी के पत्तों को अच्छी तरह से साफ कर उनमें पिसी काली मिर्च डालकर खाने के साथ देने से दमा नियंत्रण में रहता है।…

स्टीविया के औषधीय गुण

स्टीविया न केवल शुगर बल्कि ब्लड प्रेशर, हाईपरटेंशन, दांतों, वजन कम करने, गैस, पेट की जलन, दिल की बीमारी, चमड़ी रोग और चेहरे की झुर्रियों की बीमारी में भी कामगार है। मौजूदा समय में शुगर, मोटापा, कैलोरी  आदि रोग आम हो चुके है, रोगियों की…

आंखों की रोशनी बढ़ाने के उपाय

आंखें कुदरत की अनमोल देन हैं और इनसे ही हम इस खूबसूरत संसार को देखते हैं। ईश्वर द्वारा बनाए गए इस चराचर जगत को दखने का माध्यम केवल हमारी आंख ही तो है और इनको देखभाल की आवयकता भी होती है  लेकिन कुछ कारणों से रात में देखने की क्षमता कम हो…

आंवला नवमी

इसे अक्षय नवमी भी कहते हैं। यह व्रत कार्तिक शुक्लपक्ष की नवमी को किया जाता है। कहते हैं कि मात्र इस व्रत को करने से व्रत-पूजन तर्पण आदि का फल स्वतः प्राप्त हो जाता है। इस दिन गौ,वस्त्राभूषण और भूमि दान देने से ब्रह्महत्या जैसे पाप भी नष्ट…

ज्योतिष में शुभयोग

ज्योतिष-शास्त्र में ग्रह-नक्षत्रों के योग के आधार पर समय-विशेष को शुभ अथवा अशुभ माना जाता है। शुभ योग में संकल्पित कार्य को प्रारंभ करने से उसके पूर्ण होने की संभावना अधिक होती है जबकि अशुभ योग में कार्यप्रारंभ करने से उसमें अनेक तरह की…

भीष्म पंचक

यह व्रत कार्तिक शुक्ल एकादशी से आरंभ हो कर पूर्णिमा को समाप्त होता है। इसी लिए इसे भीष्म पंचम कहते हैं। घर के आंगन या नदी तट पर सुंदर सा मंडप तैयार करें। वह स्थान गोबर से लीप कर शुद्ध करें। यदि स्थान कच्चा नहीं है तो गंगा जल आदि से वह स्थान…

जबश्री हरि जागते हैं

पौराणिक ग्रंथों के अनुसार पहले भगवान के सोने -जागने का कोई नियम नहीं था। वे जब चाहते, लंबे समय के लिए योगनिद्रा में चले जाते और जब जागते, तो फिर महीनों जागते ही रहते थे। देवी लक्ष्मी इस अव्यवस्था से बेहद अप्रसन्न थीं और उन्होंने श्री हरि से…