टाउनशिप के लिए एफडीआई

राज्य सरकार की तरफ से नई टाउनशिप बनाने के लिए विदेशी पूंजी निवेश को मंजूरी दी जा चुकी है। केंद्र ने हालांकि वर्ष 2000 से ही इस बारे अपनी नीति स्पष्ट कर दी है, मगर मौजूदा वीरभद्र सरकार ने हाल ही में शहरी विकास माध्यम के जरिए इस बारे में अपनी…

1300 एटीएम हिमाचल प्रदेश में

*  स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की सबसे ज्यादा मशीनें *  सेंट्रल-विजया बैंक के सबसे कम एटीएम *  हर साल खुल रहीं डेढ़ सौ मशीनें * आरबीआई के पास कई केस पेंडिंग हिमाचल में मौजूदा समय में राष्ट्रीयकृत व सहकारी बैंकों की करीब 1300 एटीएम हैं।…

निजी बैंकों की मशीनें रामभरोसे

प्रदेश में एटीएम सुरक्षा को लेकर कुछ निजी बैंक प्रबंधन सहित स्टेट बैंक ऑफ इंडिया गंभीर है। अन्य अधिकांश बैंक प्रबंधन नियमों को दरकिनार कर सुरक्षा व्यवस्था पर औपचारिकताएं पूरी कर रहे हैं। हिमाचल प्रदेश में आईसीआईसीआई बैंक, स्टेट बैंक ऑफ…

चौकीदार के सहारे धन की रखवाली

एटीएम में सुरक्षा इंतजामों की हो रही अनदेखी लूटपाट की घटनाओं के बाद भी प्रबंधन मौन हिमाचल में बैंकों के एटीएम की सुरक्षा केयर टेकर संभाले हुए हैं। आए दिन की लूटपाट की घटनाओं के बावजूद सिस्टम पुराने ढर्रे पर चल रहा है। बैंक प्रबंधन…

हर बैंक के पास लॉकर

हिमाचल प्रदेश में संचालित अधिकांश राष्ट्रीयकृत व सहकारी बैंकों द्वारा अपने उपभोक्ताओं को लॉकर की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। प्राप्त जानकारी के तहत प्रदेश में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, यूको बैंक, आईसीआईसीआई, एचडीएफसी,…

रात को पहरेदारी व्यवस्था

अतीत में चोरी की वारदातों को रोकने के लिए प्रचलित पहरेदारी व्यवस्था भले ही धीरे-धीरे खत्म होती जा रही है, लेकिन आज भी प्रदेश के कई क्षेत्र ऐसे हैं, जहां पहरेदारी व्यवस्था कायम है। पहरेदार रात के समय जाग कर संपत्ति की रक्षा कर रहे हैं।…

खाकी का रोल निगरानी तक सीमित

सुरक्षा का सही जिम्मा बैंक प्रबंधन के ही पास हिमाचल में लुटती एटीएम की सुरक्षा करने में पुलिस असमर्थ है। खाकी की भूमिका केवल एटीएम की निगरानी तक ही सीमित है। चूंकि एटीएम की सुरक्षा का जिम्मा बैंक प्रबंधन के हाथ में ही रहता है।  बैंक…

सिर्फ खतरनाक जगह पर ही गार्ड

हिमाचल प्रदेश में मौजूदा समय में सीएसएसएस बोक्रन, सीएमसी, टीग्र जैसी प्राइवेट एजेंसियां बैंकों के एटीएम को केयर टेकर उपलब्ध करवा रही हैं। हिमाचल में अभी तक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ही एकमात्र ऐसा बैंक है, जिसने कुछ जिलों के एटीएम में सुरक्षा…

नई एटीएम मजबूत-सुरक्षित

हिमाचल में मौजूदा समय में अधिकांश शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में पुरानी एटीएम स्थापित हैं, लेकिन जानकारों की मानें तो नई एटीएम सुरक्षित हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक नई मशीनों में ग्राउंडिंग की सुविधा है। ग्राउंडिंग की सुविधा से जहां शातिर आसानी…

हिमाचल में लुटते एटीएम

 शांत हिमाचल में अब वह देखने को मिल रहा है, जिसे फिल्मों या कहानियों में सुना होता था। मर्डर, किडनैपिंग से लेकर बैंक लूटपाट व चोरी की घटनाओं ने हिमाचलवासियों को भी हिला कर रख दिया है। ताजा प्रकरण की बात करें तो हाल ही में कांगड़ा जिला के…

छात्रों की पढ़ाई पिछले पांव 35 हजार टीचर ड्यूटी पर

लोकसभा चुनावों में शिक्षकों की चुनावी ड्यूटी में व्यवस्था से स्कूलों में अध्ययनरत छात्रों की 10 दिनों की पढ़ाई बाधित हुई है। शिक्षाविदों के मुताबिक इन दस दिनों के दौरान एक विषय के वे 5 अध्याय पूरे नहीं हो पाए हैं जो आसानी से पूरे हो सकते…

विकास कार्यों पर ज्यादा असर नहीं

( नरेंद्र चौहान मुख्य निर्वाचन अधिकारी ) इतनी लंबी चुनाव प्रक्रिया और आचार संहिता कितनी जायज, क्या यह विकास को ठप्प करने की व्यवस्था नहीं लगती? चौहानः यह इत्तेफाक रहा है कि पहले विधानसभा चुनाव में और अब लोकसभा चुनाव में इतनी लंबी आचार…

60 हजार मुलाजिम चुनावी मोर्चे पर डटे

हिमाचल में विषम भौगोलिक परिस्थितियों के नतीजतन ज्यादा कर्मचारी ड्यूटी में झोंकने के लिए चुनाव आयोग को मजबूर होना पड़ता है। दूरदराज के क्षेत्रों में यह कवायद मतदान से चार रोज पहले ही शुरू कर दी जाती है। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी…

आचार संहिता की बेडि़यां

इतनी लंबी चुनाव आचार संहिता ने प्रदेश के विकास की रफ्तार पर ब्रेक लगा दी  है। पौने तीन माह से चुनाव आयोग की बेडि़यों ने हर विभाग को अपने पिंजरे में  कैद रखा है।  कहां-कहां पड़ा है असर, देखें इस बार का दखल... प्रदेश में विधानसभा चुनावों…

चुनिंदा सड़कों की मरम्मत

रोजमर्रा की जरूरतों पर निर्वाचन विभाग ने बरती नरमी प्रदेश में चुनाव आचार संहिता कुछ सड़कों की मरम्मत व मैटलिंग, टायरिंग की राह में रोड़ा नहीं बनी, पर कई आज भी अनुमति मांग रही है।  शिमला में नगर निगम ने 25 वार्डों की सड़कों की मरम्मत,…