वैचारिक लेख

हिमाचल प्रदेश में स्कूलों में इस बार बरसात की छुट्टियों में बदलाव किया गया है। अब यहां छुट्टियां 22 जून से 29 जुलाई तक देने का फैसला सरकार ने लिया है। छुट्टियों के समय में क्यों बदलाव किया गया है, यह सरकार जाने या फिर शिक्षा विभाग, लेकिन इस फैसले से पहले सरकार और शिक्षा

केरल, कर्नाटक, तेलंगाना, तमिलनाडु, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, मणिपुर और पश्चिम बंगाल में चिंता विकारों की समस्या अधिक है। पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा पीडि़त हैं। 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों में विकारों का खतरा अधिक है… विश्व स्वास्थ्य संगठन का एक नया विश्लेषण दर्शाता है कि दुनिया भर में क़रीब

यदि कोई इस प्रकार के नागरिकों के साथ दुर्व्यवहार कर उनका अपमान करता है, उनके साथ अश्लील व्यवहार करता है तो सरकार को उसके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए। ऐसा नहीं होना चाहिए कि यदि ये अपनी समस्या या पीड़ा लेकर पुलिस स्टेशन या किसी अन्य अधिकारी के पास जाते हों तो वह

वे सच्ची को सीनियर सिटिजन  तो थे, पर उनमें उनकी उम्र के सिवाय सीनियर सिटिजन वाली वैसे कोई भी ऐसी बात न थी जिसे देखकर लगता कि वे कहीं से भी सीनियर सिटिजन हों। वैसे आपकी सूचना के लिए बताते चलें कि उन्होंने अपनी नौकरी के टाइम और हराम का खाने के लिए अपनी उम्र

वैश्विक स्तर पर जिस तरह से प्लास्टिक के उत्पादन और उपयोग के बाद कूड़े का निर्माण किया जा रहा है, उस हिसाब से सिर्फ प्लास्टिक के रिसाइकल द्वारा इसके प्रदूषण और दुष्प्रभावों से बचा नहीं जा सकता है। जैविक प्लास्टिक के उत्पादन और उपयोग को बढ़ावा दिया जाना चाहिए… पर्यावरण को प्रदूषित करने वाले मुख्य

वर्तमान भौतिकवादी जीवन में सभी को योग एवं संगीत की आवश्यकता, महत्त्व तथा मूल्य का बोध हो रहा है। ईश्वर के द्वारा प्रदत्त इन दोनों जीवन अमूल्य निधियों का लाभ लेकर तन तथा मन को बाह्य एवं आंतरिक रूप से स्वस्थ एवं सुंदर बनाया जा सकता है। सभी निरोगी हों, सभी स्वस्थ रहें, यही भारतीय

ऊँट दूल्हा है और गधा पुरोहित। पथ अग्नि भरा है और अग्निवीर बने बाराती आँखों पर पट्टी बाँधे चल रहे हैं। लेकिन आप इन्हें अंधभक्त की संज्ञा न दें। हो सकता है, आपको यह पक्षपात लगे। पर आप इनकी भक्ति और निष्ठा पर क़तई सन्देह न करें। यह वही जमात है जो सदियों से सत्ता

एफडीआई बढ़ाने के लिए आत्मनिर्भर भारत अभियान और मेक इन इंडिया को सफल बनाना होगा। भारत जल्द ही बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा… यकीनन वैश्विक मंदी की चुनौतियों के बीच भारत में रिकॉर्ड विदेशी निवेश का सुकूनदेह परिदृश्य उभरकर दिखाई दे रहा है। हाल ही में वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक

विश्वभर के वैज्ञानिक हमारे आचार्यों द्वारा रचित ग्रंथों का अध्ययन करके शोध करते आए हैं। मौजूदा दौर में शारीरिक व मानसिक समस्याओं का कारण भौतिक सुख-सुविधाएं व आधुनिक जीवनशैली है। अतः सकारात्मक ऊर्जा का संचार तथा फिटनेस का माध्यम केवल योग है… सृष्टि की शुरुआत से ही सांस्कृतिक धरातल व कई सभ्यताओं की जन्मस्थली रहे