अनुच्छेद 370 का सच

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार इस अनुच्छेद को संघीय संविधान में शामिल करने के पीछे तर्क यही था कि जम्मू-कश्मीर में अभी विवाद चला हुआ है। मामला सुरक्षा परिषद में लंबित है। इसलिए अभी संघीय संविधान वहां लागू नहीं किया जाना…

लंदन में पाकिस्तानियों का प्रदर्शन

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार इंग्लैंड के नागरिकों ने भारतीय उच्चायोग पर अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के विरोध में प्रदर्शन किया और वहां तोड़-फोड़ की। ऐसा नहीं कि ब्रिटेन की सरकार को इस प्रदर्शन की सूचना नहीं थी। इसकी कई दिनों…

सप्त-सिंधु क्षेत्र में बदलाव की नींव

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार कश्मीरियों की बड़ी जातियां यह सारा खेल अनुच्छेद 370 की आड़ में खेलती थीं। लेकिन अब 370 की यह छतरी हट जाने के कारण गुज्जरों को भी उनके सभी संवैधानिक अधिकार प्राप्त हो जाएंगे। जम्मू-कश्मीर में…

चिदंबरम की गिरफ्तारी

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति दोनों ही भ्रष्टाचार के आरोपों में आरोपित हैं। चिदंबरम अपने बेटे को दाएं- बाएं से अपने पद का दुरुपयोग करते हुए लाभ पहुंचाते रहे और अब दोनों ही कानून के फंदे को लचर…

कांग्रेस ने दी पाक को संजीवनी

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार अभी तक पाकिस्तान, अनुच्छेद 370 की व्याख्या यह कह कर करता था कि भारत स्वयं भी जम्मू-कश्मीर को अपना स्थायी हिस्सा नहीं मानता, इसीलिए उसने अपने संविधान में इस राज्य की व्यवस्था के लिए यह विशेष…

अनुच्छेद 370 की समाप्ति

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार दरअसल यह अनुच्छेद पंडित नेहरू और उनके मित्र शेख मोहम्मद अब्दुल्ला के षड्यंत्र का परिणाम था। शेख अब्दुल्ला नेहरू को ब्लैकमेल कर रहे थे और भारतीय संविधान की आड़ में जम्मू-कश्मीर को अपनी जागीर की…

अयोध्या से कश्मीर तक

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार अब उच्चतम न्यायालय ने भी कह दिया है कि मध्यस्थता करवाए जाने का प्रयोग विफल हो गया है। इसलिए छह अगस्त से राम मंदिर मामले की सुनवाई अब रोज हुआ करेगी। खुदा का शुक्र है कि कपिल सिब्बल ने अब फिर…

शुरू हुई पत्र लेखन प्रतियोगिता

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार उनका कहना है कि देश की बहुसंख्या राम को पूज्य मानती है, इसलिए उसके नाम से युद्ध उद्घोष बन जाना, एक प्रकार से राम का अपमान करना ही माना जाएगा। वैसे अपने आप में यह तर्क बहुत खतरनाक…

राजनीति और चुनार

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार हो सकता है परिवार में यह फैसला हो ही गया हो कि गद्दी पर प्रियंका की ताजपोशी कर दी जाए, लेकिन यदि ताजपोशी होनी ही है, तो यह काम इस प्रकार किया जाए कि यह बहुत भव्य प्रकरण होना चाहिए।…

कर्नाटक का कड़वा सच

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार देश के इतिहास में शायद पहली बार ऐसा हुआ है कि विधानसभा के दस सदस्य उच्चतम न्यायालय में जाकर फरियाद लगा रहे हैं कि उनका त्यागपत्र स्वीकार किया जाए। उधर विधानसभा के अध्यक्ष हैं कि जब सदस्य…

राहुल के इस्तीफे के मायने

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार गांधी परिवार के अंदर का यह विवाद क्या है या फिर हो सकता है? वैसे तो इस झगड़े का धुंआ शुरू से ही उठ रहा था। विवाद शुरू से ही था कि विरासत कौन संभालेगा? राहुल गांधी या फिर प्रियंका…

पुराने भारत के मायने

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार वह पुराने वाले भारत के लिए छटपटा रहे हैं। इसमें कोई बुरी बात नहीं, लेकिन उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि वह कौन सा पुराना वाला भारत चाहते हैं? कांग्रेस राज वाला भारत या उससे भी पहले वाला…

इस्लामी निवेश पद्धति से लूट

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार पिछले कुछ साल से भारत में कुछ स्वार्थी तत्त्वों द्वारा यह प्रचार किया जा रहा है कि वे भारतीय जिनके पुरखे सैकड़ों साल पहले इस्लाम पंथ में शामिल हो गए थे, बैंकों में अपना पैसा जमा न करवाएं और न…

बंगाल में ममता की माया

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार सड़क पर कोई बंगाली जय श्री राम कहता हुआ मिल गया, तो ममता दीदी ने अपनी कार से उतर कर उन्हें सबक सिखाने की धमकियां देनी शुरू कर दीं। इफ्तार पार्टियों का आयोजन कर वहां अवैध…

विदेशी आक्रमणों के निहितार्थ

डा. कुलदीप चंद अग्निहोत्री वरिष्ठ स्तंभकार गुरु नानक देव जी सतयुग, त्रेता, द्वापर और कलियुगों की चर्चा करते हुए कहते हैं कि प्रत्येक युग में एक-एक वेद प्रमुख था, लेकिन कलियुग की तो गति निराली है। कलियुग में अथर्ववेद की प्रमुखता थी,…