himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

कारोबारियों ने मंडी बना दिया बस अड्डा

ददाहू, श्रीरेणुकाजी —  तंगहाल, खस्ताहाल, बाजार के बीचोंबीच बस अड्डा ददाहू में निजी वाहनों की हो रही लोडिंग-अनलोडिंग तथा बसों के काउंटर पर न लगाए जाने को लेकर अड्डा प्रभारी रेणुका पृथ्वी सिंह ने कड़ा संज्ञान लेते हुए थाना रेणुका पुलिस को शिकायत प्रेषित की है। अड्डा प्रभारी रेणुका अड्डा ने कहा है कि बसों के निर्धारित 15 मिनट पूर्व बसें काउंटर पर लगाए जाने के फैसले से ट्रैफिक दवाब अड्डे पर भले ही कम होगा, मगर यहां पर प्राइवेट गाडि़यां की अड्डे पर ही लोडिंग-अनलोडिंग हो रही हैं, जिसके चलते बसें यहां पर काउंटर पर नहीं लगाई जा रही हैं। वहीं ददाहू अड्डे पर वर्षों से हो रही आढ़तियों द्वारा खरीद-फरोख्त का सिलसिला भी बंद नहीं हो पा रहा है, जिसके चलते एचआरटीसी के बस अड्डे ऐसे लोगों द्वारा मंडी का रूप दिया जा रहा है। गौर हो कि ददाहू बस अड्डा का नवनिर्माण घोषणा तीन वर्ष पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने रेणुका में अंतरराष्ट्रीय मेला रेणुका के प्रवास के दौरान की थी, मगर सरकार के चार वर्ष पूरे होने के बाद भी ददाहू बस अड्डा का नवनिर्माण तो दूर अभी तक जगह भी फाइनल नहीं हो पाई है। वहीं बस अड्डे के कैंपस की पिछले 20 वर्षों से टायरिंग भी नहीं हो पाई है, जिसके चलते यहां गड्ढों व गंदगी से अड्डा कैंपस भरा रहता है। ददाहू बस अड्डा निर्माण अब रेणुका विधानसभा के आगामी चुनाव में भी महत्त्वपूर्ण मुद्दा रहने वाला है। बस अड्डा को लेकर पिछले तीन वर्षों में जगह चयन में जहां इसकी उपायुक्त को लेकर गठित कमेटी ने बायरी के पास जगह रिजेक्ट की है, वहीं अब नई जगह पर भी सहमति नहीं बन पा रही है। उधर, आरएम नाहन संजीव बिष्ट ने बताया कि ददाहू बस अड्डे पर तभी सभी समस्याएं दूर हो सकती हैं, जबकि यहां पर नया बस अड्डा बने। उन्होंने बताया कि उपायुक्त सिरमौर के माध्यम से जगह को चयन को लेकर उनके पास आदेश आए हैं, मगर स्थानीय लोगों की एक राय न बन पाने के कारण बस अड्डा ददाहू का कार्य लटका हुआ है।

You might also like
?>