Divya Himachal Logo Feb 24th, 2017

शिमला


डीसी आफिस के बाहर सीटू कार्यकर्ताओं का धरना

newsशिमला  —  शोंगटोंग परियोजना में कार्यरत कर्मचारियों के न्यायोचित मांगों के समर्थन में व श्रम कानूनों को लागू करने और  सभी 900 कर्मचारियों की बहाली की मांगों के समर्थन में और 22 फरवरी को एचपीसीएल कार्यालय पर सीटू नेता राकेश सिंघा व प्रदेश सचिव विजेंद्र मेहरा समेत अन्य कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के विरोध में सीटू के बैनर तले उपायुक्त कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन किया। इस दौरान सीटू नेताओं ने कहा कि यह गिरफ्तारी प्रदेश सरकार, एचपीसीएल व पटेल कंपनी की आपसी सांठगांठ व सोची समझी रणनीति के तहत मजदूरों के आंदोलन को कुचलने की साजिश के तहत की गई। सीटू राज्य कमेटी कोषाध्यक्ष, रमाकांत ने कहा कि शोंगटोंग का मजदूर श्रम कानूनों को लागू कराने की मांग को लेकर 340 दिनों से हड़ताल पर है। श्रम कानून को लागू करवाना प्रदेश सरकार का दायित्व है, वहां पर कार्यरत मजदूरों को न तो न्यूनतम वेतन दिया जाता है, न ईपीएफ. काटा जाता है और न ही कोई छुट्टी दी जाती है। उन्होंने कहा कि  ईपीएफ आयुक्त व लेबर कमिश्नर हिमाचल प्रदेश दोनों ने प्रदेश हाई कोर्ट को दिए हलफनामें में कहा है कि कंपनी में श्रम कानून लागू नहीं हो रहा है। उन्होंने कहा कि एचपीसीएल के समयानुसार जब मजदूर व माकपा नेता बातचीत करने गए, तो पांच घंटे तो उनको वहां पर बैठाकर रखा गया व उनसे कोई बातचीत नहीं की गई। मजबूर होकर मजदूरों को प्रदर्शन करना पड़ा। शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन कर रहे लोगों व माकपा नेता के साथ पुलिस ने अभद्र व्यवहार किया व जबरन गिरफ्तार किया। सीटू ने यह निर्णय लिया है कि शोंगटोंग के मजदूरों की लड़ाई को प्रदेश व्यापी बनाते हुए निर्णायक लड़ाई लड़ी जाएगी। प्रदर्शन में रमाकांत मिश्रा, बाबू राम, पूर्ण चंद शर्मा, जगदीश, पवन, सुरेंद्र बिट्टू, ओम प्रकाश, बबू, रीता, हेमलता, निलम, हिमी देवी, शनि कुमार, भूप सिंह भारद्वाज, रवि कुमार, दलिप, दिनेश व मनोहर आदि ने भाग लिया।

February 24th, 2017

 
 

भोले के दरबार आज लगेगी भक्तों की कतार

शिमला  —  राजधानी शिमला आज ओम नमः शिवाय के स्वर से गुजेंगी। राजधानी में यह महाशिवरात्रि का पर्व बडे़ ही धूम-धाम और श्रद्धा, आस्था के साथ मनाया जाएगा।   इसे लेकर तैयारियां  शहर के शिव मंदिरों में कर ली गई हैं। इस महाशिवरात्रि पर्व के लिए […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

खोखला ही रहा नगर निगम का बजट

शिमला —  भाजपा मीडिया प्रभारी कर्ण नंदा ने नगर निगम के बजट को निराशाजनक बताया और शिमला शहर का आज तक का सबसे खोखला बजट घोषित किया है। प्रदीप कश्यप ने कहा कि शिमला नगर निगम का बजट झूठ का पुलिंदा है। महापौर और नगर […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

एचपीयू के होस्टलों में न खाना, न पानी

शिमला  —  हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय में शीतकालीन अवकाश को समाप्त हुए चार दिन का समय बीत चुका है। शैक्षणिक सत्र की शुरुआत विभागों में कक्षाएं लगने के साथ ही हो गई है। बावजूद इसके छात्रों की छात्रावासों की समस्या जस की तस बनी हुई है। […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

गुरु दिवस पर थामा झाड़ू

शिमला  —  सन्त निरंकारी मिशन द्वारा गुरू पूजा दिवस के उपलक्ष्य में सन्त निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के तत्वावधान में वीरवार को प्रदेश के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर सफाई व वृक्षारोपण अभियान चलाया गया। यह आयोजन निरंकारी जगत बाबा हरदेव सिंह जी महाराज का 63वां जन्म […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

सूर्यांशी को सर्वश्रेष्ठ छात्रा का खिताब

रामपुर बुशहर —  रामपुर के साथ लगते चाटी गांव  में एसपीएस चाटी में वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह की धूम रही। वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह में स्कूल के एमडी शेष राम शर्मा बतौर मुख्यातिथि उपस्थित रहे। उनके साथ सुदेश पालसरा विशेष अतिथि के रूप में मौजूद […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

छह साल से नहीं मिला मुआवजा

रामपुर बुशहर —  दत्तात्रेय स्वामी पर्यावरण एवं किसान विकास समिति ने एसडीएम रामुपर, रामपुर परियोजना प्रबंधन, आईपीएच विभाग और बिजली बोर्ड के साथ बैठक आयोजित की। बैठक की अध्यक्षता एसडीएम रामपुर डा. निपुण जिंदल ने की। इस दौरान बैठक में पंचायत की विभिन्न मुद्दों पर […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

कम छात्रों वाले स्कूल न हों बंद

शिमला —  एसएफआई राज्य कमेटी प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय द्वारा दस से कम छात्रों वाले 250 स्कूलों को बंद करने का जो प्रस्ताव सरकार को भेजा है उसका कड़े शब्दों में विरोध किया है। एसएफआई राज्य कमेटी का आरोप है कि प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने सरकार […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

डंसा पंचायत के तीन गांव प्यासे

रामपुर बुशहर —  गर्मियों को फिलहाल वक्त है, लेकिन रामपुर खंड की डंसा पंचायत में पानी की किल्लत से ग्रामीण अभी से ही परेशान होने शुरू हो गए हैं। इन पंचायत के जगूणी, डंसा और नोगीधार गांव में पेयजल किल्लत से ग्रामीण खासे परेशान हैं। […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 

घोषणाओं तक सिमटा समेज का विकास

रामपुर बुशहर —  समेज व सरघा पंचायत में विकास घोषणाओं तक सिमट कर रह गया है। यह आरोप निरमंड खंड के पोशना वार्ड से जिला परिषद् सदस्य शशि कटोच ने लगाए।  श्री कटोच ने कहा कि पिछले वर्ष जून महीने में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह समेज […] विस्तृत....

February 24th, 2017

 
Page 1 of 212

पोल

क्या हिमाचल में बस अड्डों के नाम बदले जाने चाहिएं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates