तबाही… शहर में 110 मकान खतरे में

शिमला —राजधानी शिमला में मानसून की बौछारें कहर बनकर बरसी हैं। भारी बारिश के चलते हुए भू-स्खलन के कारण शहर में भारी तबाही हुई है। मूसलाधार बारिश के चलते जनजीवन पटरी से उतर गया है। शहर के लोग मानसून के कहर से सहमे हुए हैं। शिमला में बारिश के…

गिरि नदी में भरी सिल्ट

 ठियोग —भारी बारिश के कारण आईपीएच की स्कीमों में सिल्ट भरने से पंपिग नहीं हो रही है। जिस कारण ठियोग शहर में पानी की आपूर्ति सुचारू रूप से नहीं हो पा रही है। ठियोग के लिए गिरी नदी व चिखड़ खड्ड से पानी की सप्लाई दी जाती है, लेकिन दोनों…

मांदरी-बोहली लिंक रोड का लोकार्पण

 शिमला -शिमला ग्रामीण के सुन्नी में 19 वर्ष से कम आयु के बच्चों की खंड स्तरीय प्रतियोगिता  सोमवार को संपन्न हो गई। इस अवसर पर शिमला संसदीय क्षेत्र के सांसद वीरेंद्र कश्यप ने बतौर मुख्यातिथि शिरकत की। इस खेलकूद प्रतियोगिता में सुन्नी खंड के…

बिजली बोर्ड को एक ही दिन में 80 लाख की चपत

 शिमला —शिमला शहर में पेड़ गिरने से बिजली की लाइनों को बड़ा नुकसान हुआ है। इससे शहर में बिजली का ढांचा लगभग अस्त-व्यस्त हो गया और शहर के साथ-साथ उपरी शिमला के कई इलाकों में बिजली बाधित रही। बारिश के कारण बिजली बोर्ड को शिमला सर्किल में एक…

पानी कब मिलेगा, कोई पता नहीं

 शिमला —न जाने शिमला शहर में कितने दिनों तक पेयजल की आपूर्ति नहीं होगी। बरसात यूं ही कहर बरपाती रही तो पेयजल की आपूर्ति में कई दिन लग सकते हैं। वैसे दो-तीन दिन तक तो आपूर्ति में बाधा आनी तय ही है क्योंकि शिमला शहर में जिन पेयजल स्रोतों से…

बारिश ने गिराए 60 पेड़

 शिमला -राजधानी में भारी बारिश से कई पेड़ उखड़ गए। सोमवार को हुई शिमला शहर में 60 से अधिक पेड़ गिरे हैं। कई पेड़ गिरने की कगार पर है। वहीं कई जगह भवनों को भी पेड़ों से खतरा पैदा हो गया है। शिमला शहर में सोमवार को हुई भारी बारिश से हुए…

गर्मियों में बूंद-बूंद को तरसे लोग

शिमला  —शिमला में पानी ने कहर मचाया हुआ है। शहर में जहां गर्मियों के दिनों में जनता को पानी की एक-एक बूंद के लिए तरसना पड़ा था वहीं मानसून के दौरान बारिश ने जनजीवन अस्त-व्यस्त कर दिया है। भारी बारिश से शिमला में जनजीवन पटरी से उतर गया है।…

शैमरॉक डेजर्ल्ज में मनाया स्वतंत्रता दिवस

 शिमला —शैमरॉक डेजर्ल्ज प्ले स्कूल ने सोमवार को स्वतंत्रता दिवस समारोह का आयोजन किया। इसमें सभी बच्चों ने बढ़-चढ़कर भाग लिया। बच्चों ने इस दौरान भारत माता, झांसी की रानी, सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, सुखदेव के किरदारों में विभिन्न…

खबर छपते ही एक्शन

शिमला -शिमला के इंिदरा गांधी मेडिकल कालेज में आएसबीवाई कार्ड धारकों को दवाइयों के लिए इधर -उधर नहीं भटकना पड़ेगा। जल्द आईजीएमसी की सिविल सप्लाई की दुकानों में सभी बड़ी दवाइयां उपलब्ध करवाई जाएगी। दिव्य हिमाचल में छपी खबर के बाद प्रशासन हरकत…

ठियोग में छह सड़कें ठप

 ठियोग —सोमवार को ठियोग सहित आसपास के क्षेत्रों में हुई भारी बारिश ने तबाही मचा दी है। ठियोग के अधिकतर संपर्क सड़कों के अलावा कई मुख्य सड़कें यातायात के लिए बंद हो गई है। जबकि इसके अलावा जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। एनएच पांच…

धोताली रोड पर 25 पेड़ गिरे

 नेरवा —बीती रात से लगातार हो रही झमाझम ने लोगों की मुसीबतें बढ़ा दी हैं। भारी बारिश से लोक निर्माण विभाग को करोड़ों रुपए का नुकसान हुआ है। नेरवा क्षेत्र में जहां रात भर बत्ती गुल रही वहीं लोक निर्माण उपमंडल नेरवा व कुपवी के तहत भू-स्खलन व…

एक ही दिन में करोड़ों का नुकसान

शिमला में मलबे की चपेट में आए 50 वाहन, जगह-जगह मार्ग धंसे शिमला  —शिमला में मूसलाधार बारिश ने एक ही दिन में करोड़ों की चपत लगाई है। शहर में जगह-जगह भू-स्खलन, पेड़ों के गिरने और घरों में पानी घुसने से भारी नुकसान हुआ है, जिसका आंकलन करोड़ों…

रोहडू में ट्रैफिक का निकला दम

रोहडू —रोहडू की शिकडी खड्ड का जल स्तर बढ़ जाने से नए बस अड्डे का संपर्क टूट चुका है। इससे बसों की आवाजाही अब पुराने बसे अड्डे से ही सुचारू की गई। पिछले दो दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण निर्माणाधीन पुल के कार्य के चलते जो वैकल्पिक…

शिमला में 1901 के बाद ऐसी बारिश

 शिमला —हिल्सक्वीन शिमला में वर्ष 1901 के बाद रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है। राजधानी शिमला में 173.0 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है, जो पिछले 116 वर्षों के दौरान सबसे अधिक आंकी गई है। वर्ष 1901 में शिमला में 24 घंटों के दौरान 227.0 मिलीमीटर…

सुन्नी में बारिश कई मकानों को नुकसान

 सुन्नी —शिमला ग्रामीण के तहसील सुन्नी में सोमवार को हुई भारी बारिश के कारण सरकार एवं लोगों का भारी नुकसान हुआ है। प्राप्त जानकारी के अनुसार शिमला ग्रामीण की तहसील सुन्नी के अलावा उपतहसील जलोग में अनेकों मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं और भूमि…