कैग हमें बचा लो…

कैग की रिपोर्ट में लगभग हर विभाग की लापरवाही सामने आई है। विभिन्न महकमों को करोड़ों का नुकसान रिपोर्ट में दर्शाया गया है। बड़ी बात यह है कि अगर सरकारी खजाने को नुकसान न हो तो प्रदेश तरक्की के लंबे डग भर सकता है। हर साल ऐसे ही चपत लगती रही…

सदन में ‘सरकार’

प्रदेश की भाजपा नीत जयराम सरकार के पहले बजट सत्र में बेशक तीन महीने के कार्यकलाप पर विपक्ष ने कई मुद्दों को लेकर हमला बोला, लेकिन पिछली सरकार की करनी को सामने लाकर प्रदेश सरकार ने न केवल अपना बचाव बेहतर तरीके से किया,बल्कि विपक्ष को भी…

सुहाने सफर की ओर हिमाचल

हिमाचल में फोरलेन बनने से लोगों को जहां सर्पीली सड़कों से राहत मिलेगी, फासला कम होने से समय और पैसे की भी बचत होगी। हिमाचल में प्रस्तावित महत्त्वाकांक्षी फोरलेन परियोजना पर आधारित  इस बार का दखल... फोरलेन हिमाचल प्रदेश की लाइफलाइन को बदल…

उफ़ ! यह मौसम

हिमाचल में बारिश होते ही अचानक ठंड बढ़ जाती है और धूप चमकते ही गर्मी पसीने छुड़ाने लगती है। मौसम के इस बदलते मिजाज को देखकर हर कोई अचरज में है। सभी यह सोचने को मजबूर हैं कि आखिर यह क्या हो रहा है... इस बार के दखल में मौसम के तेवरों की…

उजड़ता पर्यटन सिसकते होटल

प्राकृतिक सौंदर्य से लबरेज हिमाचल सैरगाह के रूप में उभर कर सामने आया तो यहां सैलानियों की आमद भी बढ़ने लगी। खासकर कुल्लू-मनाली, कसौली, शिमला सैलानियों की पहली पसंद बन गए । इसके चलते प्रदेश के पर्यटन को भी पंख लगे । देखते ही देखते यहां आलीशन…

बजट के आईने में हिमाचल

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने अपने पहले ही बजट में भविष्य के इरादे जाहिर कर दिए हैं। आर्थिक विषमताओं के बीच समाज के हर तबके तक पहुंचने की कोशिश की गई है। हिमाचल को किस दिशा में ले जाएगा बजट, पढ़ें इस बार का दखल... * परवाह नहीं चाहे जमाना…

100 दिन की गति में मंत्री

1200 पैरामेडिकल स्टाफ कम 700 डाक्टरों की कमी 250 विशेषज्ञों का टोटा 170 आयुर्वेद डिस्पेंरियां बेहाल 26000 हर रोजओपीडी 700 डाक्टर, 250 विशेषज्ञ व 1200 पैरामेडिकल स्टाफ की कमी झेल रहे हिमाचल का मिजाज बिगड़ा हुआ है। रही-सही कसर…

100 दिन की गति में मंत्री

(इस बार था 1627 करोड़ का बजट)    (गांव से शहर को पलायन)   (लगातार खेती छोड़ रहे लोग)   (सरकार की प्राथमिकता पर भारी कमियां) प्रदेश की आबादी का बड़ा तबका गांवों में बसता है, लेकिन रोजगार की तलाश में युवा…

100 दिन की गति में मंत्री

हिमाचल सरकार 100 दिन का एजेंडा तय कर विकास की नई इबारत लिखने जा रही है। इसी टारगेट के तहत प्रदेश के अहम शिक्षा विभाग की तैयारी, शिक्षा नीति की खामियों एवं शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज की कार्य योजना को दखल के जरिए बता रही हैं , प्रतिमा…

100 दिन की गति में मंत्री

हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार कुछ हटकर करने का इरादा लेकर फील्ड में उतरी है। प्रदेश सरकार ने विकास को रफ्तार देने के लिए 100 दिन का एजेंडा निर्धारित किया है। टारगेट के तहत तीन अहम विभागों के मंत्री गोविंद ठाकुर के विजन पर रोशनी डाल रहे हैं..…

परंपराओं से हटकर सरकार

पहले शीतकालीन प्रवास पर कांगड़ा पहुंची हिमाचल सरकार ने इस बार परंपराओं से हटकर शुरुआत की । बेशक घोषणाओं का दौर ढर्रे पर ही रहा, लेकिन मुख्यमंत्री जयराम का जनता से सीधे संवाद नई और सराहनीय पहल है। सीएम जनता की मांगों को भी गंभीरता से ले…

चंबा कितना गरीब …

आजादी के बाद हर क्षेत्र में हिमाचल तरक्की के डग भरता रहा, लेकिन  रियासतकाल में देश भर में विकास का मॉडल पेश करने वाले चंबा को आजादी के बाद ऐसा ग्रहण लगा कि आज वह देश के कुल 115 पिछड़े जिलों की सूची में 114वें पायदान पर आ टिका। भरपूर…

रूठे बादल तड़पती धरा

हिमाचल प्रदेश सूखे की कगार पर है। राज्य में बारिश 49 फीसदी कम हुई है। प्रदेश के खेत-खलिहान जहां सूखे की चपेट में हैं, जिससे आने वाले समय में लोगों के हलक सूखने की नौबत आ सकती है। जल्दी ही मौसम ने करवट नहीं ली और बर्फबारी के साथ झमाझम बारिश…

तपोवन में सरकार

धौलाधार की तलहटी में स्थित धर्मशाला के तपोवन विधानसभा में विधायकों के शपथ ग्रहण समारोह को देखने के लिए तीन विधायकों के परिजन भी सदन में पहुंचे थे। इन तीनों विधायकों ने पहली बार विधानसभा सदस्य के तौर पर शपथ ग्रहण की। इसमें यह भी रोचक था कि…

चुनौतियों का पहाड़

पहाड़ी राज्य की नई सरकार के लिए चुनौतियां भी किसी पहाड़ से कम नहीं। प्रदेश के विभिन्न विभागों में खाली पद व आर्थिक तंगी सरकार का कड़ा इम्तिहान लेगी। नई सरकार की चुनौतियों व मंत्रियों का विजन प्रस्तुत करता इस बार का दखल... हिमाचल में नई…