कांगड़ा


केंद्रीय विवि के लिए देहरा एकजुट

देहरा गोपीपुर— देहरा विकास मंच की बैठक अध्यक्ष नरोत्तम नरेश वालिया  की अध्यक्षता में पीडब्ल्यूडी  रेस्ट हाउस देहरा में संपन्न हुई। मंच प्रवक्ता पवन शर्मा ने बताया कि बैठक में उपमंडल देहरा के सभी वरिष्ठ नेताओं को  नरोत्तम वालिया ने केंद्रीय विश्वविद्यालय के मुद्दे पर उन्होंने बताया कि यह मुद्दा किस प्रकार से राजनीति का शिकार होते हुए आज तक सुलझ नहीं पाया है। उन्होंने उपमंडल के सभी लोगों को इस मुद्दे पर एकजुट हो जाने की अपील की और अपनी आवाज सरकार के आगे रखकर केंद्रीय विश्वविद्यालय को पूर्णरूप से देहरा में स्थापित करवाने की मांग की उपस्थित लोगों ने एकसुर में इस प्रयास के लिए हरसंभव सहयोग देने का भरोसा दिलाया। जल्द ही उपमंडल देहरा से एक प्रतिनिधिमंडल शिमला में मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह से मिलकर देहरा उपमंडलवासियों के हित में केंिद्रय विश्वविद्यालय को पूर्णरूप से देहरा में स्थापित करने की मांग रखेगा। उन्होंने कहा कि जब देहरा में विश्विद्यालय के लिए पर्याप्त भूमि उपलब्ध है तो किसी प्रकार का रोड़ा अटकाना प्रदेश हित में नहीं होगा। देहरा की भूमि हर लिहाज से बेहतर है। केंद्र से आई हुई विभिन्न टीमों ने इस जमीन को विश्वविद्यालय के लिए बिलकुल उपुक्त स्थान बताया है। उन्होंने देहरा के खिलाफ  राजनीति करने वालों को भी चेतावनी दी है कि वह देहरा की जनता के सब्र का इम्तिहान न ले। अगर कोई हमारे हितों के खिलाफ  काम करेगा, उसे बख्शा नहीं जाएगा। बैठक में युवा नेता पंकज आजाद, वरिष्ठ नेता जगमेल सिंह, डाक्टर अजीत चुरिया, प्रोफेसर अमर सिंह, रमेश  चम्याल, राममूर्ति शर्मा, केवल वालिया, विधि चंद, सोनी, सुनील कश्यप, विधि चंद खरियल, कांट्रैक्टर सुभाष चंद एवं लेखराज के अलावा बहुत से कार्यकर्ता बैठक में मौजूद रहे।

October 24th, 2014

 
 

चार दिन से शमीरपुर प्यासा

गगल   — शमीरपुर खास के लोग पानी को पिछले तीन-चार दिन से तरस रहे हैं। गांव शमीरपुर खास की प्रधान रीता मनकोटिया व गांव के प्रवेश परिहार ने बताया कि विभाग के पास कई बार शिकायत की परंतु विभाग ने पानी ठीक करने की कोशिश नहीं की। प्रधान रीता मनकोटिया व प्रवेश परिहार ने बताया कि विभागीय अधिकारियों ने 15 दिन में पेयजल समस्या को हल करने को कहा था, परंतु न तो पानी आया न ही विभागीय अधिकारी मिले […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

सुरानी मैदान में बनाएं गौशाला

 ज्वालामुखी —  सुरानी पंचायत के पूर्व प्रधान एवं किसान नेता प्रताप सिंह राणा, पूर्व शिक्षाविद ओम प्रकाश ने स्थानीय विधायक संजय रतन से आग्रह किया है कि किसानों को आवारा पशुओं व जंगली जानवरों से बचाने के लिए माननीय हाई कोर्ट ने हर जगह गौसदन बनाने के लिए जो निर्देश दिए है, उस पर अमल करते हुए सुरानी के मैदान में गौसदन बनाया जाए यहां पर काफी विशाल मैदान पड़ा है, जिसका कोई सदुपयोग नहीं होता है। यहां पर कभी […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

दीपावली की बधाई भी हुई ‘महंगी’

धर्मशाला — फेस्टिवल सीजन में लोगों को मोबाइल फोन और मैसेज के जरिए एक-दूसरे का संदेश भेजना खूब महंगा पड़ रहा है। फेस्टिवल सीजन में मोटी कमाई करने के चक्कर में टेलीकाम कंपनियों ने उपभोक्ताओं को प्रदान की जाने वाली सभी स्कीमों को पूरी तरह से बंद कर दिया है, जिसके कारण पैसे देकर स्कीमें मोबाइल में चलाने वाले उपभोक्ताओं के भी पैसे काटने का कार्य कंपनियों द्वारा किया जा रहा है। उपभोक्ताओं को फोन और मैसेज करके बधाई संदेश […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

धनतेरस के बाद बाजारों में भीड़

धर्मशाला —  प्राचीन परंपरा के अनुसार दिवाली के त्योहार के लिए खरीददारी करने का शुभ दिन धनतेरस ही होता है। दिवाली के लिए की जाने वाली खरीददारी धनतेरस के दिन ही की जाती है और इस दिन घरों में नई वस्तु को ले जाना शुभ माना जाता है, लेकिन जिस प्रकार बाजारों में तकनीकी प्रोडक्ट आने से लोग पारंपरिक उत्पादों को  नजरअंदाज कर रहे हैं, उसी प्रकार सदियों से चले आ रहे रीति-रिवाजोें को भी लोग सिर्फ कहावत समझ कर […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

बाजार से खदेड़े पटाखा व्यापारी

नगरोटा बगवां —  गत 19 अक्तूबर से कांगड़ा व नगरोटा बगवां में लागू धारा 144 तथा प्रदेश सरकार की अधिसूचना को क्षेत्र में क्रियान्वित करने के लिए बुधवार को पूर्व चेतावनी के बाद क्षेत्र का पूरा प्रशासनिक अमला बाजार में उतर आया। स्थानीय कार्यकारी मजिस्ट्रेट नरेश शर्मा, परिषद अधिकारी चमन कपूर, पुलिस एसएचओ इंद्रजीत सिंह मंडयाल ने एक दिन पूर्व चेतावनी के बाद मुख्य बाजार में पटाखों की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध सुनिश्चित करते हुए व्यापारियों को खदेड़ा। पूर्व की […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

काम के बाद भी ठेकेदारों को भुगतान नहीं

 बैजनाथ — सिंचाई एवं जनस्वास्थ्य विभाग के सब-डिवीजन बैजनाथ के करीब तीन दर्जन ठेकेदारों की दिवाली फीकी ही रहेगी। इन ठेकेदारों का कसूर इतना है कि चरणामती, लोअर बैजनाथ एवं जुडुल कूहलों में इन ठेकेदारों ने निर्माण कार्य कर दिया है, कुछ ऐसे हैं जिनका कार्य अधर में लटका है, मगर विभाग पिछले आठ-दस माह से इन ठेकेदारों के करीब अढ़ाई करोड़ रुपए नहीं दे पा रहा है, जिन ठेकेदारों का कार्य बीच में लटका पड़ा है विभाग उन्हें कार्य […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

दोपहर बाद निगम कर्मी करेंगे आराम

धर्मशाला —  प्रदेश की सड़कों पर दोपहर बाद निगम की बसों के पहिए थमने से निगम की बसोें का बोझ भी निजी बसों को ही झेलना पडे़गा यानी प्रदेश में निगम कर्मियों को  दोपहर दो बजे बाद आराम मिल जाएगा और यात्रियों को उनके घर द्वार पर पहुंचाने का जिम्मा निजी हाथों में आ जाएगा। एचआरटीसी ने भले ही लोगों की सुविधाओं को देखते हुए दोपहर तक सरकारी बसों को अपने निर्धारित रूटों पर चलाए रखने का फैसला जरूर लिया […] विस्तृत....

October 24th, 2014

 

पोल

क्या आप हिमाचल की अदालतों की कार्यप्रणाली से संतुष्ट हैं?

View Results

Loading ... Loading ...