वाह ! निरोग रहने के लिए हर दिन योग

योग- अपने आपको जानने और जीने की कला। शारीरिक और मानसिक स्फूर्ति का टॉनिक। योग की दीवानी हुई दुनिया का भारत गुरु है। पर क्या गुरु कहलाने वाले इस देश की देवभूमि हिमाचल में आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में आम आदमी योग के लिए वक्त निकाल पा रहा…

युवाओं के पास योग को वक्त नहीं

योग- अपने आपको जानने और जीने की कला। शारीरिक और मानसिक स्फूर्ति का टॉनिक। योग की दीवानी हुई दुनिया का भारत गुरु है। पर क्या गुरु  कहलाने वाले इस देश की देवभूमि हिमाचल में आजकल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में आम आदमी योग के लिए वक्त निकाल पा रहा…

सोशल मीडिया से ज्यादा अखबार पर भरोसा

इंटरनेट के इस युग में हालांकि सबकुछ ऑनलाइन  है, लेकिन इस युग में भी युवाओं का अखबार पढ़ने का क्रेज कम नहीं हुआ है। कुछ युवा इंटरनेट के इस युग में अखबार खत्म होने की भी बात कर रहे हैं, लेकिन अधिकतर युवा का अखबार पर बड़ा असर नहीं बता रहे हैं।…

सोशल मीडिया नहीं, अखबार पर भरोसा

इंटरनेट के इस युग में हालांकि सबकुछ ऑनलाइन  है, लेकिन इस युग में भी युवाओं का अखबार पढ़ने का क्रेज कम नहीं हुआ है। कुछ युवा इंटरनेट के इस युग में अखबार खत्म होने की भी बात कर रहे हैं, लेकिन अधिकतर युवा का अखबार पर बड़ा असर नहीं बता रहे हैं।…

समय के बदलाव में बदला पत्रकारिता का अंदाज

भारतीय पत्रकारिता करीब दो सदी पुरानी है। समय में बदलाव के साथ ही पत्रकारिता का अंदाज भी बदला है और सोशल मीडिया भी सूचनाओं के आदान-प्रदान का एक सशक्त माध्यम बना है, लेकिन आज भी लोग प्रिंट मीडिया की पत्रकारिता को ही विश्वसनीय मानते हैं।…

अखबार में लोगों को मिलती है सटीक खबर

आधुनिकता के इस दौर में जहां लोग हाईटेक होते जा रहे हैं। वहीं, इंटरनेट के माध्यम से सोशल मीडिया पर एकदम से अधिकतर जानकारियां लोगों तक आसानी से पहुंच रही हैं। इसके चलते वर्तमान में अखबार पढ़ने वाले लोगों का ग्राफ कम हुआ है। ऐसे नहीं है कि…

प्रिंट मीडिया से है लोगों को सबसे बड़ी उम्मीद

भारतीय पत्रकारिता करीब दो सदी पुरानी है। समय में बदलाव के साथ ही पत्रकारिता का अंदाज भी बदला है और सोशल मीडिया भी सूचनाओं के आदान-प्रदान का एक सशक्त माध्यम बना है, लेकिन आज भी लोग प्रिंट मीडिया की पत्रकारिता को ही विश्वसनीय मानते हैं।…

अखबारें सबसे बेहतर, सोशल मीडिया पर भरोसा नहीं

भागदौड़ भरी जिंदगी में किताबें पीछे छूट गईं और मोबाइल सूचना और जानकारी का वो जरिया बन गया, जो आज की पीढ़ी की कसौटी पर खरा उतरा। हाल यह हो रहा है कि ऑप्शन ज्यादा होने से पाठक की नजरें और नजरिया दोनों ही बदल गए। न लेखक से मोह रहा और न ही रचना…

अखबारें सबसे बेहतर, सोशल मीडिया पर भरोसा नहीं

भागदौड़ भरी जिंदगी में किताबें पीछे छूट गईं और मोबाइल सूचना और जानकारी का वो जरिया बन गया, जो आज की पीढ़ी की कसौटी पर खरा उतरा। हाल यह हो रहा है कि ऑप्शन ज्यादा होने से पाठक की नजरें और नजरिया दोनों ही बदल गए। न लेखक से मोह रहा और न ही रचना…

मंडी को किताबों से प्यार…अखबारों से मोह

भागदौड़ भरी जिंदगी में किताबें पीछे छूट गईं और मोबाइल सूचना और जानकारी का वो जरिया बन गया, जो आज की पीढ़ी की कसौटी पर खरा उतरा। हाल यह हो रहा है कि ऑप्शन ज्यादा होने से पाठक की नजरें और नजरिया दोनों ही बदल गए। न लेखक से मोह रहा और न ही रचना…

राजधानी… ज्यादा आबादी; कम सुविधाएं, बढ़ी परेशानी

कहने को तो शिमला हिमाचल प्रदेश की राजधानी है, लेकिन यहां लोगों की परेशानियों भी कम नहीं हैं। शहर कंकरीट के जंगल में बदल गया है। यहां हुआ बेतरतीब निर्माण ने भी कई दिक्कतें खड़ी कर दी हैं। लोगों को कई-कई दिन पानी नहीं मिलता है। हर मोड़ पर…

सेरी-कजयारा में प्यास बेकाबू

 दाड़लाघाट —ग्राम पंचायत दानोंघाट के गांव सेरी व कजयारा में पिछले 20 दिन से पेयजल आपूर्ति ठप होने से पानी के लिए हाहाकार मची हुई है। लोगों में इस बात को लेकर रोष है कि पिछले बीस दिन से वे पेयजल संकट से जूझ रहे हैं और पानी की आपूर्ति…

पर्यावरण बचाना है, आप भी बनाएंगे पोस्टर!

‘सेव एन्वायरनमेंट, सेव लाइफ’ विषय पर प्रदेश के अग्रणी मीडिया गु्रप नौनिहालों में करवाएगा कंपीटीशन प्रदेश का अग्रणी मीडिया समूह ‘दिव्य हिमाचल’ पिछले कई सालों से पांवटा साहिब में स्कूली बच्चों को विभिन्न ज्वलंत विषयों पर जागरूक कर रहा है।…

शिमला में वीवीआईपी अड़चनें : मेहमान बुला लिए, तैयारी कोई नहीं

राजधानी शिमला में वीवीआईपी मूवमेंट के चलते जहां शहर के कुछ लोग खुश हैं। वहीं, अधिकांश इससे होने वाली परेशानियों से खफा भी हैं। लोग जहां तक एक तरफ यह मानते हैं कि वीवीआईपी के आने से शहर की बदहाल व्यवस्था में निखार आता है। वहीं, उनका यह भी…

शिमला में वीआईपी अड़चनें : नागरिक सुविधाएं बंद, दफ्तर ठप

राजधानी शिमला में वीवीआईपी मूवमेंट के चलते जहां शहर के कुछ लोग खुश हैं। वहीं, अधिकांश इससे होने वाली परेशानियों से खफा भी हैं। लोग जहां तक एक तरफ यह मानते हैं कि वीवीआईपी के आने से शहर की बदहाल व्यवस्था में निखार आता है। वहीं, उनका यह भी…