Divya Himachal Logo Jul 23rd, 2016

बिलासपुर


चीड़ की पत्तियों से बनाए गमले-टोकरियां-छाबडि़यां

newsबिलासपुर —  जंगलों में आग को फैलाने का काम करने वाले चीड़ पेड़ों के ‘विनाशक चिलारू’ अब जरूरतमंद महिलाओं का सहारा बन गए हैं। स्वयं सहायता समूहों से संबद्ध महिलाएं इस कारोबार से जुड़कर 20 रुपए की बचत से लाखों में पहुंच रही हैं। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वरोजगार आजीविका मिशन के तहत महिलाएं आत्मनिर्भर बन गई हैं। हिमाचल  में प्रतिवर्ष गर्मियों के मौसम में करोड़ों रुपए की वन संपदा आग की भेंट चढ़ जाती है। प्रदेश की अमूल्य निधि को नुकसान पहुंचाने वाली यह आग पर्यावरण पर भी विपरीत असर डालती है। आग मानव भूल से लगे या जानबूझ कर लगाई जाए, दोनों ही स्थितियों में आग को फैलाने का काम करता है  ‘विनाशक चिलारू’। चीड़ के पेड़ों से झड़े चिलारु के तिनके वनों के भीतरी भागों में बिखर जाते हैं, जंगल में जब भी कोई चिंगारी सुलगती है, तो इन चिलारूओं के माध्यम से चारों ओर फैलता आग का भयानक तांडव देखने को मिलता है, लेकिन यही चिलारू अब लोगों के लिए स्वरोजगार का उत्तम विकल्प बन गए हैं। बिलासपुर जिला के झंडूता ब्लॉक के गांव बल्हसीणा की महिलाओं ने चिलारू के इन्हीं तिनकों को अपनी कारीगरी से सुंदर आकृतियों का रूप देकर न केवल आजीविका का एक कलात्मक साधन बना लिया है, वहीं पर्यावरण सरंक्षण के लिए महत्त्वपूर्ण योगदान देकर एक मिसाल भी कायम कर दी है। अपने रोजमर्रा के कार्यों से निवत्त होकर महिलाएं चिलारू से छाबडि़यां, गमले, टोकरियां, फूलदान पर्स, छोटे डस्टबिन, फाइल-ट्रे, श्रृंगार बॉक्स और अन्य सजावटी सामान को निर्मित करती हैं। रंग-बिरेंगे धागों के सामंजस्य से सुसज्जित चिलारू से बने इस सामान की अत्यधिक मांग है।

सुबह जंगलों में पहुंच जाती हैं महिलाएं

रहने के लिए अच्छे मकान, दुधारु पशु और परिवार के सदस्यों के लिए रोजमर्रा की सुविधाएं व बच्चों के लिए पर्याप्त शिक्षा के अवसर जुटाती ये महिलाएं अल्ल सुबह जंगलों से चिलारू को समेटने जाती हैं।

दफ्तर-मकानों की सजावट बना चिलारू

समूह से जुड़ी सदस्यों तारा, कमला, लता, कांता चंदेल, इंद्री देवी, वीना व सुनीता आदि सदस्यों की कड़ी मेहनत और हुनर के सांझे परिणाम जब सामने आ रहे हैं, तो जंगलों को तबाह करने वाला चिलारू दफ्तरों और लोगों के घरों में सजावट का बेशकीमती सामान बन गया है।

July 23rd, 2016

 
 

दुश्मनों को खत्म कर कमांडो सुभाष चंद ने निभाई कसम

घुमारवीं —  1999 में कारगिल की पहाडि़यों में घुसपैठियों को मार गिराने के बाद उपमंडल घुमारवीं के करयालग गांव के कमांडो सुभाष चंद ने शहादत का जाम पिया था। कारगिल की पहाडि़यों में छेड़ी जंग में कमांडो सुभाष चंद ने अदम्य साहस का परिचय देकर […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

कोलडैम से छोड़ा पानी

बरमाणा —  सतलुज के जल स्तर में बढ़ोतरी से एनटीपीसी प्रबंधन ने बांध के दो गेट खोल दिए हैं। समस-समय सायरन बजा कर तटीय क्षेत्र में रहने वाले लोगों को सतर्क किया जा रहा है। सतलुज के जल स्तर में बढ़ोतरी होने से परियोजना के […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

पति-सास ने मांगा दहेज, मारपीट की

घुमारवीं —  पुलिस थाना भराड़ी में महिला ने दहेज के लिए प्रताडि़त करने का आरोप लगाया है। महिला ने थाना में अपने पति व सास के खिलाफ  केस दर्ज कराया है। जानकारी के अनुसार एक महिला ने शिकायत दर्ज करवाई है कि उसकी शादी को […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

मिड-डे मील वर्कर्ज बनें दिहाड़ीदार

बिलासपुर —  इंटक से संबद्ध मिड-डे मील वर्कर यूनियन ने सरकार से इस वर्ग के हित में जल्द से जल्द कोई ठोस निर्णय लेने की वकालत की है। यूनियन का कहना है कि दिनोंदिन बढ़ती महंगाई के इस दौर में मिड-डे मील वर्कर्ज को महज […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

डिजिटल राशनकार्ड नहीं, भूल जाओ राशन

घुमारवीं —  गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले अधिकांश लोगों ने अभी तक डिजिटल राशन कार्ड के फार्म ही नहीं भरे हैं। इससे प्रदेश के लाखों उपभोक्ता सहकारी डिपुओं से मिलने वाले सस्ते राशन से वंचित रह जाएंगे। बात यदि जिला बिलासपुर की करें, तो […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

छंजयार युवक मंडल ने रोपे 250 पौधे

घुमारवीं —  पर्यावरण संरक्षण के लिए छंजयार युवक मंडल आगे आया है। युवक मंडल के युवाओं ने छंजयार के जंगल में 250 औषधीय पौधे रोपे, जिनमें आंवला के 50, सागवान के 50, बेहड़ा के 75 व जामुन के 75 पौधे रोपित किए। पौधे रोपने के […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

कुनणू में 25 दिन से पानी नहीं

बरमाणा —  क्षेत्र के कुनणु गांव में पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। गांव में पिछले 25 दिन से पानी की सप्लाई बंद पड़ी हुई है। पानी के लिए लोगों को इधर-उधर भटकना पड़ रहा है। पानी लाने में ही लोगों का सारा समय […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

भराड़ी पुलिस को सौंपा बीमा ठगी का आरोपी

घुमारवीं —  बीमा पालिसी को घाटे से बचाने का झांसा देकर लाखों रुपए की ठगी करने के मामले का मुख्य आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गया है। ठगी गिरोह का सरगना कर्णदीप उर्फ सन्नी शिमला पुलिस की गिरफ्त में था। शिमला पुलिस ने उसे शुक्रवार […] विस्तृत....

July 23rd, 2016

 

पोल

क्या अनुराग ठाकुर को अब एचपीसीए से इस्तीफा दे देना चाहिए?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates