Divya Himachal Logo Apr 26th, 2017

बिलासपुर


बिलासपुर बस स्टैंड…अड्डा कहां, सिर्फ गली है

newsबिलासपुर –  दावों और वादों के बाद कई वर्षों के बाद भी बिलासपुर में बस स्टैंड का कायाकल्प नहीं हो पाया है। आलम यह है कि साल दर साल वाहनों की बढ़ती संख्या के हिसाब से शहर का बस अड्डा सिकुड़ता जा रहा है। हालांकि पिछले करीब एक दशक से एचआरटीसी वर्कशॉप के समीप बीओटी के आधार पर नए बस अड्डे को बनाने की कवायद जारी है। नए बस अड्डे के निर्माण के लिए 17 बीघा भूमि का चयन किया गया है। इसके लिए विभाग द्वारा कई बार टेंडर भी जारी किए जा चुके हैं। लेकिन हैरत की बात है कि नए बस अड्डे के निर्माण के लिए टेंडर जारी होने के बावजूद निवेशक इसमें खास दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। नए बस अड्डे का निर्माण प्राथमिकता के आधार पर करवाने के लिए अब विभाग द्वारा फिर से टेंडर प्रक्रिया शुरू की जा रही है। बिलासपुर शहर की बस अड्डा वाहनों की बढ़ती संख्या के मुताबिक बेहद छोटा पड़ गया है। यहां हर रोज लंबे व छोटे रूटों की करीब 300 बसें अपने गंतव्य की ओर रवाना होती है। छुट्टी के दिन इस आंकड़े में थोड़ी बहुत कमी आ जाती है। हालांकि लोकल रूट की बसों के लिए बस अड्डे की बैक साइट रखी गई है, जिसके तहत जिला भर के लिए यहां से हर रोज करीब सौ बसें चलती हैं। वहीं फ्रंट के हिस्से में लंबे रूट के लिए करीब तीन सौ बसें हर रोज यहां से रवाना होती हैं, लेकिन सबसे बड़ी समस्या यहां बसों की पार्किंग को लेकर होती है। विभागीय सूत्रों की मानें तो फं्रट साइड में यहां एक समय में सिर्फ चार से पांच बसें की खड़ी की जा सकती हैं। अगर इससे ज्यादा बसें खड़ी हो जाती हैं तो अन्य बसों के निकलने के लिए जगह ही नहीं बचती हैं। ऐसे में विभाग को बसों की समयसारिणी के हिसाब से बसों को पार्क करने की हिदायतें जारी की जाती हैं। वहीं, अड्डे की पिछली साइड लोकल रूट पर चलने वाली बसों के लिए रखी गई हैं। जिला भर के लिए लोकल रूट के लिए हर रोज सौ से ज्यादा बसें यहां से चलती हैं। यहां भी एक समय में महज 15 बसों को पार्क करने की सुविधा है। अगर किसी समय ज्यादा बसें आ जाती हैं तो निगम को यहां भी समयसारिणी के हिसाब से स्थिति को संभालना पड़ता है। हैरत की बात है कि बीओटी के आधार पर बनने वाले नए बस अड्डे के  निर्माण के लिए विभाग द्वारा टेंडर प्रक्रिया अपनाए जाने के बावजूद अभी तक कोई भी निवेशक इसके निर्माण को लेकर दिलचस्पी नहीं दिखा रहा है। हालांकि विभाग द्वारा इसके लिए प्रयास जारी है। विभाग के मुताबिक अगर एचआरटीसी वर्कशॉप के समीप नए बस अड्डे का निर्माण हो जाता है तो वहां हर समय करीब 50 बसों को पार्क करने की सुविधा मिलेगी, लेकिन नया बस अड्डा कब बनेगा यह सवाल अभी भी बना हुआ है।

जाएं तो जाएं कैसे

बिलासपुर बस स्टैंड का पता ही नहीं चलता है। न तो बस स्टैंड की एंट्री सही और न ही बाहर निकलने का रास्ता दुरुस्त है। इतना ही नही बस स्टैंड की हालत भी गलियों की ही तरह होकर रह गई है। बाहर से आने वालों को पता ही नहीं चलता है कि यह प्रदेश को अन्य राज्यों से जोड़ने वाला बस अड्डा है। दाखिल होना ही काफी चुनौती भरा है।

April 26th, 2017

 
 

हास्पिटल के लिए लगेगा अलग ट्रांसफार्मर

हास्पिटल के लिए लगेगा अलग ट्रांसफार्मरभराड़ी –  सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भराड़ी में मंगलवार को रोगी कल्याण समिति गवर्निंग बॉडी की बैठक का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता मुख्य संसदीय सचिव (वन) राजेश धर्माणी ने की। बैठक में समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भराड़ी के लिए वित्त वर्ष 2017-18 में रोगी कल्याण समिति […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

विधायक साहब! इन पशुओं का कुछ करो

बिलासपुर –  जिला किसान सभा ने मंगलवार को अपनी समस्याओं को लेकर विधायक बंबर ठाकुर को ज्ञापन सौंपा और मांग की कि इस मामले पर शीघ्र कार्रवाई की जाए। इन किसान नेताओं ने कहा कि पिछले लगभग 20 सालों से किसानों की फसल को आवारा […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

नहीं मिल रही 15 महीनों की पगार

घुमारवीं –  प्रदेश भर के करीब 6800 जल संरक्षक मात्र 1350 रुपए के वेतन पर अपनी सरकारी सेवाएं दे रहे हैं, लेकिन हैरानी की बात यह है कि उपरोक्त वेतन भी सरकार द्वारा पिछले 15 महीनों से इन गरीब परिवारों को नहीं दिया गया। ऐसे […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

आईटीआई में भूत!…छात्राएं फिर बेहोश

स्वारघाट –  स्वारघाट आईटीआई में दिनदहाड़े अजीबो-गरीब घटनाएं होने का मामला मंगलवार को भी जारी रहा। बता दें कि मंगलवार सुबह जब स्वारघाट आईटीआई में सभी बच्चे प्रार्थना सभा में थे तो कुछ छात्राओं ने एक बार फिर से चीखना-चिल्लाना शुरू कर दिया और बेसुध […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

ठेका खुलते ही ताले पर जड़ा ताला

स्वारघाट –  उपमंडल स्वारघाट की ग्राम पंचायत तन्बौल में महिलाओं और ग्रामीणों के विरोध के बावजूद जब्बल गांव में ठेकेदार द्वारा पुरानी जगह पर ही फिर से ठेका खोल दिया गया है। जैसे ही महिलाओं को जब्बल गांव में शराब का ठेका खुलने का पता […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

आ गया रिजल्ट… छा गए लाड़ले

14 घंटे की मेहनत लाई रंग घुमारवीं —  प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला के घोषित जमा दो के साइंस स्ट्रीम में मिनर्वा वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल घुमारवीं की अंजलि धीमान ने बोर्ड की मैरिट में प्रदेश भर में सातवां स्थान हासिल किया है। अंजलि धीमान ने […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

साइक्लॉजिस्ट बनेगी आकृति शर्मा

घुमारवीं —  प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड धर्मशाला के घोषित जमा दो के साइंस स्ट्रीम में मिनर्वा वरिष्ठ माध्यमिक स्कूल घुमारवीं की आकृति शर्मा ने बोर्ड की मैरिट में प्रदेश भर में नौवां स्थान हासिल कर नाम रोशन किया है। आकृति शर्मा ने 480 अंक हासिल […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

चकराणा उपस्वास्थ्य केंद्र को नया भवन

घुमारवीं — मुख्य संसदीय सचिव (वन) राजेश धर्माणी ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों के दौरान घुमारवीं विधानसभा क्षेत्र में 10 स्वास्थ्य व आयुर्वेदिक स्वास्थ्य केंद्र खोले अथवा स्तरोन्नत किए गए हैं। वह मंगलवार को ग्राम पंचायत गतवाड़ के चकराणा में 25 लाख रुपए […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 

पानी न छिड़का तो चक्का जाम

कंदरौर —  झंडूता व घुमारवीं विधानसभा के तहत आने वाली ग्राम पंचायतों में से गुजरने वाली भगेड़ धराड़सानी वाया औहर, कल्लर बैहनाजट्टां सड़क के किनारे बसे ग्रामीण इन दिनों वाहनों के आवागमन से उड़ रही धूल से खासे परेशान हैं। इससे लोगों को सांस की […] विस्तृत....

April 26th, 2017

 
Page 1 of 212

पोल

हिमाचल में यात्रा के लिए कौन सी बसें सुरक्षित हैं?

View Results

Loading ... Loading ...
 
Lingual Support by India Fascinates