himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

पद्मावत न बने मुसीबत

राजेश कुमार चौहान, सुजानपुर टीहरा अगर फिल्मों की पाबंदी के विरोध को कुछ लोग अभिव्यक्ति की आजादी का हनन मानते हैं, तो उन लोगों को यह भी पता होना चाहिए कि अगर उस फिल्म से किसी की भावनाओं को ठेस लगे तो उसका विरोध करना भी अभिव्यक्ति की आजादी के…

नई सरकार से आस

हैप्पी लंबड़दार, धौलपुर हिमाचल में इस बार भाजपा की सरकार बनी है। आम जनता को इस सरकार से बहुत उम्मीदें हैं, क्योंकि इस बार जयराम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप मे शपथ ग्रहण की। अब यह देखना दिलचस्प होगा कि जयराम ठाकुर इन…

मंडी के मुख्यमंत्री !

सुरेश कुमार, योल, कांगड़ा मुख्यमंत्री कहते हैं कि महीने में एक दिन वह मंत्रियों सहित मंडी में बैठकर लोगों की समस्या सुनेंगे, तो क्या मुख्यमंत्री सिर्फ मंडी के ही हैं? बाकी जिलों के बारे में क्या सोचा है, पता नहीं। माना कि जयराम मंडी के हैं…

तेल कीमतें ऊंची ही रहने दें

डा. भरत झुनझुनवाला लेखक, आर्थिक विश्लेषक एवं टिप्पणीकार हैं पेट्रोल पर ऊंचे कर बनाए रखने से ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोतों का विकास होगा। जैसे बिजली से चलने वाली कार की तुलना में पेट्रोल से चलने वाली कार सस्ती होती है। पेट्रोल सस्ता होगा तो लोग…

खेल मैदानों का संरक्षण

नागरिक समाज की अनदेखी का उदाहरण बना एक निर्माण कार्य यह साबित करता है कि किस तरह सरकारों की आंखों में धूल डाली जा सकती है। धर्मशाला में आईजी कार्यालय निर्माण ने पिछली सरकार के बाद जयराम सरकार की आंखों में भी धूल डालकर न केवल जनभावनाओं को…

फास्ट फूड का धीमा जहर

रोमिल कौंडल, केंद्रीय विश्वविद्यालय, धर्मशाला फास्ट फूड आधुनिक लाइफ स्टाइल का अहम हिस्सा बन चुका है। बच्चों से लेकर बड़ों तक में फास्ट फूड यानी बर्गर, पिज्जा, फ्रेंच फ्राइज, मोमोस, चाउमिन का काफी क्रेज है। छोटे से लेकर बड़ी पार्टियों में…

राष्ट्रपति भी मोदी के एजेंट !

आखिर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी चुनाव आयोग के फैसले पर मुहर लगा दी। राष्ट्रपति ने भी ‘लाभ के पद’ के मद्देनजर ‘आप’ के 20 विधायकों को ‘अयोग्य’ माना और इस तरह तुरंत प्रभाव से ‘आप’ के विधायकों की सदस्यता रद्द हो गई। अब दिल्ली विधानसभा में…

शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने की चुनौती

सुरेश शर्मा लेखक, राजकीय महाविद्यालय नगरोटा बगवां में सह-प्राध्यापक हैं वर्तमान शिक्षा व्यवस्था में विद्यार्थी, अभिभावक, शिक्षक और अधिकारी कोई भी संतुष्ट नहीं दिखता। बड़े-बड़े शिक्षा अभियानों में संसाधनों का दुरुपयोग हो रहा है। इन योजनाओं…

प्रदेश की घर द्वार शिक्षा

शगुन हंस, योल हिमाचल में मुख्यमंत्री नए बन गए, शिक्षा मंत्री नए बन गए, पर शिक्षा का ढर्रा वही पुराना। नगरोटा बगवां की बूहली मझेटली पाठशाला को पिता-पुत्र ही चला रहे हैं। उस पाठशाला में एक भी छात्र नहीं था, तो अध्यापक पिता ने अपने बच्चे को…

और यह भी…

वर्षा शर्मा, पालमपुर गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने पहले भी एक बार कहा था कि दाऊद इब्राहिम को कान से पकड़कर भारत लाएंगे। अब कह रहे हैं दुश्मन को घर में घुसकर मारेंगे। एक बार जब पाकिस्तान हमारे सैनिकों के सिर काट कर ले गया तो संसद में बयान देने…

न्यायालय की नैतिक सत्ता को आघात

कुलदीप नैयर लेखक, वरिष्ठ पत्रकार हैं जस्टिस खन्ना ने राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा था कि लोकतांत्रिक समाज के लोकतांत्रिक मूल्य कहते हैं कि सभी लोगों को जागरूक होना चाहिए और बलिदान के लिए तैयार रहना चाहिए। हालांकि भारत के लिए यह लक्ष्य अभी…

सरकार से रिश्ते न निभाओ…जनता को जगाओ

अपनी प्रखर लेखनी से सरकार की चूलें हिला देने वाला पत्रकार समाज को आईना दिखाकर सच से रू-ब-रू करवाता है। सरकार और आवाम के बीच की इस कड़ी को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ यूं ही नहीं कहते। यह वह सेतु है जो देश और समाज की तरक्की की दिशा और दशा तय करता…

अंत तक लड़ाई ही बड़ी उपलब्धि

अपनी प्रखर लेखनी से सरकार की चूलें हिला देने वाला पत्रकार समाज को आईना दिखाकर सच से रू-ब-रू करवाता है। सरकार और आवाम के बीच की इस कड़ी को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ यूं ही नहीं कहते। यह वह सेतु है जो देश और समाज की तरक्की की दिशा और दशा तय करता…

नए संकल्प का प्रशासन

सरकार का हर पद एक सपना हो सकता है और यही साबित करते हुए दो बड़े जिलों यानी कांगड़ा-मंडी के उपायुक्तों ने अपने संकल्प का इजहार किया है। मंडी के उपायुक्त ऋग्वेद ठाकुर जनता के साथ मिलकर जिला के लिए ड्रीम मंडी प्रोजेक्ट चलाएंगे, जबकि कांगड़ा के…

‘लाभ’ के मारे, 20 बेचारे

यह संविधान के अनुच्छेदों 102 (1) और 191 (1) का सरासर उल्लंघन है। यह जनप्रतिनिधित्व कानून की धाराओं के भी खिलाफ है। बेशक संसदीय सचिव बने विधायकों ने कोई भी वेतन, भत्ते, वाहन और सुविधाएं नहीं लीं, लेकिन सवाल है कि विधायकों को संसदीय सचिव…
?>