सावित्री बाई फुले

सावित्री बाई  भारत के पहले बालिका विद्यालय की पहली प्रिंसीपल और पहले किसान स्कूल की संस्थापक थीं। महात्मा ज्योतिबा सावित्री बाई के संरक्षक, गुरु और समर्थक थे। महात्मा ज्योतिबा को महिलाओं और दलित जातियों को शिक्षित करने के प्रयासों के लिए जाना जाता है। सावित्री बाई ने अपने जीवन को एक मिशन की तरह से जिया, जिसका उद्देश्य था विधवा विवाह करवाना, छुआछूत मिटाना, महिलाओं की मुक्ति और दलित महिलाओं को शिक्षित बनाना। वह एक कवियत्री भी थीं, उन्हें मराठी की आदि कवियत्री के रूप में भी जाना जाता है…

You might also like