himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

गाडि़यों को क्यों नहीं मिल रही पार्किंग

जिला मुख्यालय कुल्लू में पार्किंग की समस्या लगातार बढ़ती जा रही है, लेकिन मुख्यालय में बड़ी पार्किंग की कमी पेश आ रही है। हालांकि पार्किंग को लेकर जिला कुल्लू के लोग सरकार, प्रशासन और नेताओं से मांग करते आ रहे हैं। वहीं,  नगर परिषद कुल्लू से भी डेढ़ दशकों से ढालपुर एरिया में बड़ी पार्किंग की इंतजाम करने की गुहार लगाई जा रही है, लेकिन वादे पूरे नहीं हो पा रहे हैं। जिला मुख्यालय कुल्लू के ढालपुर में तीन पार्किंग हैं, लेकिन ये छोटी पड़ने लगी हैं। जिला मुख्यालय कुल्लू के लिए हर दिन हजारों की संख्या में वाहन आते हैं। दूर दराज से काम काज निपटाने के लिए आए वाहन चालकों को पार्किंग में जगह नहीं मिलने के कारण सड़कों पर ही वाहन खडे़ करने पड़ते हैं।  सड़क किनारे लगे वाहनों के पुलिस चालान काट देती है, जिससे लोगों को जिला मुख्यालय कुल्लू   आना काफी महंगा पड़ रहा है

पार्किंग न होने से लग रहा शहर में जाम

राहुल सोलांकी का कहना है कि जिला मुख्यालय कुल्लू में वाहनों को पार्क करने के लिए जगह नहीं मिल रही है। यह समस्या काफी गंभीर बनती जा रही है। प्रशासन को इसके लिए उचित कदम उठाने चाहिए। मुख्यालय कुल्लू में जाम की समस्या का मुख्य कारण बड़ी पार्किंग की व्यवस्था न होना है।

गाडि़यां खड़ी करने को नहीं मिलती है जगह

अली जोन का कहना है कि ढालपुर क्षेत्र में न्यायालय, उपायुक्त कार्यालय सहित सभी विभागों के कार्यालय हैं। यहां कामकाज निपटाने के लिए जिला के लोग आते हैं। पार्किंग में जगह नहीं मिलने के कारण लोगों को काफी देर तक भटकना पड़ता है। कामकाज निपटाने के लिए भी काफी दिन लग जाते हैं।

जाम लगने से कई बार एंबुलेंस को भी नहीं मिलता रास्ता

परी गुप्ता का कहना है कि गांधीनगर से लेकर ढालपुर चौक तक दिन में कई बार जाम लगा रहता है। यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कई बार एंबुलेंस फंस जाती है, जिससे मरीजों को भी दिक्कत आती है। ऐसे में मुख्यालय कुल्लू में एक बड़ी पार्किंग होनी चाहिए।

पार्किंग बनने से ही दूर होगी जाम की समस्या

मुनीष कुमार का कहना है कि नगर परिषद के वार्ड नंबर नौ में  बड़ी पार्किंग का इंतजाम हो, जिसमें 500 के करीब वाहनों को पार्क करने की क्षमता होगी तो ढालपुर में जाम की समस्या दूर हो सकती है।

You might also like
?>