himachal pradesh news, himachal pradesh top stories, himachal pradesh tourism

पाकिस्तान के साथ रूस-चीन

रिपोर्ट में दावा, यूएन में अमरीका ने बैन लगाने का कोई भी कदम उठाया तो करेंगे वीटो का इस्तेमाल

NEWSइस्लामाबाद— चीन और रूस ने पाकिस्तान को राजनयिक स्तर पर यह आश्वासन दिया है कि यदि आतंकवादियों की सुरक्षित पनाहगाहों को समाप्त करने में नाकाम रहने पर अमरीका पाकिस्तान के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र में आर्थिक प्रतिबंध लगाने का कोई भी कदम उठाता है तो वे अपने वीटो का इस्तेमाल करेंगे। एक पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट में बुधवार को यह बात कही गई। बता दें कि अगस्त में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवादियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया कराने के लिए इस्लामाबाद की आलोचना की थी। इसके बाद ही पाकिस्तान और अमरीका के बीच रिश्तों में खासी खटास आ गई थी। दि एक्सप्रेस ट्रिब्यून और उससे ही जुड़े प्रकाशन डेली एक्सप्रेस ने रिपोर्ट में कहा है कि अमरीका ने उन पाकिस्तानी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने के संकेत दिए हैं, जिनके आतंकवादियों के साथ कथिततौर पर संबंध हैं। पाक प्रधानमंत्री ने चेतावनी दी थी कि पाकिस्तानी अधिकारियों पर लक्षित प्रतिबंध से अमरीका के आतंकवाद विरोधी प्रयासों में कोई मदद नहीं मिलेगी। एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि पाकिस्तान वीटो की शक्तियां रखने वाली दो ताकतों चीन और रूस के साथ संपर्क में है, जिन्होंने पाकिस्तान पर अनावश्यक दबाव बनाने की अमरीकी नीति का विरोध किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि रूस और चीन ने इस्लामाबाद को सभी मंचों पर हर संभव सहायता देने का आश्वासन दिया है।

फ्रांस-ब्रिटेन से भी करेगा संपर्क 

रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान फ्रांस और ब्रिटेन जैसे अन्य पश्चिमी देशों से भी संपर्क करेगा। इस्लामाबाद स्थित राजनयिक सूत्रों ने डेली एक्सप्रेस से कहा कि विदेश नीतियों के जानकार, सुरक्षा अधिकारी और अन्य उच्चाधिकारी अमरीका के लिए नई विदेश नीति तैयार करने दिशा में विचार मंथन कर रहे हैं। अमरीका की नई रणनीति की घोषणा के बाद ट्रंप प्रशासन के सहयोगियों और पाकिस्तानी अधिकारियों के बीच कोई उच्च स्तरीय संपर्क नहीं है। बदलते परिदृश्य में पाकिस्तान ने अमरीकी राष्ट्रपति की आलोचनाओं के बीच समर्थन जुटाने के लिए अहम अंतरराष्ट्रीय तथा क्षेत्रीय देशों से संपर्क करना शुरू कर दिया है। विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने इस हफ्ते चीन, तुर्की और ईरान की यात्रा की है।

You might also like
?>