हमीरपुर को कब मिलेगा माल रोड

हमीरपुर  —  शहर में मालरोड की सुविधा लोगों को आज तक नहीं मिल पाई है। जिला की कई समाजसेवी संस्थाएं गांधी चौक से लेकर अस्पताल चौक तक मालरोड घोषित करने की मांग उठाती आई हैं, लेकिन आज तक उनकी मांगों पर अमल नहीं हो पाया है। लोगों को हर रोज गांधी चौक से लेकर अस्पताल चौक तक परेशानी झेलनी पड़ रही है। कई लोग वाहनों की टक्कर से घायल हो चुके हैं।

बच्चों और बुजुर्गों को ज्यादा परेशानी

अनिल कुमार का कहना है कि बाजार में बच्चों व सीनियर सिटीजन को घूमने-फिरने में सबसे ज्यादा परेशानी झेलनी पड़ती है। गांधी चौक से लेकर अस्पताल चौक तक बाजार में पूरा दिन लोगों की खासी भीड़ रहती है। वाहनों की आवाजाही से लोगों को खासा परेशान होना पड़ रहा है। इसलिए गांधी चौक को जल्द माल रोड घोषित किया जाए।

आज तक नहीं की कार्रवाई

सुनील वर्मा ने बताया कि जिला प्रशासन से कई बार मॉलरोड घोषित करने की गुहार लगाई गई है, लेकिन आज दिन तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हो पाई है। बाजार में वाहनों की आवाजाही से लोगों को रोजाना परेशान होना पड़ रहा है। गांधी चौक से लेकर अस्पताल चौक तक बाजार को मालरोड घोषित किया जाए।

जल्द मिले माल रोड का दर्जा

संजय हांडा का कहना है गांधी चौक से लेकर अस्पताल चौक तक शहर को मालरोड का दर्जा जल्द से जल्द दिया जाए। गांधी चौक में छोटे-बडे़ सभी वाहन प्रतिबंधित होने चाहिए, ताकि लोगों को बाजार में घूमने-फिरने में ज्यादा दिक्कत न झेलनी पड़े।

शाम आठ बजे के बाद ही चलें गाडि़यां

रजनीश शर्मा ने बताया कि शहर में सुबह आठ बजे से पहले व शाम आठ बजे के बाद ही वाहनों की आवाजाही होनी चाहिए। इसके अलावा पूरा दिन वाहन वर्जित होने चाहिए। सड़क पर दोपहिया वाहन चालक व छोटे वाहन तेज रफ्तारी व प्रेशर हार्न के चलते दौड़े रहते हैं। इसके चलते लोगों को घूमने-फिरने में दिक्कत होती है।

गाडि़यों के चलते राहगीरों को  दिक्कत

प्रदीप ठाकुर का कहना है कि गांधी चौक से लेकर अस्पताल चौक तक लोगों की सुबह से लेकर देर शाम तक लोगों का आना-जाना लगा रहता है। वाहनों की आवाजाही के चलते लोगों को घूमने-फिरने में ज्यादा दिक्कतें झेलनी पड़ती है। यही नहीं दोपहिया वाहन चालक तेज रफ्तारी से ऊपर-नीचे घूमते रहते हैं। इसके चलते लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ती है।

You might also like