चेवा में छा गए स्कूली खिलाड़ी…चैंपियन बने

By: Sep 24th, 2022 12:55 am

स्कूल में खंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता का समापन, स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सहजल ने की बतौर मुख्यातिथि शिरकत
दिव्य हिमाचल ब्यूरो-सोलन
राजकीय प्राथमिक पाठशाला चेवा में खंड स्तरीय खेलकूद प्रतियोगिता के समापन पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा आयुष मंत्री डा. राजीव सहजल ने कहा कि खेल प्रतियोगिता, सांस्कृतिक कार्यक्रम व स्टेज प्रदर्शन बच्चों के सर्वांगीण विकास के लिए आवश्यक है। उन्होंने कहा कि बच्चों के विकास में शैक्षणिक गतिविधियों के साथ-साथ खेलकूद गतिविधियों का बहुत महत्वपूर्ण योगदान होता है। खेल बच्चों को शारीरिक रूप से सुदृढ़ बनाते है वहीं मानसिक रूप से स्वस्थ भी बनाता है। उन्होंने क्रीड़ा संघ सोलन को तीन दिवसीय खेलकूद प्रतियोगिता के सफल आयोजन पर बधाई दी। लंबी कूद (छात्र) में हसान शमरोड जोन प्रथम, सुमित चंबाघाट जोन द्वितीय तथा आशीष सोलन जोन तृतीय, लंबी कूद (छात्रा) में चंद्रा सोलन जोन प्रथम, पूजा चंबाघाट जोन द्वितीय तथा भूमिका शमरोड़ जोन तृतीय रही। गोला फैंक (छात्र) में अनूप सोलन जोन प्रथम, पूरब सपरून जोन द्वितीय, आरुष सोलन जोन तृतीय तथा गोला फैंक (छात्रा) में पूजा चंबाघाट जोन प्रथम, मनीष सपरून जोन द्वितीय तथा मोनिका चंबाघाट जोन तृतीय रही।

सर्वश्रेष्ठ धावक विवेक चंबाघाट जोन तथा सर्वश्रेष्ठ धाविका चंद्रा सोलन जोन ने हासिल किया। खो-खो (छात्रा) सोलन जोन प्रथम, चंबाघाट द्वितीय, बैडमिंटन (छात्र) में सोलन जोन प्रथम और सपरून जोन द्वितीय, बैडमिंटन (छात्रा) में सपरून जोन प्रथम, चंबाघाट जोन द्वितीय, वॉलीबाल (छात्र) में शमरोड जोन प्रथम, चंबाघाट जोन द्वितीय स्थान हासिल किया। एकल गान में सपरून जोन प्रथम, सोलन जोन द्वितीय, समूह गान में चंबाघाट जोन प्रथम, सपरून जोन द्वितीय, लोक नृत्य में शमरोड जोन प्रथम, चंबाघाट जोन द्वितीय, एकांकी में सपरून जोन प्रथम, चंबाघाट जोन द्वितीय, मार्च पास्ट में शमरोड जोन प्रथम तथा सपरून द्वितीय स्थान हासिल किया है। इससे पूर्व डा. राजीव सहजल ने कसौली में 162.55 लाख रुपए की अनुमानित लागत से संपर्क मार्ग नगाली से चेवा का शिलान्यास किया। उन्होंने संपर्क मार्ग के लिए अतिरिक्त 3 लाख रुपए देने की घोषणा भी की। उन्होंने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला के प्रांगण के निर्माण के लिए 3 लाख रुपए की राशि देने की घोषणा की। डा. सहजल ने खेलकूद तथा सांस्कृतिक प्रतियोगिता में विजेता रहे प्रतिभागिओं को सम्मानित किया तथा बच्चों को भविष्य में बेहतर करने के लिए प्रोत्साहित भी किया।