कल संवारता कुल्लू

टॉप-टेन में हमेशा जगह बनाने वाला शिक्षा हब कुल्लू हर रोज नई बुलंदियां छू रहा है। 1336 स्कूलों में करीब डेढ़ लाख छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे कुल्लू ने इस अरसे में एक ऐसी क्रांति लाई कि शिक्षा के साथ-साथ खुले रोजगार के…

छोटी काशी बड़े मुकाम पर

क्वालिटी एजुकेशन के लिए हिमाचल में तीसरे पायदान पर कब्जा कर शिक्षा का हब बन उभरी छोटी काशी मंडी हर रोज नई बुलंदियां छू रही है। 2448 स्कूलों में 72619 छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे मंडी ने इस अरसे में एक ऐसी क्रांति लाई…

क्‍वालिटी एजुकेशन यानी सोलन

उत्तर भारत में शिक्षा का हब बन उभरा हिमाचल का प्रवेश द्वार सोलन हर रोज नई बुलंदियां छू रहा है। 1370 स्कूलों में 157195 छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे सोलन ने इस अरसे में एक ऐसी क्रांति लाई कि शिक्षा के साथ-साथ खुले रोजगार…

स्मार्ट सिटी की स्मार्ट स्टडी

1912 के बाद से स्मार्ट सिटी धर्मशाला शिक्षा के क्षेत्र में हर रोज नई बुलंदियां छू रही है। 202 स्कूलों में 29396 छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे धर्मशाला ने इस अरसे में एक ऐसी क्रांति लाई कि शिक्षा के साथ-साथ खुले रोजगार के…

मैरिट में घुमारवीं का दबदबा

परीक्षा परिणामों की मैरिट आए और उसमें एजुकेशन हब घुमारवीं के छात्रों का नाम न हो, यह मुमकिन ही नहीं। लाखों छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे इस शहर के स्कूलों ने ऐसी क्रांति लाई कि शिक्षा के साथ-साथ खुले रोजगार के दरवाजों से…

एजुकेशन हब पालमपुर

चाय नगरी के नाम से मशहूर पालमपुर शिक्षा के क्षेत्र में रोज नई बुलंदियां छू रहा है। लाखों छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे पालमपुर ने एक ऐसी क्रांति लाई कि शिक्षा के साथ-साथ खुले रोजगार के दरवाजों से प्रदेश ने तरक्की की राह…

शांत हिमाचल नाले पागल

चंद दिन में शांत हिमाचल को छह सौ करोड़ के जख्म देने वाली बरसात को जानलेवा बनाने के सबसे बड़े दोषी वे नाले हैं, जो साल भर पानी को तरसते हैं, लेकिन सावन आते ही ये गिरगिट की तरह रंग बदलने लगते हैं। भुंतर का कांगड़ी नाला हो या फिर शिमला का…

हमीरपुर हिमाचल का कोटा 

हमीरपुर...यानी शिक्षा का हब क्षेत्रफल के लिहाज से हिमाचल के सबसे छोटे इस जिला ने शिक्षा के क्षेत्र में नया मुकाम हासिल किया है। कुल 1103 स्कूलों में सवा लाख छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे हमीरपुर ने एक ऐसी क्रांति लाई कि…

नए मेडिकल कालेज बीमार

हिमाचल की सेहत संवारने वाले नए-नवेले चार मेडिकल कालेज खुद ग्लूकोज़ को तरस रहे हैं। आलम यह है कि तीन कालेजों को अभी तक छत मयस्सर नहीं। ऐसे में इन्फ्रास्ट्रक्चर का क्या हाल होगा, इसका अंदाजा आसानी से लगाया जा सकता है। न तो यहां पढ़ाने वाले…

कालेज शिक्षा कितनी उच्च

हिमाचल प्रदेश के डिग्री कालेजों में रूसा के तहत नया सत्र शुरू हो गया है। इस साल राज्य के कालेजों में दाखिले में पांच प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। पिछले वर्ष जहां 60 हजार छात्रों ने दाखिला लिया था, वहीं इस बार 70 से 75 हजार छात्रों ने…

हिमाचल के दरिया छलनी

हिमाचल में खनन माफिया दिन-रात खड्डों का सीना छलनी कर चांदी कूट रहा है। नतीजतन, जहां पर्यावरण को नुकसान पहुंच रहा है, वहीं जलस्रोत भी सूख रहे हैं। अवैध खनन से भयानक हो रही तस्वीर पेश करता, इस बार का दखल... सूत्रधारः शकील…

विध्वंसक निर्माण

कंकरीट के जंगल में तबदील हो रहे प्रदेश के शहर अपनी ही तबाही की इबारत लिख रहे हेैं। सोलन-शिमला हों या कुल्लू-मनाली या फिर धर्मशाला-मकलोडगंज, हर जगह बहुमंजिला भवन देखे जा सकते हैं... पर ये भवन कितने सुरक्षित हैं, यह शायद किसी को पता नहीं ।…

क्षमता से कितना बाहर पांवटा साहिब

हिमाचल प्रदेश के दक्षिण छोर में यमुना नदी के तट पर स्थित गुरु की सुंदर नगरी पांवटा साहिब की विश्वभर में अलग पहचान है, लेकिन आबादी के हिसाब से यहां विकास नहीं हो पाया। क्षमता से ज्यादा बोझ ढो रहे पांवटा साहिब की यही तस्वीर दखल के जरिए पेश…

परिवहन नीति के इंतजार में पिसता हिमाचल

साल में तीन हजार हादसों में 1200 लोगों की मौत के बाद हिमाचल में परिवहन पॉलिसी के कोई मायने नहीं । 2014 में इसकी परिकल्पना हुई थी, लेकिन दुर्घटनाओं पर लगाम नहीं लग पाई। हिमाचल की ट्रांसपोर्ट पॉलिसी और हादसों से निपटने को क्या प्लान बना रहा…

क्षमता से कितना बाहर नाहन

करीब 400 साल पहले अस्तित्व में आया ऐतिहासिक शहरों में शूमार नाहन विकास के लंबे डग तो भरता गया, लेकिन बढ़ती आबादी के हिसाब से लोगों को सुविधाएं मुहैया करवाने में पिछड़ गया। सच पूछो तो शहर में ओपन स्पेस तक नहीं है, घर एक-दूसरे से बिलकुल…