संवैधानिक ब्रेकडाउन कबूल नहीं

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला और स्पीकर केआर रमेश कुमार दोनों ही संवैधानिक हस्तियां हैं। उनके अधिकार और सीमाएं परिभाषित हैं। राज्यपाल ने स्पीकर को संदेश भेजा कि सदन में विश्वास मत पर फैसला आज ही (गुरुवार) होना चाहिए। स्पीकर ने सदन…

भारत, कुलभूषण की ‘जय हो’

नीदरलैंड्स के हेग शहर में स्थित अंतरराष्ट्रीय अदालत से ‘जिंदाबाद’ खबर आई है। जासूस करार देकर भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की जिस फौजी अदालत ने गुपचुप फांसी की सजा सुनाई थी, उस पर अंतिम निर्णय तक रोक जारी रहेगी।…

नियोजित शहर की आर्थिकी

नगर निकायों की हैसियत का खोखलापन हिमाचल की तस्वीर को ऐसी स्थिति में पहुंचा चुका है, जहां आमदनी के स्रोत प्रायः दिखाई नहीं दे रहे। यह दीगर है कि प्रदेश का शहरी उत्थान अब व्यावसायिक होने लगा है और यह सब निजी निवेश के कारण दिखाई दे रहा है।…

सोलन में अपराध की तह

सोलन जैसे प्रगतिशील शहर में गुनाह अब दबे पांव नहीं, सरेआम हिमाकत कर रहा है, तो पहाड़ की निशानियां चीख उठी हैं। आर्थिक अपराध की जद में यह हादसा मात्र दो नकाबपोश नहीं देखता, बल्कि शहर में शांति की लाचारी को महसूस करता है। एक कारोबारी पर…

मोदी और निष्क्रिय सांसद

राज्यसभा में आठ महत्त्वपूर्ण बिल लटके हैं। उनमें तीन तलाक वाला बिल भी है। यह स्थिति इसलिए है, क्योंकि अब भी भाजपा-एनडीए उच्च सदन में अल्पमत में हैं। जो क्षेत्रीय दल भाजपा को समर्थन देकर बहुमत का आंकड़ा तय कर सकते हैं, वे हर मुद्दे, हर बिल…

प्रदूषण के खिलाफ

पहाड़ की हवाओं ने अपनी खुशबू छीन ली, तो परिवेश ने गंध में रहते हुए अपनी ही लाली लील दी। प्रदूषण मानवीय भूल को प्रायश्चित करने का सबब दे रहा है और अगर अब सचेत न हुए, तो वक्त की चेतावनी और सख्त हो जाएगी। ऐसे में हिमाचल के सात शहरों ने प्रदूषण…

एनआईए के जरिए सवाल

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) संशोधन बिल लोकसभा में मतविभाजन के बाद पारित कर दिया गया। हालांकि इसकी जरूरत नहीं थी। ओवैसी ने मांग की, तो गृहमंत्री अमित शाह ने भी मतविभाजन का आग्रह किया। दरअसल वह यह साफ कर देना चाहते थे कि कौन आतंकवाद के पाले…

कुमारहट्टी में कातिल कौन

यह इमारत नहीं गिरी, दस्तूर और फितूर गिरा है। आकाश के छेद ने जमीन की दौलत भेद दी। कुमारहट्टी आज हमारे सामने श्मशान सरीखा एक खत बन गया, जहां पूरा परिवेश मुजरिम की तरह एक इमारत की ढहती विरासत के नीचे दबा कराह रहा है। हम इसे खबर की तरह समझें तो…

‘चंदामामा’ के घर जरूर जाएंगे

अंतरिक्ष में एक और ऐतिहासिक छलांग के लिए कुछ प्रतीक्षा करनी पड़ेगी। अब चंदामामा सिर्फ काल्पनिक कथाओं और फिल्मी गीतों तक ही सीमित नहीं रहेंगे, बल्कि हमारा मिशन चांद की सतह तक पहुंचेगा, वहां की दुनिया खंगालेगा, कई खुलासे भी करेगा और…

थोड़ा प्रशासनिक निवेश भी

किसी भी सत्ता का करिश्मा उसके द्वारा किया गया प्रशासनिक निवेश तय करता है और इस आधार पर हिमाचल में आयोजित जनमंच काफी कुछ कहते हैं। अब तक जनमंच के जरिए उठे सवालों-शिकायतों का मूल्यांकन करें, तो जवाबदेही और अनुपालन की कमी स्पष्ट होती है। ऐसे…

राम का नाम बदनाम न करो

आजकल ‘मॉब लिंचिंग’ का शोर बहुत सुना जा रहा है। दिल्ली, जयपुर से रांची, सूरत और अलीगढ़, मेरठ, उन्नाव तक अकसर खबरें आती रहती हैं कि एक भीड़ ने ‘जय श्रीराम’ के नाम पर मारपीट की है। किसी की हत्या भी हो गई है। जुलाई, 2018 में भारत के प्रधान…

केनफ से परिवेश में निवेश

आम हिमाचली अपने करियर की सुरक्षा में सरकारी नौकरी को अहमियत देता रहा है, लेकिन युवा पीढ़ी के संकल्पों को पढ़ा जाए तो व्यवस्थागत सरलीकरण से स्वरोजगार की नई राहें विकसित हो सकती हैं। जागृति के नए मुकाम पर स्वयं सहायता समूहों ने खुद को…

कांग्रेस-मुक्त भारत की ओर…

कांग्रेस में भागमभाग मची है। कांग्रेस के नेता पार्टी छोड़कर भाजपा में जा रहे हैं। कांग्रेस बिखर रही है, नेतृत्वहीन है, नियति क्या होगी? इससे पहले भी कांग्रेस के टुकड़े हुए हैं। 1969 में जो कांग्रेस (आई) बनी थी, कमोबेश वही पार्टी आज भी है,…

नए हिमाचल का निवेश

हिमाचली महत्त्वाकांक्षा में अग्रसर होते विकास तथा निवेश की राह को चुनते उल्लास के बीच पुनर्वास की नीति भी स्पष्ट करनी होगी। सरकार की मध्यस्थता में बेशक लोग सीधे निवेशक को जमीन सौंपने को तैयार हो रहे हैं, फिर भी आती बहार के किसी छोर पर…

अल्लाह के नाम पर जेहाद

कश्मीर में आतंकवाद अभी समाप्त नहीं हुआ है। बेशक आंकड़ों की बिसात बिछाई जाए, लेकिन अब एक नई हकीकत सामने आई है कि अलकायदा आतंकी संगठन कश्मीर में नाम बदल कर अल्लाह के नाम पर आतंकी जेहाद फैलाना चाहता है। अलकायदा के सरगना अयमान अल जवाहिरी…