आई रे आई, परेशान माइलह्व

अशोक गौतम साहित्यकार तो एक बड़ी खबर! उनका झूठ फिर जीत गया। सो कायदे से अबके फिर झूठ की जीत की खुशी में उन्होंने मां को प्रसन्न करने के लिए जागरण रखवाया। जीता हुआ झूठ खुशी में कुछ भी रखवा सकता है। किसी से भी रखवा सकता है। इधर जब से झक्कास-…

जन्म दिवस पर टैक्स कैसा?

-डा. राजन मल्होत्रा, पालमपुर इस बार करतारपुर साहिब में संपन्न हो रहे सिख धर्म के प्रथम गुरु श्री गुरु नानक देव के जन्म दिवस पर पाक ने वहां पर 20 डालर की फीस लगा दी है। यह बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण है। अगर भूखे मर रहे पाक को यह पैसा दे भी दिया…

बढ़ती जनसंख्या का सुनहरा अवसर 

भरत झुनझुनवाला आर्थिक विश्लेषक स्वतंत्रता के बाद मेडिकल साइंस में सुधार हुआ। अपने देश में बाल मृत्यु दर में भारी गिरावट आई। मलेरिया जैसी बीमारियों पर हमने नियंत्रण पाया। इस कारण बच्चों की संख्या तेजी से बढ़ी। उस समय परिवार में चार या छह…

कब खत्म होंगे रूढि़वादी अंधविश्वास

कंचन शर्मा लेखिका, शिमला से हैं हिमाचल के मंडी जिला के सरकाघाट क्षेत्र में देव आस्था व अंधविश्वास के नाम पर जो शर्मनाक व दिल दहला देने वाली घटना घटित हुई है वह यकीनन हमारी देव परंपराओं, आस्था व विश्वास को सोशल मीडिया में वायरल हो रहे…

पंडित जी का सत्याग्रह

अजय पाराशर लेखक, धर्मशाला से हैं पंडित जॉन अली को उस समय से ही सत्य के लिए आग्रह करने का चस्का लग गया था, जब उन्होंने राजनीति में सक्रिय भाग लेना आरंभ किया था। यह बात दीगर है कि उनका सत्य केवल अपने हितों तक ही सीमित रहता। जहां भी उन्हें…

मसला सियासी सहमति का

इन्वेस्टर मीट के बाहर कांग्रेस को कहने का अवसर मिला, तो विपक्षी आलोचना के तेवर पूरे प्रदेश की छानबीन में मशगूल रहे। मसला राजनीतिक सहमति को परखने का या एक-दूसरे के सत्ताकाल को अछूत मानकर चलने का नहीं होना चाहिए, बल्कि प्रदेश की हकीकत में…

अयोध्या पर सियासत

अयोध्या विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय के सर्वसम्मत फैसले को एक दिन भी नहीं बीता और पुरानी सियासत की तलवारें खिंच गईं। हालांकि आम आदमी के स्तर पर पत्ता भी नहीं खड़का। अयोध्या में मुसलमान मंदिरों में गए और महंतों ने उन्हें लड्डू खिलाए। दिल्ली…

विकास में जुड़ेगा नया इतिहास

-राजेंद्र पंडित, अंब देवभूमि हिमाचल प्रदेश की धौलाधार की पहाडि़यों के साये में बसे जिला कांगड़ा के धर्मशाला में आयोजित राइजनिंग हिमाचल इन्वेस्टर मीट जहां प्रदेश के आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनने का मार्ग प्रशस्त करने में सहायक सिद्ध…

गुरु नानक से सीख लें

राजेंद्र पालमपुरी मनाली हमारे सिक्ख धर्म के प्रथम गुरु, गुरु नानक देव जी का जन्म 15 अप्रैल 1469 को तलवंडी नामक स्थान पर हुआ था। पिता कालू राम मैहता और मां तृप्ता की संतान नानक देव का प्रकाशोत्सव कार्तिक पूर्णिमा को मनाया जाता है। बताता…

शिक्षा की लौ जलाता नाहन

बेहतर कल के लिए हाईटेक शिक्षा की पटरी पर दौड़ रहा सिरमौर जिला का नाहन शहर एजुकेशन हब बनकर उभरा है। लाखों छात्रों का भविष्य संवारने में अहम योगदान दे रहे नाहन के स्कूलों ने ऐसी क्रांति लाई कि शिक्षा के साथ-साथ खुले रोजगार के दरवाजों से…

आरसेप के लिए खुले रखें दरवाजे

डा. जयंतीलाल भंडारी विख्यात अर्थशास्त्री आरसेप एक व्यापार समझौता है। इस व्यापार समझौते के तहत सदस्य देशों को एक-दूसरे के साथ व्यापार में सहूलियतें देनी होती हैं। सदस्य देशों को आयात और निर्यात पर लगने वाला टैक्स नहीं भरना पड़ता है या…

देव संस्कृति के बीच माफिया

हिमाचली समाज की हैसियत और हालत का जिक्र करती सरकाघाट की घटना के सरकंडे हमारे वजूद के आसपास आकर खड़े हो जाते हैं। एक बुजुर्ग औरत के आंसुओं के सच में भीग कर हिमाचल लांछित है और अगर अब भी शर्म नहीं, तो यह डूब मरने की स्थिति है। समाज द्वारा…

मंदिर का नया देश-काल

डा. जय प्रकाश सिंह दिव्य हिमाचल से संबद्ध रहे हैं भारत क्यों एक विशिष्ट देश है और इसे क्यों सनातन माना जाता है, जैसे राष्ट्रीय प्रश्न का संबंध भी देश-काल बोध से ही जुड़ा हुआ है। श्री राम जन्म भूमि का प्रश्न आस्था के साथ ही देश-काल…

अयोध्या में राम मंदिर

प्रभु राम का टेंट वाला वनवास भी समाप्त...और अब वह अयोध्या लौटेंगे। भव्य मंदिर में सुशोभित होंगे। अब उनके जन्म पर भी कोई सवाल नहीं होगा। रामभक्त गरिमामय तरीके से पूजा-अर्चना करेंगे। अब अयोध्या में रामलला ही विराजमान होंगे और उनकी सदाशयता के…

तीसरी आंख सुधारेगी यातायात

डा. विनोद गुलियानी, बैजनाथ न ही पुलिस न ही समाजसेवी और न ही बेवजह गाडि़यों के हार्न की तीखी आवाज, परंतु फिर भी यातायात व्यवस्थित व सब कुछ शांत। लोग ट्रैफिक संकेतों का सम्मान करते हुए बिना हड़बड़ाहट के अपनी मंजिल की ओर बढ़ते चले जा रहे थे।…