समाचार

विश्व में जानलेवा कोरोना वायरस (कोविड-19) का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा और अभी तक इस वायरस के संक्रमण से 20 लाख 39 हजार ...

रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी की कथित व्हाट्सऐप चैट्स सामने आने के बाद अब उनकी मुसीबत बढ़ने वाली है

 ‘ओ’ ब्लड ग्रुप वाले भी जल्द नहीं होते संक्रमित दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली कोरोना वायरस से जंग के लिए भारत में वैक्सीनेशन की शुरुआत हो गई है। हालांकि अभी भी कोविड-19 को लेकर रिसर्च और सर्वे जारी है। वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) द्वारा हाल ही में किए गए एक सर्वे में

 विश्व के नेताओं से मांगी मदद एजेंसियां — कराची पाकिस्तान में दक्षिणी सिंध प्रांत को अलग सिंधुदेश बनाने की मांग तेज हो गई है। आधुनिक भारतीय सिंधी राष्ट्रवाद के संस्थापकों में से एक जीएम सैयद की 117वीं जयंती पर उनके समर्थकों ने एक विशाल आजादी समर्थक रैली निकाली। इस दौरान प्रदर्शनकारियों के हाथ में भारत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों की तुलना में स्वस्थ होने वालों की संख्या लगातार बढ़ते हुए एक करोड़ दो लाख से अधिक हो गई है। वहीं सक्रिय मामलों की दर घटकर 1.97 फीसदी रह गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में संक्रमण

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस की परेड को लेकर तैयारियां तेज कर दी गई हैं। 26 जनवरी को होने वाली परेड में इस बार राफेल का भी प्रदर्शन किया जाएगा। भारतीय वायुसेना परेड के दौरान मेक इन इंडिया थीम के तहत अहम लड़ाकू विमानों का प्रदर्शन करेगी। यह पहली बार होगा, जब राफेल का प्रदर्शन सार्वजनिक

एजेंसियां — लंदन कनाडा के दो सांसदों ने ब्रिटेन की सिखों की संस्था खालसा एड को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया है। सांसद टिम उप्पल और परबमीत सिंह ने कहा कि खालसा एड दुनियाभर में आपदा से प्रभावित इलाकों और गृहयुद्ध से जूझ रहे देशों में मानवीय सहायता मुहैया कराती है। खालसा एड

दिव्य हिमाचल ब्यूरो — नई दिल्ली सैफ अली खान और डिंपल कपाडि़या की मल्टी-स्टारर वेब सीरीज तांडव को लेकर बड़ा बवाल छिड़ा हुआ है। ओटीटी पर परोसे जा रहे आपत्तिजनक कंटेंट को लेकर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय अलर्ट हो गया है। वेब सीरीज को लेकर हो रहे विवाद पर सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में सोमवार

नई दिल्ली। दिल्ली उच्च न्यायालय में सोमवार को व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी पर सुनवाई हुई। इस दौरान जब याचिकाकार्ता ने कोर्ट से कहा कि यूरोप और अमरीका में व्हाट्सऐप की पॉलिसी को स्वीकार या अस्वीकार करने का विकल्प देता है, लेकिन यहां भारत में ऐसा कोई विकल्प नहीं दिया गया है। इस पर कोर्ट